Create
Notifications

"अगर मुझे विकल्प दिया जाए, तो मैं रहाणे को ड्रॉप करूंगा", पूर्व खिलाड़ी का बड़ा बयान 

अजिंक्य रहाणे को बाहर करने को लेकर प्रतिक्रियाओं का दौर जारी है
अजिंक्य रहाणे को बाहर करने को लेकर प्रतिक्रियाओं का दौर जारी है
reaction-emoji
Prashant Kumar

मुंबई टेस्ट (IND vs NZ) के लिए भारतीय प्लेइंग XI को लेकर काफी चर्चाएं हो रही हैं कि किसे बरकरार रखा जायेगा और किसी बाहर किया जायेगा। विराट कोहली की वापसी से चीजें काफी दिलचस्प हो चुकी हैं और कुछ खिलाड़ियों पर दूसरे टेस्ट से बाहर होने का खतरा भी मंडरा रहा है। हालांकि पूर्व भारतीय खिलाड़ी आकाश चोपड़ा ने स्पष्ट तौर कहा कि अगर उन्हें विकल्प दिया जाता तो वह मध्यक्रम के बल्लेबाज अजिंक्य रहाणे (Ajinkya Rahane) को ड्रॉप करते।

विराट कोहली के अलावा श्रेयस अय्यर के शानदार प्रदर्शन की वजह से रहाणे के साथ-साथ चेतेश्वर पुजारा पर भी दबाव है। हालांकि पुजारा को लेकर चोपड़ा का मानना है कि इस खिलाड़ी ने इंग्लैंड के दौरे पर कुछ उपयोगी पारियां खेली थी लेकिन रहाणे ने कुछ खास नहीं किया था और उन्हें ही विराट कोहली के लिए जगह बनानी चाहिए।

अपने यूट्यूब चैनल पर सवाल-जवाब के दौरान आकाश चोपड़ा ने कहा,

देखिए, मैं अभी पुजारा को नहीं ड्रॉप करूंगा। उन्होंने लीड्स और लॉर्ड्स में अपने प्रदर्शन से खुद को थोड़ी राहत दी है। दूसरी ओर रहाणे ढलान पर हैं। इसमें कोई शक नहीं है। आप सभी को नहीं खिला सकते। अगर मुझे विकल्प दिया गया तो मैं रहाणे को ड्रॉप करूंगा।

इंग्लैंड दौरे पर पुजारा ने हेडिंग्ले और ओवल में दो अर्धशतकीय पारियां खेली थी। हेडिंग्ले में वह 9 रन से शतक बनाने से चूक गए और उनकी पारी 91 रन पर समाप्त हो गयी थी।

स्पिन गेंदबाजी में क्वालिटी की कमी की भरपाई मात्रा कभी नहीं कर सकती - आकाश चोपड़ा

न्यूजीलैंड ने कानपुर टेस्ट में अपने एक तेज गेंदबाज को बाहर बिठाकर कुल तीन स्पिनर मैदान में उतारे थे लेकिन वे सभी असरदार साबित नहीं हुए। इसको लेकर आकाश चोपड़ा ने कहा कि आपके स्पिनरों में क्वालिटी की कमी है और इसकी भरपाई अधिक मात्रा में स्पिन गेंदबाजों को खिलाकर नहीं की जा सकती है। उन्होंने मुंबई टेस्ट में वैगनर का खेलना स्वाभाविक बताया, इसके अलावा मिचेल सैंटनर को भी एक अच्छा विकल्प बताया। चोपड़ा ने आगे कहा,

वैगनर को 100% खेलना चाहिए। पहले मैच में भी खेलना चाहिए था। स्पिन गेंदबाजी में क्वालिटी की कमी की भरपाई मात्रा कभी नहीं कर सकती। यहां तक कि एजाज़ के बजाय सैंटनर का खेलना भी ठीक है क्योंकि आपको एक ऐसे गेंदबाज की ज़रूरत होती है जो लगातार एक जगह गेंदबाजी कर सके।
इसलिए, सोमरविल को ड्रॉप कर वैगनर को लाया जायेगा। साउदी, जेमिसन और वैगनर, तीन तेज गेंदबाज भारत को काफी परेशान करेंगे।

Edited by Prashant Kumar
reaction-emoji

Comments

comments icon1 comment

Quick Links:

More from Sportskeeda
Fetching more content...