Create

मोहम्मद शमी ने अपने खास सेलिब्रेशन के पीछे भावुक वजह बताई 

मोहम्मद शमी ने अपने पिता को श्रद्धांजली दी
मोहम्मद शमी ने अपने पिता को श्रद्धांजली दी

सेंचुरियन (IND vs SA) में 5 विकेट लेने के बाद भारतीय तेज गेंदबाज मोहम्मद शमी (Mohammed Shami) ने खास तरह से जश्न मनाया। उन्होंने आसमान की तरफ इशारा करते हुए जश्न मनाया। इस पर अब भारतीय तेज गेंदबाज ने खुलासा किया कि यह उनके दिवंगत पिता तौसीफ अली को श्रद्धांजलि थी। शमी के पिता का 2017 में दिल का दौरा पड़ने से निधन हो गया था।

शमी ने दक्षिण अफ्रीका के खिलाफ पहले टेस्ट में 44 रन देकर 5 विकेट चटकाए। उनका यह शानदार स्पेल नियंत्रण और निरंतरता के लिए लम्बे समय तक याद किया जायेगा। टेस्ट क्रिकेट में उन्होंने अब तक छह बार पांच विकेट लिए हैं। स्पेल का अंतिम विकेट भारत के लिए शमी का 200वां टेस्ट शिकार भी था। इसी के साथ वह 200 विकेट लेने वाले 11वें भारतीय गेंदबाज बन गए।

bcci.tv पर भारत के गेंदबाजी कोच पारस म्हाम्ब्रे के साथ बातचीत में, शमी ने कहा कि उनका नया जश्न अपने पिता के प्रयासों को धन्यवाद देने का तरीका था। उन्होंने कहा,

वह खासतौर पर मेरे पिता के लिए था। उनका 2017 में निधन हो गया था। अपने करियर के लिए मैं सिर्फ उन्हें श्रेय दूंगा क्योंकि उन्होंने मेरे जन्म के बाद से मेरा समर्थन किया है। अब जब मैंने कुछ हासिल किया है, और ऊपर वाले ने मुझे इस काबिल बना दिया है तो श्रेय क्यों न उस व्यक्ति को दिया जाये जिन्होंने मेरे लिए प्रयास किया?

शमी ने 200 विकेट के क्लब का हिस्सा बनकर इसे अपने लिए गर्व की बात बताया। उन्होंने कहा की कि देश के लिए कुछ हासिल करने की खुशी हमेशा अलग होती है। 31 वर्षीय इस खिलाड़ी ने कहा,

यह गर्व की बात है। जब मैंने 100 विकेट हासिल किए तो ऐसा लगा कि मैंने कुछ हासिल कर लिया है। 200 के बाद अपने देश के लिए खेलने के बाद मिली उपलब्धियों की खुशी अलग है। 200 के बाद बहुत अच्छा लगता है और मुझे उम्मीद है कि मैं अच्छा प्रदर्शन कर सकता हूं और आने वाले मैचों में भी सही एरिया में गेंदबाजी करूँगा। यह हमेशा खुश रहने के बारे में है। टेस्ट क्रिकेट को एन्जॉय करने के बारे में है, जितना अधिक आप एन्जॉय करते है उतना ही बेहतर आपका प्रदर्शन रहता है। मैं हमेशा यही कोशिश करता हूं।

शमी भारत के लिए 200 विकेट लेने वाले पांचवें तेज गेंदबाज हैं। उनके पांच विकेट की बदौलत भारत ने दक्षिण अफ्रीका को सिर्फ 197 रन पर ऑलआउट कर दिया था।

शमी ने बताया कि कैसे उन्होंने पांच विकेट लेने के लिए खुद को प्रेरित किया

शमी ने खुलासा किया कि 2018 में भारत के दक्षिण अफ्रीका के आखिरी दौरे पर इसी स्थान पर उनका आखिरी स्पेल मंगलवार को गेंदबाजी करते समय उनके दिमाग में था। उन्होंने कहा कि वह उस समय पांच विकेट नहीं ले पाए थे क्योंकि पारी का अंतिम विकेट किसी और ने ले लिया था। दूसरे मौके ने उन्हें "थोड़ा और प्रयास" करने और इस उपलब्धि हासिल को करने के लिए प्रेरित किया। शमी ने कहा,

मैं केवल यह सोच रहा था कि मैंने इतना अच्छा प्रयास किया है, यह और भी अच्छा होगा अगर मुझे पांच विकेट मिल जाए। पिछली बार मैं चार विकेट ले चुका था और आखिरी विकेट किसी और ने ले लिया था। इस बार 2 -3 विकेट अभी भी बाकी थे और मैंने अच्छी लेंथ की गेंदबाजी जारी रखने की कोशिश की, यह सोचकर कि मैं एक तरफ पांच विकेट और दूसरी तरफ 200 विकेट हासिल कर सकता हूं, बस थोड़ा और प्रयास करने की जरूरत है।

Quick Links

Edited by Prashant Kumar
Be the first one to comment