Create

"बुमराह की चोट भारत के लिए बड़ा झटका" - T20 World Cup से पहले दिग्गज गेंदबाज के चोटिल होने को लेकर आई प्रतिक्रिया 

जसप्रीत बुमराह के टी20 वर्ल्ड कप से बाहर होने की संभावना है
जसप्रीत बुमराह के टी20 वर्ल्ड कप से बाहर होने की संभावना है

भारतीय टीम के प्रमुख तेज गेंदबाज जसप्रीत बुमराह (Jasprit Bumrah) एक बार फिर चोटिल हो गए हैं और दक्षिण अफ्रीका के खिलाफ जारी टी20 सीरीज (IND vs SA) से बाहर हो गए हैं। दिग्गज तेज गेंदबाज को बैक इंजरी हुई है, जिसकी वजह से वह पहले भी बाहर हुए थे। टी20 वर्ल्ड कप (T20 World Cup) से पहले बुमराह का चोटिल होना एक अच्छा संकेत नहीं है। पूर्व भारतीय खिलाड़ी सबा करीम (Saba Karim) ने भी दाएं हाथ के तेज गेंदबाज की चोट को भारत के लिए एक बड़ा झटका माना है।

बुमराह ने जुलाई में इंग्लैंड दौरे के बाद ब्रेक लिया था और उनकी एशिया कप में वापसी होनी थी। टूर्नामेंट के ठीक पहले उन्हें पीठ में समस्या हुई थी और वह पूरे एशिया कप से बाहर हो गए थे। उन्होंने ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ हाल ही में सपन्न हुई टी20 सीरीज के दूसरे मैच में वापसी की और अंतिम मैच भी खेला था। हालाँकि दक्षिण अफ्रीका के खिलाफ सीरीज की शुरुआत से पहले उन्हें पीठ में दर्द की शिकायत हुई और बाद में, वह सीरीज से भी बाहर हो गए।

रिपोर्ट्स में बुमराह की चोट गंभीर बताई जा रही है और कहा जा रहा है कि वह लगभग छह महीने के लिए बाहर हो सकते हैं। अगर ऐसा होता है तो फिर उनका आगामी वर्ल्ड कप में खेलना संभव नहीं है।

जसप्रीत बुमराह एक यूनिक गेंदबाज हैं - सबा करीम

सबा करीम ने बुमराह को यूनिक गेंदबाज बताते हुए सराहना की और कहा कि टी20 वर्ल्ड कप में उनकी गैरमौजूदगी भारत के लिए एक बड़ा झटका होगी। हालांकि, पूर्व खिलाड़ी ने कहा कि टीम प्रबंधन और रोहित शर्मा शमी और चाहर को स्टैंडबाय में रखकर ऐसी स्थिति की तैयारी कर रहे थे और यह भी अच्छा है कि भारत लाइनअप में बुमराह के बिना मैच खेल रहा है।

स्पोर्ट्स18 पर सबा ने कहा,

हां, वह इतने यूनिक गेंदबाज हैं। टी20 प्रारूप में आपको किसी ऐसे व्यक्ति की आवश्यकता होती है जो नई गेंद से गेंदबाजी कर विकेट ले सके और फिर डेथ ओवरों में अपना स्पेल खत्म करने के लिए वापस आ सके। वह बेहद प्रभावी हैं और साथ ही उनकी मैच जागरूकता, वह अब राष्ट्रीय टीम के लीडरशिप ग्रुप का हिस्सा हैं। तो हाँ, मुझे लगता है कि उनका न होना भारत के लिए एक बड़ा झटका होगा।
लेकिन आप जानते हैं कि भारतीय टीम प्रबंधन और भारतीय कप्तान इसके लिए तैयारियां कर रहे थे। इसलिए उन्होंने मोहम्मद शमी को लाने के बारे में सोचा और उनके पास दीपक चाहर भी हैं। इसलिए, मुझे लगता है कि यह एक तरह से अच्छा है कि भारत ने ये सभी द्विपक्षीय मुकाबले जसप्रीत बुमराह के बिना लाइन-अप में खेले।

Quick Links

Edited by Prashant Kumar
1 comment