भारतीय टीम के चार गेंदबाज बल्लेबाजी नहीं कर सकते हैं और ये चिंता का विषय है, पूर्व खिलाड़ी ने बताई बड़ी कमजोरी

Nitesh
मोहम्मद शमी बल्लेबाजी में ज्यादा योगदान नहीं दे पाते हैं
मोहम्मद शमी बल्लेबाजी में ज्यादा योगदान नहीं दे पाते हैं

भारतीय टीम (Indian Cricket Team) ने श्रीलंका के खिलाफ गुवाहाटी में खेला गया पहला वनडे मुकाबला भले ही जीत लिया हो लेकिन पूर्व क्रिकेटर वसीम जाफर ने टीम की एक बड़ी कमजोरी की तरफ इशारा किया है। उन्होंने कहा है कि टीम में चार गेंदबाज ऐसे हैं जो बल्लेबाजी नहीं कर पाते हैं और ये एक चिंता का विषय है। वसीम जाफर के मुताबिक टीम इंडिया को ज्यादा से ज्यादा ऑलराउंडर खिलाने की जरूरत है जो जरूरत पड़ने पर बल्लेबाजी भी कर सकें।

गुवाहाटी वनडे में भारत ने अक्षर पटेल, युजवेंद्र चहल, मोहम्मद शमी, मोहम्मद सिराज और उमरान मलिक जैसे गेंदबाजों को खिलाया। हालांकि शमी और सिराज आखिर के ओवरो में तेजी से बल्लेबाजी नहीं कर सके और इसी वजह से टीम इंडिया का स्कोर 400 के करीब नहीं पहुंच पाया। इन दोनों में से कोई भी खिलाड़ी एक चौका तक नहीं लगा पाया।

भारतीय टीम के गेंदबाजों का बैटिंग ना कर पाना चिंता का विषय है - वसीम जाफर

वसीम जाफर के मुताबिक टीम के लिए ये एक चिंता का विषय है। ईएसपीएन क्रिकइन्फो पर बातचीत के दौरान उन्होंने कहा, 'हमने देखा कि शमी आठवें नंबर पर आ रहे हैं और ये हमारे लिए चिंता का विषय है। भारत ने 370 रन जरूर बनाए लेकिन आखिरी तीन ओवरों में जब शमी और सिराज बैटिंग कर रहे थे तब केवल 17 रन ही बने। ये एक कमजोर कड़ी है, खासकर जब आप टार्गेट को चेज कर रहे हों और 8-10 रन प्रति ओवर जरूरत हो। अगर शमी आठवें नंबर पर आते हैं तो फिर टीम इंडिया कैसे रन चेज को हासिल कर पाएगी।'

वसीम जाफर ने आगे कहा 'भारत को ये सोचना होगा कि वो दो तेज गेंदबाजों और हार्दिक पांड्या के साथ जाते हैं या फिर वॉशिंगटन सुंदर और शार्दुल ठाकुर के रूप में ऑलराउंडर्स को खिला सकते हैं। सातवें नंबर के बाद कोई बल्लेबाज ही नहीं बचता है। इस कमजोरी को दूर करने की जरूरत है।'

Quick Links

Edited by Nitesh
App download animated image Get the free App now