Create

INDvSL: इंदौर में सीरीज़ पर कब्ज़ा जमाने के इरादे से उतरेगी टीम इंडिया, श्रीलंकाई चीतों के सामने आख़िरी मौक़ा

कटक में रोहित शर्मा की अगुवाई में टीम इंडिया ने टी20 सीरीज़ में कमाल का आग़ाज़ करते हुए भारतीय इतिहास की सबसे बड़ी टी20 जीत दर्ज की। श्रीलंका को 93 रनों से हराकर भारतीय शेर एक बार फिर श्रीलंकाई चीतों की चुनौती का जवाब देने के लिए इंदौर में अमादा हैं। विराट कोहली, शिखर धवन, अजिंक्य रहाणे और भुवनेश्वर कुमार की ग़ैरमौजूदगी वाली इस नई टीम इंडिया का भी तोड़ परिवर्तन काल से गुज़र रही श्रीलंका के पास नहीं दिख रहा। क्या इंदौर में धर्मशाला जैसा चमत्कार दिखा पाएगी श्रीलंका ? 3 मैचों की टी20 सीरीज़ का पहला मुक़ाबला कटक में हारने के बाद श्रीलंका के सामने अब इंदौर की लड़ाई करो या मरो की हो गई है। लेकिन क्या इंदौर में श्रीलंका धर्मशाला जैसा कोई चमत्कार दोहरा पाएगी, इस सवाल का जवाब तो कटक में मैच के बाद श्रीलंका के नए कप्तान थिसारा परेरा ने ही दे दिया था। परेरा ने निराशाजनक अंदाज़ में कहा था कि उनके पास जो 15 खिलाड़ी हैं उन्हीं में से टीम बनानी है और ये आसान नहीं। मतलब मैदान में उतरने से पहले ही श्रीलंका ने घुटने टेक दिए हैं, और जब इस टीम में टेस्ट और वनडे में शानदार प्रदर्शन करने वाले तेज़ गेंदबाज़ सुरंगा लकमल भी नहीं है तो फिर श्रीलंका के लिए सीरीज़ बचाना बेहद कठिन दिख रहा है। उपल थरंगा, एंजेलो मैथ्यूज़ और अकीला धनंजय को छोड़कर किसी भी खिलाड़ी ने सीरीज़ में अपनी छाप नहीं छोड़ी है। भारत के लिए एक और प्रयोगात्मक मुक़ाबला भारतीय क्रिकेट टीम दक्षिण अफ़्रीका रवाना होने से पहले अपने घर में हो रही इस सीरीज़ का ख़ूब मज़ा ले रही है और खिलाड़ियों को परख भी रही है। यही वजह है कि कई सीनियर खिलाड़ियों को आराम देकर युवाओं को आज़माया जा रहा है और अब तक ये प्रयोग बेहद कारगर साबित हुआ है। नंबर-3 पर श्रेयस अय्यर ने क़रीब क़रीब सीमित ओवर क्रिकेट में अपनी दावेदारी पक्की कर ली है, तो महेंद्र सिंह धोनी भी नंबर-4 पर खेलते हुए इस बात का अहसास दिला रहे हैं कि वनडे में भी बहुत दिनों से चली आ रही नंबर-4 की खोज को वह पूरा कर सकते हैं। टेस्ट में बेस्ट सलामी बल्लेबाज़ के तौर पर ख़ुद को स्थापित करने वाले के एल राहुल को वनडे सीरीज़ में मौक़ा नहीं मिला था लेकिन अब शिखर धवन की अनुपस्थिति में वह इस मौक़े का पूरा फ़ायदा उठा रहे हैं। कुछ यही हाल भुवनेश्वर कुमार की जगह कटक टी20 में जयदेव उनदकट ने भी किया, काफ़ी लंबे समय के बाद टीम इंडिया में वापसी कर रहे उनदकट कटक में काफी प्रभावशाली नज़र आए। हालांकि मोहम्मद सिराज और बेसिल थंपी भी बेंच पर बैठे हैं, लेकिन इंदौर में भी हो सकता है वह बाहर ही रहें क्योंकि रोहित शर्मा की नज़र इंदौर में सीरीज़ को सील करने के बाद मुंबई में बेंच पर बैठे खिलाड़ियों को मौक़ा देने की होगी। पिच का पेंच और मौसम का मिज़ाज इंदौर के होल्कर स्टेडियम की पिच को बल्लेबाज़ों के लिए स्वर्ग करार दिया जाता है, जहां गेंद बल्ले पर आसानी के साथ आती है। और फिर छोटी बाउंड्री के साथ साथ तेज़ आउटफ़ील्ड उनके बल्ले से निकले रन में रंग भर देती हैं। यानी इंदौर में भी एक बड़ा स्कोर देखने को मिल सकता है, हालांकि दिसंबर का महीना होने की वजह से शाम में ठंड और ओस रहेगी, लिहाज़ा स्पिन गेंदबाज़ों को दिक़्क़त का सामना करना पड़ सकता है। पर कटक में विपरीत परिस्थिति में भी टीम इंडिया के कलाईयों के दोनों जादूगर युजवेंद्र चहल और कुलदीप यादव ने आपस में 6 विकेट बांटे थे और श्रीलंकाई बल्लेबाज़ों को अपनी फिरकी पर नचाया था। आंकड़ों के झरोखे से इंदौर टी20 पहली बार इंदौर के होल्कर स्टेडियम में टी20 अंतर्राष्ट्रीय मुक़ाबला खेला जाएगा, लेकिन ये मैदान टीम इंडिया के लिए जीत की गारंटी है। अब तक भारत ने इंदौर में कुल 6 अंतर्राष्ट्रीय मुक़ाबले खेले हैं, और सभी के सभी 6 मैचों में टीम इंडिया के सिर जीत का सेहरा बंधा है। अब तक इस मैदान पर 5 वनडे और एक टेस्ट खेला जा चुका है, आख़िरी बार सितंबर 2017 में भारत और ऑस्ट्रेलिया इस मैदान पर आमने सामने थे, जहां कंगारुओं ने टीम इंडिया को जीत के लिए 294 रनों का बड़ा लक्ष्य दिया था और भारत ने उसे 5 विकेट के नुक़सान पर आसानी से हासिल कर लिया था। इस साल भारत ने अब तक 35 अंतर्राष्ट्रीय मुक़ाबले जीते हैं, और फ़िलहाल ऑस्ट्रेलिया के साथ टीम इंडिया संयुक्त रूप से दूसरे स्थान पर है जबकि एक साल में सबसे ज़्यादा 38 अंतर्राष्ट्रीय मुक़ाबले जीतने का वर्ल्ड रिकॉर्ड भी ऑस्ट्रेलिया के ही नाम है। भारत के पास नंबर-1 तो नहीं लेकिन 35 से आगे निकलने का मौक़ा ज़रूर होगा। एक नज़र भारत और श्रीलंका की प्लेइंग-XI पर टीम इंडिया का इस मैच में उन्हीं खिलाड़ियों के साथ जाना तय माना जा रहा है जिन्होंने कटक में कमाल किया था, अगर इंदौर का टी20 भी भारत जीत जाता है तो मुंबई में कई बदलाव संभव हैं। दूसरी तरफ़ श्रीलंका के पास ज़्यादा विकल्प नहीं है पर ऐसा माना जा रहा है कि इस मैच में एक गेंदबाज़ कम करते हुए श्रीलंका एक अतिरिक्त बल्लेबाज़ के साथ जा सकता है। भारत संभावित-XI: के एल राहुल, रोहित शर्मा, श्रेयस अय्यर, महेंद्र सिंह धोनी, दिनेश कार्तिक, मनीष पांडे, हार्दिक पांड्या, कुलदीप यादव, जयदेव उनदकट, युजवेंद्र चहल और जसप्रीत बुमराह श्रीलंका संभावित-XI: निरोशन डिकवेला, उपल थरंगा, कुसल परेरा, एंजेलो मैथ्यूज़, असेला गुणारत्ने, दसुन शनाका, थिसारा परेरा, अकीला धनंजय, दुशमंथा चमीरा, नुवान प्रदीप और विश्वा फ़र्नैंडो

Edited by Staff Editor
Be the first one to comment