Create
Notifications
New User posted their first comment
Advertisement

भारत, पाकिस्तान और बांग्लादेश की वर्तमान टीमों को मिलाकर संयुक्त टेस्ट एकादश

Modified 14 Oct 2017, 14:13 IST
Advertisement

काफी समय पहले, करीब 70 साल और कुछ महीने पहले अब भारत के पड़ोसी देश पाकिस्तान और बांग्लादेश एक बड़े (और बेहतर) भारत का हिस्सा थे। हालांकि 1947 में विभाजन का मतलब था कि देश का दो भागों में विभाजन यानि एक भारत और एक पाकिस्तान। फिर 1971 में बांग्लादेश मुक्ति संग्राम के बाद बांग्लादेश का गठन किया गया। विभाजन ने तीनों देशों की एकता, अखंडता और संस्कृति, लोगों सभी को विभाजित कर दिया लेकिन सिर्फ एक दृष्टिकोण इनको विभाजित नहीं कर पाया और वो था क्रिकेट। लोग विभाजित हुए लेकिन क्रिकेट के प्रति उनका प्रेम कभी विभाजित नहीं हुआ। क्रिकेट ने समय समय पर कई मुश्किल परिस्थितियों में भी इन देशों को आपस में जोड़ कर रखा। तीनों देशों ने अपनी क्रिकेट की प्रतिभा के दम पर क्रिकेट में कई नये आयाम जोड़े हैं। पाकिस्तान पिछले साल टेस्ट क्रिकेट के शिखर पर पहुंचा तो वहीं भारत ने इस साल एक बार फिर से क्रिकेट जगत में अपना डंका बजाया और बांग्लादेश ने खेल के सबसे लंबे प्रारूप में कई बड़े कारनामे किए हैं। इसी के मद्देनजर हमने भारत, पाकिस्तान और बांग्लादेश के तत्कालीन खिलाड़ियों को मिलाकर एक टेस्ट एकादश बनाने का फैसला किया है जो भारतीय टीम लाइन अप का एक हिस्सा होते अगर इन देशों के बीच विभाजन नहीं हुआ होता। आईये नजर डालते हैं आखिर किन खिलाड़ियों ने पायी है वर्तमान संयुक्त टेस्ट एकादश में जगह: ओपनर- केएल राहुल

klrahul

कर्नाटक के इस बल्लेबाज ने 2014 में अपने करियर की शुरुआत के बाद से लगातार अच्छा प्रदर्शन करके भारतीय टीम में जगह बनाने के लिए चयनकर्ताओं को मजबूर कर दिया है। पहले तीन टेस्ट मैचों में तीन शतक और 2016 में आरसीबी के लिए आईपीएल में उन्होंने 400 रनों से अधिक रन बनाए और खेल के सभी तीन प्रारूपों में अपनी स्थिति सुनिश्चित की। सभी तीन प्रारूपों में कम से कम एक शतक के साथ राहुल ने टेस्ट की 30 पारियों में 46.27 औसत से चार शतक और नौ अर्धशतक बनाए हैं। उन्होंने पिछले नौ टेस्ट मैचों की पारी में आठ अर्धशतकीय पारियां खेली हैं और बेहतरीन निरंतरता के साथ वह पूरी तरह से ओपनिंग स्लॉट में फिट होते हैं। अजहर अली

ajharali

क्रिकेट जगत में सबसे कम आंके जाने वाले बल्लेबाजों में से एक अजहर अली ने बिना किसी कठिनाई के रनों का अंबार लगा दिया है। 62 मैचों में 46.62 की औसत से दो दोहरे शतक और एक तिहरा शतक लगाने वाले अजहर की काबिलियत को बताने के लिए उनके आंकड़ें काफी है। पिछले साल टेस्ट रैंकिंग में शीर्ष पर पहुंचने वाले पाकिस्तान के मुख्य खिलाड़ियों में से एक अजहर अली भी थे। हालांकि पाकिस्तानी टीम की इस साल रैंकिंग में गिरावट आई है, लेकिन अजहर अली ने पिछले सात मैचों में तीन अर्धशतक, दो शतक और एक दोहरा शतक लगाकर अपने बेहतरीन फॉर्म को जारी रखा। वह बिना किसी दोराय के इस टीम में जगह बनाने में सफल रहे हैं।
1 / 5 NEXT
Published 14 Oct 2017, 14:13 IST
Advertisement
Fetching more content...
App download animated image Get the free App now
❤️ Favorites Edit