विराट कोहली की कप्तानी में घरेलू सरजमीं पर सर्वश्रेष्ठ भारतीय टेस्ट एकादश

Enter caption

टेस्ट क्रिकेट इतिहास में हमने कई बेहतरीन टीम की बादशाहत देखी है। 1970 और 1980 के दशक में वेस्टइंडीज़ का दुनिया भर में दबदबा था। ऑस्ट्रेलिया का 1990 के दशक के आख़िर और 2000 के पूरे दशक में बोलबाला था। ऐसा देखा गया है कि टेस्ट टीम ने ज़्यादातर कामयाबी अपने घरेलू मैदानों में हासिल की है। चूंकि हर खिलाड़ी अपने देश में प्रथम श्रेणी मैच खेलने का आदी होता है। ऐसे में उसे मैदान और पिच के मिज़ाज को समझते हुए खेलने में आसानी होती है।\गेंदबाज़ों को भी अपने दी देश के मैदानों में बॉलिंग करने के लेकर ज़्यादा सहज होते हैं। अगर रिकॉर्ड बुक को झांकें तो ये साफ़ हो जाएगा कि टेस्ट मैच खेलने वाली सभी टीम का रिकॉर्ड विदेशों के मुक़ाबले अपने देश में कहीं बेहतर है। ऑस्ट्रेलिया, दक्षिण अफ़्रीका, इंग्लैंड और न्यूज़ीलैंड की पिच बाउंसी और तेज़ हैं, वहीं भारतीय उपमहाद्वीप की पिचें स्लो, टर्निंग और बल्लेबाज़ों के अनुकूल हैं।

हम यहां विराट कोहली की कप्तानी में ऐसी भारतीय टेस्ट एकादश तैयार कर रहे हैं जो अपने घरेलू मैदान में खेलने के लिए सबसे बेहतर है। इस टीम में हमने ओपनर शिखर धवन को शामिल नहीं किया है क्योंकि वो फ़िलहाल टेस्ट टीम से बाहर हैं। भुवनेश्वर और ईशांत को विदेशों में ज़्यादा आज़माया जाता है., इसलिए हमने उन्हें भी जगह नहीं दी है। हार्दिक पांड्या ने अब तक भारत में टेस्ट नहीं खेला है। ऋषभ पंत, पृथ्वी शॉ और कुलदीप को भी हमने इस टीम में शामिल नहीं किया है क्योंकि अभी वो इतने अनुभवी नहीं हैं।


#1 मुरली विजय

Enter caption

मुरली विजय भारतीय टीम के मुख्य ओपनर होते हैं जब टेस्ट मैच-अपने देश में खेला जाता है। विजय काफ़ी लंबे वक़्त से टीम इंडिया से जुड़े हुए हैं। विजय अपने अंदाज़ में स्ट्रोक्स खेलने के लिए जाने जाते हैं। वो रक्षात्मक और आक्रामक दोनों तरह के शॉट लगाने में माहिर हैं। भारतीय उपमहाद्वीप में वो काफ़ी कामयाब ओपनर रहे हैं। विराट कोहली की कप्तानी में घरेलू मैदान में वो 5 शतक लगा चुके हैं।

विराट कोहली की कप्तानी में भारतीय मैदान में इनके रिकॉर्ड

टेस्ट मैच-17 रन-1254 औसत- 44.78 शतक- 5 अर्धशतक- 4

#2. केएल राहुल

Enter caption

लोकेश राहुल उन बल्लेबाज़ों में से हैं जिन्होंने विराट कोहली की कप्तानी में काफ़ी तरक्की की है। राहुल जब रन बनाते हैं तब ऐसा बिलकुल भी नहीं लगता कि वो इसके लिए ज़्यादा मशक्कत कर रहे हैं। उनकी बल्लेबाज़ी का अंदाज़ दर्शकों के लिए काफ़ी लुभावना होता है। कोहली की कप्तानी में उन्होंने भारत में 720 रन बनाए हैं। इंग्लैंड के ख़िलाफ़ उन्होंने 199 रन की पारी खेली थी और न्यूज़ीलैंड के ख़िलाफ़ भी अच्छा प्रदर्शन किया था। वो भारत में बड़े स्कोर बनाने में ज़रा भी नहीं चूकते।

विराट कोहली की कप्तानी में भारतीय मैदान में इनके रिकॉर्ड

टेस्ट मैच-12 रन-720 औसत- 40.00 शतक-1 अर्धशतक -5


#3. चेतेश्वर पुजारा

Enter caption

चेतेश्वर पुजारा भारतीय मिडिल ऑर्डर की रीढ़ हैं। उनकी तकनीक संयम भरी और रक्षात्मक है। वो टेस्ट के विशेषज्ञ बल्लेबाज़ हैं। पुजारा धीमी गति से रन बनाते है, लंबी पारी खेलना जानते हैं। उनके खेल में राहुल द्रविड़ की झलक साफ़ देखी जा सकती है। पिछले 3 सालों से वो लगातर टीम इंडिया के लिए रन बना रहे हैं। उनकी बल्लेबाज़ी में एकाग्रता साफ़ देखी जा सकती है। विराट कोहली की कप्तानी में वो भारतीय मैदान में काफ़ी कामयाब रहे हैं।

विराट कोहली की कप्तानी में भारतीय मैदान में इनके रिकॉर्ड

टेस्ट मैच-21 रन-1846 औसत- 57.68 शतक -5 अर्धशतक-10

#4. विराट कोहली

Enter caption

विराट कोहली आज दुनिया के सबसे बेहतरीन बल्लेबाज़ों के लिस्ट में टॉप पर हैं। वो ऐसे खिलाड़ी हैं जो अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट के तीनों फ़ॉर्मेट में धमाल मचाने की ताक़त रखते हैं। वो बेहतरीन स्ट्रोक लगाते हैं। उनकी कप्तानी में टीम इंडिया ने काफ़ी कामयाबी हासिल की है। विराट का रिकॉर्ड भारतीय मैदानों में शानदार रहा है। पिछले 3 सालों में वो भारत की तरफ से टेस्ट में सबसे ज़्यादा रन बनाने वाले बल्लेबाज़ों में शामिल रहे हैं। बतौर कप्तान कोहली ने 5 दोहरे शतक लगाए हैं।

अपनी कप्तानी कोहली में कोहली के रिकॉर्ड

टेस्ट मैच-21 रन-2246 औसत-72.45 शतक- 8 अर्धशतक-4


#5. अजिंक्य रहाणे

Enter caption

टेस्ट क्रिकेट में अजिंक्य रहाणे टीम इंडिया के सबसे अनुशासित बल्लेबाज़ों में से एक हैं। वो अपनी समझदारी और संयम का इस्तेमाल अपने खेल में करते हैं। वो मुश्किल हालात में संभल कर बल्लेबाज़ी करना जानते हैं। वो रन बनाते वक़्त ज़्यादा ख़तरा मोल लेना पसंद नहीं करते हैं। वो गैप में शॉट लगाना और कलाइयों का प्रयोग करना अच्छी तरह जानते हैं। भारतीय पिच पर रहाणे का रिकॉर्ड अच्छा रहा है और भविष्य के लिए भी टीम इंडिया को उन पर पूरा भरोसा है।

विराट कोहली की कप्तानी में भारतीय मैदान में इनके रिकॉर्ड

टेस्ट मैच-19 रन-1038 औसत-35.79 शतक-3 अर्धशतक-4

#6. रोहित शर्मा

Enter caption

रोहित शर्मा को टेस्ट क्रिकेट में नई ज़िंदगी मिली है क्योंकि कप्तान विराट कोहली ने उन्हें नंबर 6 पर बल्लेबाज़ी के लिए भेजना शुरू किया है। रोहित शर्मा ने टेस्ट में काफ़ी हद तक भारतीय मिडिल ऑर्डर की परेशानी को दूर करने का काम किया है। रोहित ने भारतीय मैदान में श्रीलंका और न्यूज़ीलैंड के ख़िलाफ़ अच्छा प्रदर्शन किया था। टेस्ट टीम में अभी पृथ्वी शॉ और ऋषभ पंत जैसे युवा खिलाड़ी धमाल मचा रहे हैं। ऐसे में चयनकर्ताओं को ये तय करना है कि रोहित को टेस्ट में आगे मौके मिलेंगे या नहीं।

विराट कोहली की कप्तानी में भारतीय मैदान में इनके रिकॉर्ड

टेस्ट मैच-7 रन-481 औसत-60.12 शतक-1 अर्धशतक-5


#7 रविंद्र जडेजा

Enter caption

जब भारतीय मैदान में गेंदबाज़ी की बात आती है तब विराट कोहली के लिए रविंद्र जडेजा एक बड़ा हथियार बन जाते हैं। जडेजा घरेलू टेस्ट सीरीज़ में स्पिन की ज़िम्मेदारी संभालते हैं और रविचंद्रन अश्विन का साथ देते हैं। भारत में जडेजा ने कुल 21 टेस्ट मैच-में 100 विकेट लिए हैं। इसके अलावा वो टीम के लिए बल्लेबाज़ी करते हुए ज़रूरू रन भी बनाते हैं। वो फ़ील्डिंग के मामले में भी किसी से कम नहीं है, मुश्किल कैच भी वो आसानी से लपक लेते हैं।

विराट कोहली की कप्तानी में भारतीय मैदान में इनके रिकॉर्ड

टेस्ट मैच-21 विकेट-107 औसत-20.42 इकॉनमी रेट-2.20

#8. ऋद्धिमान साहा

Enter caption

ऋद्धिमान साहा भारतीय मैदान में विराट कोहली की पहली पसंद रहे हैं। वो विकेटकीपिंग के मामले में काफ़ी भरोसेमंद खिलाड़ी हैं। कई बार उन्होंने स्टंप के पीछे बेहतरीन कैच लिए हैं। इसके अलावा उन्होंने अश्विन और जडेजा की गेंदबाज़ी पर काफ़ी स्टंपिंग की है। वो लोअर मिडिल ऑर्डर में बल्लेबाज़ी करते हैं और टीम को मज़बूती देते हैं। ऋषभ पंत के आगमन के बाद साहा को टीम में जगह मिलना थोड़ा मुश्किल हो गया है।

विराट कोहली की कप्तानी में भारतीय मैदान में इनके रिकॉर्ड

टेस्ट मैच-16 रन-537 औसत-33.56 शतक-2 अर्धशतक -2


#9. रविचंद्रन अश्विन

Enter caption

पिछले करीब 5 सालों से जब भी घरेलू मैदान में टेस्ट मैच खेला गया है, तब रविचंद्रन अश्विन भारत के लिए सबसे भरोसेमंद स्पिनर साबित हुए हैं। इस ऑफ़ स्पिनर ने भारत को कई मैच में जीत दिलाई है। वो विविधता से भरी गेंदबाज़ी करते हैं और विपक्षी बल्लेबाज़ों को चमका देते हैं। कोहली की कप्तानी में अश्विन ने भारत में 21 टेस्ट मैच खेले हैं और 130 विकेट हासिल किए हैं। वो टीम के लिए अच्छी बल्लेबाज़ी भी करना जानते हैं।

विराट कोहली की कप्तानी में भारतीय मैदान में इनके रिकॉर्ड

टेस्ट मैच-21 विकेट-130 औसत-22.11 इकॉनमी रेट-2.72

#10. मोहम्मद शमी

Enter caption

मोहम्मद शमी टीम इंडिया के सबसे बेहतरीन सीम गेंदबाज़ हैं। भारतीय हालात में उनकी गेंदबाज़ी बेहतरीन रही है और वो टीम के लिए ज़रूरी विकेट निकालना जानते हैं। नई गेंद से उनका प्रदर्शन और भी शानदार रहता है। पुरानी गेंद से वो बढ़ियां रिवर्स स्विंग करते हैं। मौजूदा भारतीय तेज़ गेंदबाज़ों में उनकी स्ट्राइक रेट सबसे अच्छी है।

विराट कोहली की कप्तानी में भारतीय मैदान में इनके रिकॉर्ड

टेस्ट मैच-9 विकेट- 29 औसत-27.48 इकॉनमी रेट-2.98


#11. उमेश यादव

Enter caption

विराट कोहली की कप्तानी में उमेश यादव टीम इंडिया के सबसे तेज़ गेंदबाज़ हैं। वो गेंद की गति पर नियंत्रण रखते हुए विकेट लेना जानते हैं। उनकी लाइन और लेंथ कमाल की है। वो भारत की तीसरे ऐसे गेंदबाज़ हैं जिन्होंने एक मैच में 10 विकेट हासिल किए हैं। हैदराबाद में वेस्टइंडीज़ के ख़िलाफ़ खेले गए टेस्ट मैच-में उन्होंने 133 रन देकर 10 विकेट लिए थे।

विराट कोहली की कप्तानी में भारतीय मैदान में इनके रिकॉर्ड

टेस्ट मैच-17 विकेट- 46 औसत- 30.67 इकॉनमी रेट-2.96

गौतम लूथरा

अनुवादक- शारिक़ुल होदा

Quick Links

App download animated image Get the free App now