Create
Notifications

भारतीय क्रिकेट इतिहास के पांच सर्वश्रेष्ठ टेस्ट बल्लेबाज

रितेश जायसवाल
visit

भारत ने बीते कुछ सालों में कई ऐसे महान बल्लेबाज दिए हैं, जिन्होंने क्रिकेट के हर रूपों में अपने आपको खरा सोना साबित किया। देखा जाए तो पॉली उमरीगर और विजय मर्चेंट के दिनों से लेकर गावस्कर और वेंगसरकर के युग तक, भारत के पास हमेशा ही एक शानदार बैटिंग लाइनअप रहा। इसके बाद देश के सुनहरे युग की शुरुआत होती है और आम खिलाड़ियों में से ही उभरकर सामने आते हैं ‘फंटास्टिक फोर’। जी हां, ये खिलाड़ी और कोई नहीं बल्कि तेंदुलकर, द्रविड़, गांगुली और लक्ष्मण हैं। आज हम इन महान बल्लेबाजों में टॉप 5 बल्लेबाज चुनकर उनके टेस्ट क्रिकेट की कीर्तिमानों के बारे में आपको बताने जा रहे हैं: #5 वीरेंदर सहवाग मैच: 104, रन: 8586, औसत: 49.34, स्ट्राइक रेट: 82.23, शतक: 23 भारतीय टेस्ट क्रिकेट में जब भी हम वीरू पाजी की बात करते हैं तो दिमाग में एक शानदार ओपनर बल्लेबाज की छवि उभर कर हमारे सामने आ जाती है। सहवाग ने दुनिया के सामने एक ओपनर का वो रूप पेश किया जो शायद कभी किसी ने सोचा भी नहीं था। वह ऐसे बल्लेबाज रहे जो मैच के पहले ओवर की पहली गेंद पर विपक्षी टीम के होश उड़ाने का माद्दा रखते थे। वह हमेशा ही अपनी धुआंधार बल्लेबाजी से टेस्ट क्रिकेट में छाए रहे। उन्होंने अपने टेस्ट करियर में 23 शतक और 8500 रन करीब 50 के औसत से बनाए। वह हर मायनों में हमेशा से ही टेस्ट क्रिकेट के महान बल्लेबाज रहे। सच तो यह है ऐसा धुआंधार बल्लेबाज सदियों में एक बार ही सामने आता है और इतिहास लिख जाता है। इसलिए टॉप 5 टेस्ट बल्लेबाजों की बात जब भी होगी सहवाग को जरूर याद किया जाएगा। #4 विराट कोहली मैच: 67, रन: 5754, औसत: 54.28, शतक: 22 विराट कोहली हमेशा से ही एक शानदार बल्लेबाज रहे हैं। वह अपने समय के खिलाड़ियों में हर मायनों में सबसे उम्दा हैं। कोहली ने बीते कुछ सालों में टेस्ट क्रिकेट में अपने आपको साबित करके दिखाया है। हालांकि, शुरुआती कुछ सालों में कोहली टेस्ट क्रिकेट में अपने आपको साबित करने में असफल रहे, लेकिन जब से वह भारतीय टेस्ट क्रिकेट टीम के कप्तान बने उनका खेल पूरी तरह से ही बदल गया। उन्होंने लगातार शतक और दोहरा शतक जड़ना शुरू कर दिया। यही नहीं इंग्लैंड, ऑस्ट्रेलिया और दक्षिण अफ्रीका के खिलाफ विपरीत परिस्थितियों में भी उन्होंने लगातार शतक जड़े और उसकी बदौलत कोहली ने टेस्ट क्रिकेट में खुद को नं. 1 साबित किया। #3 राहुल द्रविड़ मैच: 164, रन: 13288, औसत: 52.31, शतक: 36 राहुल द्रविड़ को भारतीय बल्लेबाजी की ‘दीवार’ कहा जाता है। वह भारत के टेस्ट मैचों के सर्वश्रेष्ठ नं. 3 बल्लेबाज के तौर पर जाने जाते हैं। वह अपनी तकनीक और शांत स्वभाव से विपक्षी गेंदबाजों के लिए हमेशा से ही एक बड़े डर की तरह रहे हैं। सच तो यह है कि राहुल द्रविड़ की जगह कोई भी नहीं ले सकता है। द्रविड़ ने टीम इंडिया को उन परिस्थियों में भी जीत दिलाई है जब जीत के बारे में सोचना भी किसी के लिए कठिन हो। उन्होंने बेहतरीन और यादगार पारियां खेलीं। उनके 36 शतक और 13 हजार से अधिक रन यह साबित करते हैं कि उन्होंने बल्लेबाजी के तौर पर देश को क्या दिया है। #2 सुनील गावस्कर मैच: 125, रन: 10122, औसत: 52.12, शतक: 34 गावस्कर हमेशा से ही टेस्ट क्रिकेट के महान बल्लेबाज के तौर पर जाने जाते रहे हैं। वह अपने समय के खेल में एक अलग पहचान थे। आज के समय में हर टीम चाहेगी कि सुनील गावस्कर की तरह ही कोई बल्लेबाज टेस्ट मैच में ओपनिंग के तौर पर उतरे। इस दिग्गज बल्लेबाज को इसके शांत स्वभाव और तकनीकि के मिश्रण ने दूसरों से अलग बना दिया। वहीं बैटिंग के साथ ही इनकी बेहतरीन गेंदबाजी ने भी इनकी खूबियों में चार चांद लगा दिए। गावस्कर खेलते समय हमेशा ही यह मानते थे कि चाहे जो परिस्थितियां हों या चाहे जो विरोधी टीम हो प्रदर्शन अच्छा होना चाहिए। वह आज की जेनरेशन के लिए सही मायनों में एक प्रेरणा स्त्रोत हैं। यही नहीं सचिन से पहले गावस्कर के नाम सबसे अधिक शतक जड़ने का रिकॉर्ड काफी लम्बे समय तक बना रहा। #1 सचिन तेंदुलकर मैच: 200, रन: 15921, औसत: 53.78, शतक: 51 क्रिकेट के भगवान कहे जाने वाले सचिन तेंदुलकर आज भी टेस्ट बल्लेबाज के तौर पर सबसे महान हैं। उन्होंने अपने करियर में 15 हजार से भी अधिक रन बनाए। इस दौरान उन्होंने 51 शतक जड़े। टेस्ट मैच की बल्लेबाजी के लगभग सभी रिकॉर्ड सचिन के नाम रहे हैं। उनके बेहतरीन खेल का प्रदर्शन लगातार 20 वर्षों तक जारी रहा। जिसमें उन्होंने सभी का दिल जीत लिया। यही वजह है कि जब तक टेस्ट क्रिकेट खेला जाएगा, तब तक सचिन की महानता को याद किया जाएगा। वह सही मायनों में पूरी विश्व के खिलाड़ियों के प्रेरणा स्त्रोत हैं।

Edited by Staff Editor
Article image

Go to article
Fetching more content...
App download animated image Get the free App now