Create
Notifications
Get the free App now
Favorites Edit
Advertisement

कौन हैं इंडिया अंडर-19 के इंग्लैंड दौरे पर टीम में शामिल ऑलराउंडर सुशांत मिश्रा

  • सुशांत आगे चलकर भारतीय क्रिकेट के नए सितारे बन सकते हैं
ANALYST
न्यूज़
Modified 23 Jul 2019, 14:03 IST

सुशांत मिश्रा
सुशांत मिश्रा

भारतीय टीम के पूर्व कप्तान और विकेटकीपर बल्लेबाज महेंद्र सिंह धोनी भले ही पिछले कुछ समय से आलोचना झेल रहे हों, लेकिन वह बिहार और झारखंड के युवाओं के लिए वो प्रेरणा स्रोत बने हुए हैं। धोनी के सफल करियर ने झारखंड के युवाओं को क्रिकेट को करियर के रूप में देख सकने का हौंसला दिया है। उनके बाद झारखंड से सौरभ तिवारी, शहबाज नदीम जैसे खिलाड़ी निकले हैं, जिन्होंने आईपीएल और अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट में अपनी पहचान बनाई। इसके साथ ही धोनी के विकल्प के रुप में देखे जा रहे, रांची के युवा ईशान किशन भी लगातार इंडिया ए और मुम्बई के लिए शानदार प्रदर्शन कर रहे हैं। 

अब इसी सूची में रांची के एक और शानदार ऑलराउंडर खिलाड़ी सुशांत मिश्रा का नाम भी जुड़ गया है। भारतीय अंडर-19 टीम के साथ इंग्लैंड दौरे पर गए 18 साल के बाएं हाथ के मध्यम गति के तेज गेंदबाज सुशांत ने पहले ही मैच में अपनी दोनों तरफ स्विंग कराने की क्षमता से सबको काफी प्रभावित किया। उन्होंने अपने पहले ही ओवर में इंग्लैंड के सलामी बल्लेबाज डैन मोसलि को पवेलियन की राह दिखाई और इसके बाद दूसरे स्पेल में विकेटकीपर बल्लेबाज फिनले बीन को चलता किया। उन्होंने 8 ओवर में 1 मेडेन फेकते हुए 39 रन देकर दो विकेट हासिल किए। 


<p>" />

सुशांत रांची में ही जन्मे हैं और उनके पिता बिहार के दरभंगा से ताल्लुक रखते हैं। वो रांची के लिए अंडर-19 और अंडर-23 टीम में खेलते हैं। इससे पहले वो रांची अंडर-16 टीम की कप्तानी भी कर चुके हैं। सुशांत ने अपनी शिक्षा डीएवी स्कूल पुंदाग से की है और वो 12वीं के छात्र हैं। सुशांत बाएं हाथ से गेंदबाजी करते हुए दोनों तरफ स्विंग कराने में माहिर हैं और निचले क्रम में तेजतर्रार बल्लेबाजी कर सकते हैं। इस साल इंडिया अंडर-19 बी की तरफ से खेलते हुए उन्होंने चतुष्कोणीय श्रृंखला के फाइनल में 41 रन देकर चार विकेट लिए थे और अपनी टीम को खिताबी जीत दिलाई। इस साल खेले इससे पहले के तीनों मैचों में वो मैन ऑफ द मैच भी रहे थे।

सुशांत को अंडर-19 स्तर पर बल्लेबाजी के मौके नहीं मिले हैं लेकिन उनका झारखंड के जिला स्तरीय लीग में बल्ले से भी शानदार प्रदर्शन रहा था। उनका स्ट्राइक रेट 100 से ऊपर का रहा और उन्होंने 7 मैचों में 4 से कम की इकॉनमी के साथ 20 विकेट झटके थे। सुशांत में प्रतिभा की कोई कमी नहीं है और उनके कोच एस एस राव ने सराहनीय कार्य किया है। जरूरत सिर्फ यह है कि सुशांत चोटों से दूर रहें और आने वाले अंडर-19 वर्ल्ड कप में अच्छा प्रदर्शन करें।

Hindi Cricket News, सभी मैच के क्रिकेट स्कोर, लाइव अपडेट, हाइलाइट्स और न्यूज स्पोर्टसकीड़ा पर पाएं।

Published 23 Jul 2019, 14:03 IST
Advertisement
Fetching more content...