Create
Notifications
New User posted their first comment
Advertisement

टीम इंडिया का मकसद निरंतर बेहतर क्रिकेट खेलना : विराट कोहली

ANALYST
Modified 11 Oct 2018, 14:13 IST
Advertisement
भारतीय टीम ने न्यूजीलैंड को कोलकाता के ईडन गार्डन्स में दूसरे टेस्ट के चौथे दिन सोमवार को 178 रन से हराकर तीन मैचों की टेस्ट सीरीज में 2-0 की अपराजित बढ़त हासिल कर ली है। कीवी टीम पर जीत दर्ज करने से भारतीय टीम न सिर्फ सीरीज जीती बल्कि टेस्ट रैंकिंग में नंबर-1 टीम भी बन गई है। तीसरे टेस्ट के बाद आईसीसी भारत के शीर्ष पर पहुंचने की आधिकारिक घोषणा करेगा। भारत ने टॉस जीतकर पहले बल्लेबाजी का फैसला किया और चेतेश्वर पुजारा, अजिंक्य रहाणे व ऋद्धिमान साहा के अर्धशतकों की मदद से 316 रन बनाए। जवाब में कीवी टीम 204 रन पर ऑलआउट हो गई। दूसरी पारी में रोहित शर्मा और ऋद्धिमान साहा के अर्धशतकों की बदौलत भारत ने न्यूजीलैंड के सामने सीरीज बराबर करने के सभी द्वार बंद कर दिए। अंत में कीवी टीम की दूसरी पारी 197 रन पर ऑलआउट हो गई और भारत ने 2-0 से सीरीज पर कब्ज़ा किया। इस जीत के साथ कोहली का कप्तानी में रिकॉर्ड भी बेहतर हो गया। उनके नेतृत्व में टीम इंडिया लगातार 12 टेस्ट से अपराजित है। भारतीय कप्तान विराट कोहली ने मैच के बाद कहा, 'प्यारा टेस्ट मैच था। जैसा कि टेलर ने कहा, यह शानदार टेस्ट विकेट था जहां अच्छा उछाल मौजूद था। जब विकेट बना था तब भारत को ऐसे विकेट की जरुरत थी। यह जीत पूरी टीम की मेहनत है। गेंदबाजों ने अच्छा काम किया। साहा ने शानदार काम किया। भुवी और शमी का भी योगदान उल्लेखनीय रहा। अतिरिक्त रन महत्वपूर्ण रहे। हमने न्यूजीलैंड जैसी टीम से अच्छी फाइट की उम्मीद थी, लेकिन दोनों पारियों में वापसी करना किसी भी टीम के लिए आसान काम नहीं है।' साहा के बारे में बात करते हुए कोहली ने कहा, 'वह मौजूदा समय में भारत के सर्वश्रेष्ठ विकेटकीपर हैं और टेस्ट में उन्होंने लाजवाब प्रदर्शन किया है। वह बल्ले से भी कमाल दिखा रहे हैं। वह अपने आप को प्रोत्साहित करते हैं और पुछल्ले बल्लेबाजों के साथ खेलते हैं। वह अपने शॉट खेलते हैं। वेस्टइंडीज में जमाया सैकड़ा उनके लिए कारगर साबित हुआ और वह इस समय विश्वास से लबरेज हैं।' रोहित शर्मा के बारे में विराट ने कहा, 'रोहित ने अच्छे संकेत दिए, उन्होंने सकारात्मक क्रिकेट खेली और ईडन गार्डन्स से उनके प्यार से हम सभी वाकिफ हैं। मैं उनसे एक पारी में बेहतरीन पारी खेलने की उम्मीद कर रहा था और खुश हूं कि उन्होंने ऐसा करके दिखाया।' विराट ने साथ ही कोलकाता के दर्शकों की तारीफ करते हुए कहा, 'इनकी आवाजों से शमी को काफी प्रोत्साहन मिला। तेज गेंदबाज ने अतिरिक्त दम लगाया और नए बल्लेबाज पर दबाव बनाया।' टीम इंडिया के टेस्ट में नंबर-1 बनने पर विराट ने कहा, 'हमारा मकसद निरंतर बेहतर क्रिकेट खेलना है। अगर हम ऐसा करने में कामयाब होते हैं तो लंबे समय तक रैंकिंग में शीर्ष पर बने रहेंगे। हमने पिछले एक या डेढ़ वर्षों में काफी अच्छी क्रिकेट खेली है। हम इसे बरकरार रखना चाहते हैं। तेज गेंदबाज भुवनेश्वर कुमार का अंतिम एकादश में शामिल होना आश्चर्यजनक रहा। हालांकि उन्होंने मैच में 6 विकेट लेकर अपनी उपयोगिता दर्शाई। मैच के बाद भुवी ने कहा, 'भारत में आमतौर पर ऐसे (घास वाली) विकेट देखने को नहीं मिलते हैं। मैंने इस पिच का पूरा फायदा उठाने की कोशिश की। पिच हर लिहाज से सभी के लिए बेहतर थी और आप जीत हासिल करने के लिए अपना पूरा योगदान देते हैं। मैंने भी दिया और यह प्रदर्शन विशेष है।' अपने साथी गेंदबाज मोहम्मद शमी के बारे में भुवी ने कहा, 'मुझे उनके साथ गेंदबाजी करने में मजा आता है, विशेषकर तब जब गेंद रिवर्स स्विंग हो रही हो। वह शानदार चरित्र वाले व्यक्ति हैं। वह टीम के सबसे आलसी खिलाड़ी है, लेकिन जब वह मैदान पर होते हैं तो अपना 100 प्रतिशत झोंकते हैं। यह जानकर खुशी हो रही है कि हम विश्व की नंबर-1 टेस्ट टीम बन गए हैं। इसमें अपना योगदान देने से काफी अच्छा लग रहा है। यह हमारे लिए अच्छी जीत है।' ऋद्धिमान साहा को दोनों पारियों में नाबाद अर्धशतक और शानदार कीपिंग के लिए मैन ऑफ द मैच के पुरस्कार से नवाजा गया। मैच के बाद साहा ने कहा, 'सीरीज जीतकर बहुत खुश हूं और यह मेरा पहला मैन ऑफ द मैच पुरस्कार है। मुझे टीम के साथियों और दर्शकों का भरपूर समर्थन मिला। मुझ पर कोई अतिरिक्त दबाव नहीं था। जब मैं बल्लेबाजी करने उतरा तो यही सोच रहा था कि अच्छी गेंद को छोड़ना है और ख़राब गेंद को सजा देना है।' उन्होंने आगे कहा, 'कोलकाता की मीडिया और खिलाड़ियों ने हमेशा मेरा समर्थन किया है। कानपुर में मैंने अच्छा स्कोर नहीं बनाया और इसलिए यहां थोड़ा समय लेकर अपने मजबूत पक्ष के साथ बल्लेबाजी की। विकेट के पीछे मैंने अपनी जिम्मेदारी निभाई। मैंने आखिरी समय तक गेंद को देखा और हलके हाथों से गेंद को पकड़ा।' न्यूजीलैंड के कप्तान रॉस टेलर ने स्वीकार किया कि यह पिच थोड़ी अलग थी। उन्होंने कहा, 'ईमानदारी से कहूं तो हमने सोचा था कि पिच अलग होगी। यह क्रिकेट के लिए अच्छा विकेट था और दिन प्रतिदिन यह बेहतर होता गया। मेरे ख्याल से पहली पारी में 112 रन से पिछड़ने के बाद हम दबाव में आ गए थे। हमने दूसरी पारी में जल्दी-जल्दी विकेट चटकाए, लेकिन रोहित और साहा की साझेदारी हमसे मैच दूर ले गई। मेरे ख्याल से टॉम लैथम ने शानदार बल्लेबाजी की। हमें अपना अगला मैच इंदौर में खेलना है। हम वहां पहले कभी नहीं खेले, इसलिए यह देखना रोचक होगा कि वहां की पिच कैसा बर्ताव करेगी। आज केन विलियमसन को मैदान पर देखकर अच्छा लगा। वह थोड़ा अभी भी कमजोर हैं, लेकिन जैसा की उन्हें जानते हैं। वह कल से ही नेट्स पर वापसी कर लेंगे।' Published 03 Oct 2016, 19:13 IST
Advertisement
Fetching more content...
App download animated image Get the free App now
❤️ Favorites Edit