Create
Notifications

पुणे की पिच भारतीय टीम को मदद प्रदान करने के लिए थी : स्टीव स्मिथ

Naveen Sharma
visit

ऑस्ट्रेलिया के कप्तान स्टीव स्मिथ का कहना है कि उन्हें पिच भारतीय टीम को मदद करने वाली लगी थी लेकिन यह मेहमान टीम के लिए लाभकारी साबित हो गई। पुणे में खेले गए पहले टेस्ट में ऑस्ट्रेलिया ने भारत को आसानी से 333 रन से शिकस्त दी। प्रेस वार्ता के दौरान स्मिथ ने कहा "मुझे लगता है यह विकेट निश्चित रूप से भारतीय खिलाड़ियों के लिए मददगार थी। विकेट बनाना उन पर निर्भर करता है और उन्होंने जो विकेट बनाई, वो हमारे हाथों में आ गई। बेंगलुरु में क्या होता है यह देखना बड़ा दिलचस्प होगा।" भारत के टेस्ट इतिहास में यह चौथी सबसे बड़ी हार थी। साथ ही भारतीय कप्तान विराट कोहली की अगुआई में खुद की धरती पर भी पहली हार है। वहीँ ऑस्ट्रेलिया ने इण्डिया में दूसरी सबसे बड़ी जीत दर्ज की। मेजबान के लिए ख़राब दिन था। इस दौरे पर आई कंगारू टीम को अब तक की सबसे कमजोर टीम माना गया था लेकिन स्मिथ की टीम ने व्यापक जीत दर्ज करते हुए सबको गलत साबित कर दिया। कंगारू कप्तान स्टीव स्मिथ मैच के बाद प्रेस वार्ता में उत्तेजित नजर आए, 13 वर्षों के बाद भारत में टेस्ट जीतने वाले कप्तान बनने का गौरव भी उन्हें हासिल हो गया। उन्होंने इस जीत का श्रेय अपनी टीम और गेंदबाजों खासकर बाएं हाथ के स्पिनर ओकीफ को दिया। याद हो ओकीफ ने इसमें 12 विकेट झटककर भारत को मैच में पटखनी देने में अहम् भूमिका निभाई। मेहमान कप्तान ने यह कहा कि पिच मेजबान गेंदबाजों के लिए थी लेकिन हमारे गेंदबाजों ने फायदा उठाते हुए ऐतिहासिक जीत दर्ज की। आगे बेंगलुरु में होने वाले दूसरे टेस्ट के लिए उन्होंने कहा कि वहां पिच कैसी होती है यह देखना दिलचस्प होगा, साथ ही उन्होंने कोहली द्वारा मजबूती से वापसी करने की उम्मीद जताई। गौरतलब है कि चार टेस्ट मैचों की सीरीज का दूसरा मैच 4 मार्च से बेंगलुरु के एम चिन्नास्वामी स्टेडियम में शुरू होगा।


Edited by Staff Editor
Article image

Go to article
Fetching more content...
App download animated image Get the free App now