Create

INDvAUS: 5 खिलाड़ी जिन्हें टी20 सीरीज में भारतीय टीम में जगह मिलनी चाहिए

rishabh-pant-m1

एकदिवसीय सीरीज में जीत के बाद भारतीय टीम की नज़र टी20 में भी जीत के सिलसिले को बरकरार रखने की होगी। तीन मैचों की सीरीज के मैच रांची, गुवाहाटी और हैदराबाद में खेले जाएंगे। जहाँ भारतीय टीम टेस्ट और एकदिवसीय मैचों में लगातार अच्छा प्रदर्शन कर रही है वहीं टी20 में टीम के प्रदर्शन में पिछले कुछ समय से निरंतरता की कमी रही है। टीम के कुछ खिलाड़ियों का प्रदर्शन टी20 मैचों में पहले के अनुरूप खराब हुआ है और इसका असर टीम के प्रदर्शन पर भी पड़ा है। अब भारतीय टीम को जरूरत है कि टीम में कुछ बदलाव करें जिससे टीम जीत की पटरी पर लौट सके। आज हम आपको उन 5 खिलाड़ियों के बारे में बताएंगे जिन्हें ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ टी20 सीरीज में टीम में जगह मिलनी चाहिए: #5 ऋषभ पंत जल्द ही 20 साल के होने वाले पंत पिछले कुछ समय से अंतरराष्ट्रीय स्तर पर पहचान बनाने की कोशिश कर रहे हैं। अंडर-19 विश्व कप 2016 से बाद से ही पंत विभिन्न प्रतियोगिताओं में दमदार प्रदर्शन देकर अपना लोहा मनवा चुके हैं। पंत से भारत के लिए अपना पहला टी20 अंतरराष्ट्रीय मैच इसी साल के शुरुआत में इंग्लैंड के खिलाफ खेला था लेकिन उन्हें अपनी प्रतिभा दिखाने का पूरा मौका नहीं मिल पाया है। आईपीएल 2017 में अपने प्रदर्शन से खेल प्रशंसकों का दिल जीत चुके पंत को वेस्टइंडीज दौरे में एकदिवसीय टीम में जगह तो मिली लेकिन दुर्भाग्यवश एक भी मैच खेलने का मौका नहीं मिल पाया। अगर उन्हें टी20 टीम में जगह मिलती है तो उनके पास अच्छा प्रदर्शन कर चयनकर्ताओं की नजर में भविष्य के लिए अपना दावा मजबूत कर सकते हैं। #4 क्रुणाल पांड्या krunalpandya भारतीय टीम का नया सितारा हार्दिक पांड्या जहां खेल के तीने प्रारूपों में अपने प्रदर्शन का लोहा मनवा रहा है वहीं उनके बड़े भाई क्रुणाल भी भारत टीम में आकर अपने भाई जैसा प्रदर्शन देने को बेताब हैं। हार्दिक की तरह ही क्रुणाल ने भी आईपीएल के माध्यम से ही अपनी पहचान बनाई है। जहाँ उन्होंने मुंबई इंडियंस के लियर कई मैच जिताऊ प्रदर्शन किए हैं और कई मौके पर अपने भाई हार्दिक से भी एक कदम आगे रहे हैं। उन्होंने मुंबई इंडियन्स की टीम को अपने तीसरे आईपीएल खिलाफ उठने में काफी अहम योगदान दिया है। उनकी इसी प्रदर्शन ने चयनकर्ताओं का ध्यान उनकी तरफ खींचा और क्रुणाल को दक्षिण अफ्रीका दौरे के लिए भारतीय 'ए' टीम में जगह भी मिली। #3 आशीष नेहरा nehra-story_647_021116022145 38 वर्षीय इस तेज गेंदबाज ने अपने प्रदर्शन के दम पर 2016 में भारतीय टी20 टीम में वापसी की। इस दौरान खेल के छोटे प्रारूप में उनका प्रदर्शन का बेहतरीन रहा और उन्हीने टीम की जीत में भी काफी योगदान दिया। नेहरा 2016 टी20 विश्व कप में भारतीय टीम का हिस्सा थे और पूरी प्रतियोगिता में उन्होंने काफी अच्छी गेंदबाजी भी की। वह आईपीएल 2016 और 2017 के दौरान सनराइजर्स हैदराबाद टीम के प्रमुख गेंदबाज थे और जरूरत के समय टीम के लिये विकेट निकलते थे, लेकिन आईपीएल 2017 के अंतिम मैचों के दौरान वो चोटिल हो गए जिसके बार उनकी वापसी नहीं हो पाई है। अब नेहरा चोट से उबर चुके हैं और टी20 में अपनी वापसी को लेकर बेताब हैं। #2 बेसिल थम्पीbasil-thampi-bcci-759 केरल के इस 24 साल के तेज गेंदबाज ने इस साल के शुरुआत में हुए इंटर-जोन टी20 टूर्नामेंट से अपनी पहचान बनाई। इस प्रतियोगिता के प्रदर्शन के आधार पर उन्हें आईपीएल ऑक्शन में गुजरात लायंस ने खरीदा और उन्हें काफी मैच खेलने का मौका भी दिया। आईपीएल 10 में थम्पी ने 12 मैचों में 9 कई इकॉनमी से रन देकर सिर्फ 11 विकेट हासिल किये लेकिन उनका प्रदर्शन इस आंकड़ों से कहीं बेहतर था। इस प्रतियोगिता में उन्हें 'इमरजिंग प्लेयर' का ख़िताब भी मिला था। थम्पी को भारत 'ए' के दक्षिण अफ्रीका के दौरे की लिये टीम में चुना गया जहाँ उन्होंने अपने प्रदर्शन ने काफी वाहवाही लूटी। भारत के वर्तमान में भले ही तेज गेंदबाजों की कमी नहीं है लेकिन अगर थम्पी को मौका मिलता है तो इससे गेंदबाजी क्रम और मजबूत होगी। #1 सुरेश रैना 1485247865_suresh-raina-india-england-t20-series-squads पिछले कुछ समय से रैना का समय अच्छा नहीं चल रहा है। जहाँ वो इस साल के शुरुआत के बाद टी20 टीम से बाहर हैं वहीं उन्होंने आखिरी एकदिवसीय सीरीज 2015 में ही खेला था। रैना को चैम्पियंस ट्रॉफी की टीम में जगह नहीं मिली। वेस्टइंडीज, श्रीलंका और अब ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ मौका ना मिलना उनके लिए जले पर नमक छिड़कने जैसा है। वो एनसीए बैंगलौर में हुए फिटनेस टेस्ट में भी फेल हो गए थे। हालांकि हाल में ही खेले गए दिलीप ट्रॉफी में इंडिया ब्लू की कप्तानी कर रहे रैना काफी फिट देखे। अब वह टी-20 से टीम में वापसी करना चाहते हैं और एक बार फिर अपने प्रदर्शन से टीम में अपनी जगह पक्की करना चाहेंगे। लेखक- राजदीप पूरी अनुवादक- ऋषिकेश सिंह

Edited by Staff Editor
Be the first one to comment