Create
Notifications

भारत की पहले वन-डे में आकर्षक जीत के बाद कप्तानों समेत दिग्गज क्रिकेटरों ने क्या कहा

ANALYST
Modified 21 Sep 2018

भारतीय टीम जबर्दस्त फॉर्म में है और नए कप्तान विराट कोहली के नेतृत्व में टीम ने नए वर्ष की बेहतरीन शुरुआत की है। विराट कोहली ने एक बार फिर उम्दा पारी खेली और केदार जाधव के साथ प्रेरणादायक साझेदारी करके इंग्लैंड के खिलाफ भारत को पहले वन-डे में संकट की स्थिति से उबारकर जीत दिलाई। 351 रन के पहाड़नुमा स्कोर का पीछा करते हुए भारत की शुरुआत बेहद ख़राब रही और एक समय वह 63 रन के स्कोर पर चार विकेट गंवाकर मुश्किल में फंसी हुई थी। हालांकि कप्तान विराट कोहली ने अपने घरेलू मैदान पर खेल रहे केदार जाधव के साथ पांचवें विकेट के लिए 200 रन की साझेदारी की और इंग्लैंड को बैकफुट पर धकेल दिया। जब कोहली और जाधव आउट हुए तब थोड़ी चिंता बढ़ गई थी, लेकिन रविंद्र जडेजा, हार्दिक पांड्या और रविचंद्रन अश्विन ने सूझबूझ भरी पारियां खेलकर टीम को पार लगाया। इंग्लैंड के गेंदबाजों ने विशाल लक्ष्य की रक्षा करने में अपना पूरा दम झोंका, लेकिन वह कामयाब नहीं हो सके। भारत की जीत के बाद खिलाड़ियों, कप्तान और दिग्गज क्रिकेटरों ने ऐसी प्रतिक्रिया व्यक्त की, आइए नजर डालते हैं : हार्दिक पांड्या ने अपने ऑलराउंड प्रदर्शन के बारे में कहा- 'मुझे ख़ुशी है कि गेंद और बल्ले दोनों से योगदान दे सका। हमने शानदार अंदाज में लक्ष्य का पीछा किया। जिस तरह केदार और कोहली ने बल्लेबाजी की, उनको सलाम। मुझे आज विश्वास मिला कि मैं मैच ख़त्म कर सकता हूं। मैदान पर थोड़ा घबराहट थी, लेकिन केदार और विराट की बल्लेबाजी देखने के बाद विश्वास था कि मैं भी कर सकता हूं। मैंने कुछ गलतियां की, लेकिन समय के साथ-साथ सुधार करूंगा।' इयोन मॉर्गन, इंग्लिश कप्तान- 'हमारा स्कोर अच्छा था। हम छोटे मैदान पर खेलने आए और गेंदबाजों के लिए परिस्थिति मुश्किल थी। आप 350 का स्कोर बनाए तो सोचते हैं कि मैच में बने हुए हैं। मगर जाधव और कोहली को श्रेय देना होगा कि उन्होंने मैच हमसे छीन लिया।' विराट कोहली, भारतीय कप्तान - 'विश्वास नहीं होता कि 350 का लक्ष्य संकट की स्थिति से उबरते हुए हासिल किया। केदार ने जानदार पारी खेली। वह दिल्ली में भी हमें जीत दिलाने के करीब थे, लेकिन ऐसा नहीं कर सके थे। पांड्या ने भी अच्छा खेला। हम पहले भी 350 रन के लक्ष्य का पीछा कर चुके हैं, लेकिन उस समय हमारी शुरुआत अच्छी हुई थी। इसलिए आज का प्रयास बहुत बहुत विशेष है। मैंने केदार से कहा था कि अगर स्कोर 150/4 रहा तो मौका बन सकता है। विकेट अच्छा था इसलिए आप अपने शॉट्स खेल सकते थे। जाधव ने कुछ ऐसे शॉट्स खेले, जिसे मैं निहारता रह गया। उनके साथ विशेष साझेदारी हुई जो लंबे समय तक याद रखी जाएगी। मेरे ख्याल से सबसे बड़ी सीख आपको मैदान में रहने से मिलती है। मैंने उन्हें बेहतर खेलने के लिए जोर लगाया। उनमें (केदार जाधव) प्रतिभा है। छठे क्रम पर आकर शतक लगाना और वो भी आपके परिवार की मौजूदगी में, विशेष है। जीतने के लिए सिर्फ एक ही तरीका था पलटवार करना, इसलिए मैं तीसरे नंबर पर बल्लेबाजी करने आया। हम विरोधी टीम को बताना चाहते थे कि हर परिस्थिति में हम यहां जीतने आए हैं।' केदार जाधव, मैन ऑफ़ द मैच - अपने देश के लिए घरेलू मैदान पर परिवार के सामने मैच जीतने का एहसास बहुत अच्छा है। अगर आप अपनी टीम को जीत दिलाए और देश का गौरव बढ़ाए तो सबसे सुखद भावना होती है। मैं इतना लंबा सिर्फ कप्तान कोहली के कारण खेल पाया। वह ऐसा कई बार कर चुके हैं और दर्शा चुके हैं कि विशाल स्कोर का पीछा कैसे किया जाता है। मैं विराट के साथ पहले कई बार बल्लेबाजी करने का अवसर गंवा चुका हूं और उन्होंने नजदीक से बल्लेबाजी करते देखने का आज सुनहरा मौका मिला। मेरे लिए यह जीत बहुत विशेष है। विराट के साथ क्रीज पर दौड़ना मुश्किल है। मेरे क्रेम्प्स अब ठीक हैं और मैं बेहतर महसूस कर रहा हूं। दिग्गज क्रिकेटरों ने ऐसे जाहिर की अपनी ख़ुशी

(2017 की पहली जीत! शाबाश टीम इंडिया, यह वर्ष की शानदार शुरुआत है, जीतते रहो)
(केदार और विराट शाबाश लड़कों, बहुत अच्छा खेले, मजा आ गया यार, बहुत बढ़िया, बधाई) (केदार जाधव के लिए बहुत ही भावनात्मक पल, लंबे संघर्ष का शानदार फल मिला) (जाधव के इस शतक की ख़ास बात यह रही कि वह पूरे समय नियंत्रित नजर आए, शांत होकर आक्रामक रहे) (एतिहासिक जीत के लिए बधाई टीम इंडिया, विराट के बल्ले से एक और विशेष पारी निकली, जाधव ने जिस तरह दबाव में खेला उससे बहुत प्रभावित हूं)
Published 15 Jan 2017
Fetching more content...
App download animated image Get the free App now