भारत बनाम इंग्लैंड-2016: 5 ऐसे खिलाड़ी जो सीरीज में साबित हो सकते हैं ट्रंप कार्ड

hardikkkk

भारत को इस सीजन में अपनी घरेलू सरजमीं पर 4 टेस्ट मैचों की सीरीज खेलना है | इनमें से बुधवार से इंग्लैंड के खिलाफ शुरु हो रही सीरीज सबसे रोमांचक होने की उम्मीद है | पिछले कुछ सालों से भारत का इंग्लैंड के खिलाफ प्रदर्शन शानदार रहा है , 2012 में इग्लैंड ने भारत को भारत में ही हराया था | हालांकि विराट कोहली की अगुवाई में भारतीय टीम टेस्ट में लगातार शानदार प्रदर्शन कर रही है | भारतीय टीम इस वक्त टेस्ट में नंबर वन चल रही है और वो 5 मैचों की सीरीज में इ्ंग्लैंड का सफाया कर अपना सारा हिसाब चुकता करना चाहेगी | हालांकि इस सीरीज में सबकी निगाहें भारतीय स्पिनरों और इंग्लैंड के टॉप ऑर्डर के बल्लेबाजों पर टिकी होंगी, लेकिन कुछ ऐसे भी प्लेयर हैं जो इस सीरीज में अपनी टीमों के लिए छुपे रुस्तम साबित हो सकते हैं | आइए जानते हैं 5 ऐसे ही खिलाड़ियों के बारे में जो सीरीज में अपने प्रदर्शन से सबको चौंका सकते हैं :


5. हार्दिक पांड्या

जब इंग्लैंड के खिलाफ 2 टेस्ट मैचों के लिए भारत की 15 सदस्यीय टीम का ऐलान हुआ, तो एक नाम ने सबका ध्यान अपनी तरफ खींचा, और वो थे हार्दिक पांड्या | हार्दिक पांड्या को फर्स्ट क्लास मैचों का ज्यादा अनुभव नहीं है, लेकिन फिर भी उन्हे टेस्ट टीम में डेब्यू का मौका दिया गया | हार्दिक पांड्या निचले क्रम में बल्लेबाजी तो अच्छी करते ही हैं, साथ ही वो भारत के लिए दूसरे सीम गेंदबाज के विकल्प के तौर पर टीम में शामिल किए जा सकते हैं | इससे भारत की बल्लेबाजी में भी गहराई बढ़ने की उम्मीद है| टी-20 में शानदार प्रदर्शन के बाद धर्मशाला में न्यूजीलैंड के खिलाफ हार्दिक पांड्या ने अपना वनडे डेब्यू किया और पहले ही मैच में उन्होंने अपने शानदार बॉलिंग से सबको प्रभावित किया | अगर भारत 5 बॉलरों के साथ उतरता है तो उन्हें टीम में जगह मिल सकती है| 4. जोस बटलर

jos-buttler-1478370529-800

बांग्लादेश के साथ 2 टेस्ट मैचों की सीरीज के लिए उन्हें टीम में जगह मिली थी, लेकिन अंतिम एकादश में वो जगह नहीं बना पाए | हालांकि स्पिन के खिलाफ इंग्लैंड के मध्यक्रम के बल्लेबाजों का प्रदर्शन अच्छा नहीं रहा है, जिससे कोच ट्रेवर बेसिस बटलर के नाम पर विचार कर सकते हैं, क्योंकि बटलर स्पिनरों को आक्रामक तरीके से खेलते हैं | बटलर हालांकि एकदिवसीय मैचों में तो लगातार खेल रहे हैं, लेकिन टेस्ट मैच खेले हुए उन्हें एक साल से ज्यादा का वक्त हो गया है | उन्होंने अपना आखिरी टेस्ट मैच दुबई में पाकिस्तान के खिलाफ खेला था | अगर इंग्लैंड के ऊपरी क्रम के बल्लेबाज अच्छा प्रदर्शन नहीं करते हैं तो स्पिन को काउंटर अटैक करने के लिए बटलर अच्छे विकल्प साबित हो सकते हैं | 3. आदिल रशीद

adil-rashid-1478370599-800

भारत की परिस्थितियों को देखते हुए इंग्लैंड ने इस बार अपनी टीम में स्पिनरों को ज्यादा अहमियत दी है | 2 ऑफ स्पिनर मोइन अली और गैरेथ बैट्टी के अलावा आदिल रशीद और लेफ्ट ऑर्म स्पिनर जफर अंसारी इंग्लैंड के स्पिन विभाग में विविधता ला रहे हैं | लेकिन देखने वाली बात ये होगी कि ये स्पिनर किस तरह से बॉलिंग करते हैं | भारत के पिछले दौरे पर इंग्लैंड ने खुद स्पिनरों के सहारे सीरीज में जीत हासिल की थी | इसलिए उनको पता है कि अगर भारत को उसके घरेलू मैदान पर हराना है तो उनके स्पिनरों को अच्छी बॉलिंग करनी होगी | भारत को लेग स्पिनरों के खिलाफ कुछ दिक्कत हुई है और अभी फिंगर स्पिन के खिलाफ भारतीय बल्लेबाजी जूझ रही है | ऐसे में गुच्छों में विकेट लेने की योग्यता के कारण आदिल रशीद इंग्लैंड के ट्रंप कार्ड साबित हो सकते हैं | 2. ऋद्धिमान साहा

saha match

ऋद्धिमान साहा भारतीय टीम के उन चुनिंदा प्लेयरों में से एक हैं , जिन्हें कई नाजुक मौकों पर अच्छे प्रदर्शन के बावजूद नजरंदाज किया गया | इस विकेटकीपर बल्लेबाज की योग्यता को हम केवल आंकड़ों के जरिए नहीं आंक सकते | उन्होंने भले ही 18 मैचों में 31.09 की औसत से सिर्फ 684 रन बनाए हों, लेकिन ये रन उन्होंने उस वक्त बनाए हैं, जब टीम को इसकी सबसे ज्यादा जरुरत थी | वहीं अपनी विकेटकीपिंग स्किल से भी उन्होंने सबको काफी प्रभावित किया है | टर्निंग बॉल पर उनकी विकेटकीपिंग लाजवाब रही है , ऐसे में वो इस सीरीज में भारत के तुरुप के इक्के साबित हो सकते हैं | 1. मोहम्मद शमी Indian cricketer Mohammed Shami delivers a ball the three-day tour match between India and WICB President's XI squad at the Warner Park stadium in Basseterre, Saint Kitts, on July 14, 2016. / AFP / Jewel SAMAD        (Photo credit should read JEWEL SAMAD/AFP/Getty Images) 2015 में घुटने की चोट के कारण वो क्रिकेट से पूरी तरह दूर रहे | शमी ने कुछ महीने पहले वेस्टइंडीज दौरे से वापसी की | जहां उन्होंने अपने एक स्पेल में टॉप कैरिबियाई बल्लेबाजों को पवेलियन की रास्ता दिखाया | उनका ये शानदार प्रदर्शन पूरी सीरीज में जारी रहा, वहीं उन्होंने हाल ही में हुए न्यूजीलैंड सीरीज में भी दमदार प्रदर्शन किया | कोलकाता में न्यूजीलैंड के साथ दूसरे टेस्ट में पुरानी बॉल के साथ उन्होंने धारदार गेंदबाजी की, शमी ने न्यूजीलैंड के निचले क्रम के बल्लेबाजों को जल्द समेटकर भारत की जीत की नींव रखी | ऐसे में जब सबकी निगाहें स्पिन तिकड़ी, अश्विन, जाडेजा और अमित मिश्रा पर टिकी हुई हैं , शमी अपनी रिवर्स स्विंग से भारत के लिए मैच जिताऊ साबित हो सकते हैं |

Edited by Staff Editor