Create
Notifications

विशाखापट्टनम की पिच दूसरे दिन से ही स्पिनरों के लिए मददगार होगी: पिच क्यूरेटर

Naveen Sharma

भारत और इंग्लैंड के बीच राजकोट में पहला टेस्ट मैच ड्रॉ होने के बाद, सौराष्ट्र क्रिकेट संघ के पिच को लेकर बहस देखने को मिली थी कि इस पिच पर स्पिन गेंदबाजों को कोई मदद नहीं मिली। अब विशाखापट्नम में होने वाले सीरीज के दूसरे मैच से पहले वहाँ के पिच क्यूरेटर ने पिच पर घास नहीं होने की बात कही है तथा दूसरे दिन से गेंद के टर्न होने का दावा किया है। पहले टेस्ट में भारतीय स्पिनरों, खासकर अश्विन अपने नाम के अनुरूप प्रदर्शन नहीं कर पाए थे। साथ ही रविन्द्र जडेजा और अमित मिश्रा भी उम्मीद के मुताबिक अपनी गेंदबाजी से प्रभावित नहीं कर पाए थे। PTI से बातचीत करते हुए पिच क्यूरेटर कस्तुरी श्रीराम ने कहा “यहाँ दूसरे दिन से गेंद घूमना शुरू हो जाएगी, पिच में घास नहीं है।“ उन्होंने आगे कहा “उन्हें भारतीय टीम प्रबंधन से पिच से संबन्धित कोई निर्देश प्राप्त नहीं हुए है। कल मौसम ठंडा था तथा आज काफी गरम है, और ऊमस से विकेट सूख चुकी है, हम इसे मैच की पूर्व संध्या पर देखेंगे।" इंदौर और राजकोट के बाद विशाखापट्नम में भी यह पहला टेस्ट मैच होगा। इस प्रकार भारत में टेस्ट मैच के मैदानों की सूची में एक और नया नाम जुड़ जाएगा। इस पिच पर राजस्थान और असम के बीच हुए रणजी मैच में असम की पूरी टीम 69 रन बनाकर आउट हो गई थी और मैच तीन दिन से पहले खत्म हो गया था। अभी हाल ही में भारत और न्यूजीलैंड के बीच हुई पाँच वन-डे मैचों की सीरीज के आखिरी एकदिवसीय मैच में विशाखापट्नम की पिच स्पिनरों के लिए वरदान साबित हुई थी। इसमें न्यूजीलैंड की टीम 100 से भी कम के स्कोर पर सिमट गई थी। इस मैच में भारतीय लेग स्पिन गेंदबाज अमित मिश्रा ने पाँच विकेट झटके थे। सभी तथ्यों को ध्यान में रखें तो यहाँ भी टॉस मुख्य भूमिका निभाएगा तथा मैच के दिन दोनों टीमों की खेलने वाली एकादश पर नजर डालना भी दिलचस्प होगा।


Edited by Staff Editor

Comments

Fetching more content...