Create
Notifications

भारत Vs इंग्लैंड 2017, पहला वनडे – भारतीय खिलाड़ियों की रेटिंग

Modified 21 Sep 2018

खचाखच क्रिकेट फैंस से भरे पुणे क्रिकेट स्टेडियम में तीन वनडे मैचों की सीरीज का पहला वनडे मैच खेला गया। भारतीय कप्तान विराट कोहली ने फ्लैट पिच और ओस को ध्यान में रखकर टॉस जीतकर पहले गेंदबाजी करने का फैसला किया। टॉस हारकर पहले बल्लेबाजी करने उतरी इंग्लैंड की टीम ने निर्धारित 50 ओवरों में 350 का पहाड़ जैसा स्कोर खड़ा किया। इंग्लैंड की तरफ से सबसे ज्यादा 78 रन रूट ने बनाए। वहीं, रॉय ने 72 रन और स्टोक्स ने 62 रनों की धमाकेदार पारी खेली। लेकिन इसके बावजूद भी कोहली और एंड कपंनी को रोक पाने के लिए ये लक्ष्य काफी नहीं था और भारत ने 3 विकेट से शानदार जीत दर्ज करते हुए सीरीज में 1-0 की बढ़त बना ली है। चलिए भारतीय खिलाड़ियों को उनके प्रदर्शन के आधार पर 1 से 10 बीच में रेटिंग देते हैं :


विराट कोहली -9.5 भारत की 'रन मशीन' विराट कोहली ने पुणे वनडे में शानदार 122 रनों की पारी खेली। कोहली ने अपनी पारी में 8 चौके और 5 छक्के लगाए। ये कोहली का 27वां वनडे शतक था। पुणे वनडे में भारतीय टीम के कप्तान ने जुझारू पारी खेलने के साथ ही महान बल्लेबाज सचिन तेंदुलकर के एक रिकॉर्ड की बराबरी कर ली। लक्ष्य का पीछा करने के दौरान सबसे ज्यादा शतक सचिन तेंदुलकर के नाम हैं। उन्होंने कुल 17 शतक बनाए हैं। विराट भी इस मामले में उनके बराबर पहुंच गए हैं। पुणे वनडे में उन्होंने यह कारनामा कर दिखाया। इतना ही नहीं विराट के ज्यादातर शतक भारत के लिए जीत लेकर आए हैं। कोहली ने कुल 27 शतक लगाए हैं, जिसमें से 23 बार टीम को जीत मिली है। केदार जाधव -9.5 भारत की जीत में विराट कोहली के साथ-साथ केदार जाधव ने भी अहम भूमिका निभाई। केदार ने महज 76 गेंदों में 12 चौकों और 4 छक्कों की बदौलत 120 रन की धुआंधार पारी खेली। जाधव ने रनरेट को बरकरार रखते हुए 157.89 की स्ट्राइक रेट से रन बनाए। केदार ने ऐसे में समय में जीत की नींव रखी जब टीम बेहद दबाव में थी। जाधव ने अपने घरेलू मैदान पर 13वें वनडे मैच में ही भारत के लिए छठा सबसे तेज शतक जड़ा। हार्दिक पांड्या -8.5
विराट कोहली के आउट होने के बाद ऐसा लगा कि कहीं यह मैच का टर्निंग पॉइंट साबित न हो जाए। मैदान पर आए हार्दिक पांड्या ने पहले केदार जाधव के साथ जोड़ी बनाने की कोशिश की। बाद में उसके आउट होने के बाद एक छोर थामे रखा। सिंगल लेकर स्ट्राइक भी रोटेट करते रहे। पांड्या ने 37 गेंदों में नाबाद 40 रन बनाए, जिसमें 3 चौके और एक छक्का लगाया। बल्ले के साथ साथ पांड्या ने गेंद से भी कमाल दिखाया। उन्होंने इयोन मोर्गन और जोस बटलर का विकेट लिया। पांड्या ने 9 ओवर में 46 रन देकर दो विकेट चटकाए। रविंद्र जडेजा – 7 लेफ्ट ऑर्म स्पनिर रविंद्र जडेजा ने बैटिंग फ्रेंडली विकेट पर एक बार फिर अपनी उपयोगिता साबित करते हुए किफायती गेंदबाजी की। उन्होंने मिडिल ओवर्स में इंग्लैंड के बल्लेबाजों को बांध कर रखा। जडेजा ने 10 ओवर में 5 के इकोनोमी रेट से 50 रन दिए और 73 रन बना चुके जेसन रॉय का अहम विकेट चटकाया। हालांकि लक्ष्य का पीछे करते हुए जब जडेजा बल्लेबाजी करने उतरे तो उन्होंने दबाव में आकर गलत शॉट खेलकर अपना विकेट गवां दिया। जडेजा ने महज 13 रन बनाए। जसप्रीत बुमराह- 6 जसप्रीत बुमराह के प्रदर्शन पर नजर डालें तो वो इस मैच में थोड़े मंहगे साबित हुए। बुमराह ने इस मैच में 7.90 की इकोनोमी रेट से 79 रन लुटा दिए। हालांकि इस दौरान उन्होंने जो रूट और बेन स्टोक्स के अहम विकेट भी चटकाए। फील्डिंग के मोर्चे पर बुमराह ने दमदार प्रदर्शन किया, जब सातवें ओवर में उमेश यादव की दूसरी गेंद पर जेसन रॉय ने फाइन लेग की ओर शॉट खेला तो जसप्रीत बुमराह गेंद पर लपके और रॉय दूसरे रन के लिए भी दौड़ पड़े, लेकिन बुमराह ने सीधे थ्रो से नॉन-स्ट्राइकर एंड पर विकेट उखाड़ कर रख दिया। बुमराह के इस जानदार थ्रो से ऐलक्स हेल्स को पवेलियन का रास्ता नापना पड़ा। उमेश यादव - 5 इस मैच में उमेश यादव का प्रदर्शन भी कुछ खास नहीं रहा। उमेश भी काफी मंहगे साबित हुए। उन्होंने 7 ओवर में 9 के इकोमोनी रेट से 63 रन दिए। यादव को सिर्फ 1 विकेट विकेट मिला। उन्होंने 28 रन के निजी स्कोर पर मोइन अली को बोल्ड किया। रविचंद्रन अश्विन – 4.5 पुणे वनडे में टीम इंडिया के ट्रंप कार्ड आर अश्विन भी नहीं चले। अश्विन ने राउंड द विकेट आकर गेंद फेंकी और वो काफी डिफेंसिव मोड में चले गए थे, जिसकी वजह से उन्होंने 8 ओवर में 7.87 की औसत से 63 रन खर्च किए। युवराज सिंह- 3.5 युवराज सिंह जब बल्लेबाजी करने के लिए उतरे उस समय टीम इंडिया बेहद दबाव में थी। टीम इंडिया अपने दोनों ओपनर्स के विकेट जल्दी खो चुकी थी, जिसके बाद युवराज सिंह मैदान पर आए तो उन्होने कोहली के साथ मिलकर रन गति को आगे बढ़ाना शुरू किया और उस समय टीम को युवराज से बड़ी पारी की उम्मीद भी थी और जरूरत भी। मगर इससे पहले की युवराज अपनी पारी को आगे बढ़ाते, उन्हें बेन स्टोक्स ने जोस बटलर के हाथों कैच करवा दिया। युवराज ने 12 गेंदों में 15 रन बनाए। एम एस धोनी-3 एम एस धोनी 9 साल बाद सिर्फ बतौर बल्लेबाज की हैसियत से मैदान पर उतरे थे। ऐसे में उन पर कप्तानी का कोई दबाव भी नहीं था और उम्मीद की जा रही थी कि वो खुलकर अपना गेम खेलेंगे और साथ टीम इंडिया को इस संकट से भी उबारेंगे , लेकिन 12वें ओवर में जेक बॉल की गेंद पर पुल शॉट लगाने के चक्कर में चूके और गेंद काफी ऊपर तक हवा में चली गई, जिसे मिडविकेट पर डेविड विली ने लपक लिया। के एल राहुल- 2 रोहित शर्मा चोट की वजह से टीम से बाहर हैं तो ऐसे में उनकी जगह केएल रहुल पर ये जिम्मेदारी थी कि वो पॉवरप्ले के दौरान ज्यादा से ज्यादा रन बटोरें। मगर इस दाएं हाथ के बल्लेबाज को डेविड विली ने टिकने का मौका नहीं दिया। विली ने राहुल को 8 रन पर बोल्ड कर दिया। शिखर धवन -1 इस समय ओपनिंग स्लॉट में जबरदस्त कॉम्पिटिशन को देखते हुए शिखर धवन को अपनी जगह पक्की करने के लिहाज से इस मैच में स्कोर करना बहुत जरूरी था। मगर वो इस मौके को भुना नहीं पाए। धवन 10 गेंदों पर 1 रन बनाकर डेविड विली का शिकार बने।
Published 17 Jan 2017
Fetching more content...
App download animated image Get the free App now