Create
Notifications

भारत vs इंग्लैंड, दूसरा वनडे मैच- भारतीय खिलाड़ियों की रेटिंग

Modified 21 Jan 2017
पहले वनडे मैच में 350 रन के पहाड़ से स्कोर को टीम इंडिया ने 11 गेंद शेष रहते ही हासिल कर लिया। अब सीरीज में 1-0 की बढ़त के साथ टीम इंडिया कटक के बाराबती स्टेडियम पहुंची। दूसरे वनडे मैच में इंग्लैंड ने टॉस जीतकर पहले गेंदबाजी का फैसला किया। इंग्लैंड ने ये फैसला इस चीज को ध्यान में रखकर भी लिया कि पहले वनडे में 351 रन के लक्ष्य का पीछा करते हुए भारत ने जीत दर्ज की थी। अब ऐसे में इंग्लैंड की टीम चाहती थी कि भारत पहले बल्लेबाजी करें, जिससे उन्हें चेज करने का मौका मिले और वो उसके मुताबिक अपनी रणनीति बना सकें। इंग्लैंड के तेज गेंदबाज क्रिस वोक्स ने अपने कप्तान के फैसले को सही साबित करते हुए, टीम इंडिया को शुरुआती झटके दिए और जल्द ही भारतीय टॉप ऑर्डर वापस पवेलियन में बैठा नजर आया। एक समय पर भारत का स्कोर 25 रन पर 3 विकेट था। अब ऐसा लग रहा था कि यहां से कोई चमत्कार ही टीम इंडिया की डूबती नैया को पार लगा सकता है और हुआ भी ठीक ऐसा ही। युवराज सिंह और महेन्द्र सिंह धोनी ने मिलकर चौथे विकेट के लिए 256 रन की महत्वपूर्ण साझेदारी की। दोनों अनुभवी बल्लेबाजों ने मिलकर इंग्लिश गेंदबाजी की कमर तोड़कर रख दी। युवराज और धोनी की ताबड़तोड़ बल्लेबाजी के दमपर टीम इंडिया ने इंग्लैंड को 382 रन का लक्ष्य दिया। इसके जवाब में बल्लेबाजी करने उतरी मेहमान टीम के लिए कप्तान इयोन मोर्गन ने शतकीय पारी खेली और आखिरी समय तक इंग्लैंड को मैच में बनाए रखा। लेकिन इयोन मोर्गन के रन आउट होने के बाद भारत ने इस मैच में 15 रन जीत दर्ज की। इस जीत के साथ ही टीम इंडिया ने सीरीज में भी 2-0 की अजेय बढ़त हासिल कर ली है। आइए आपको बताते हैं इस शानदार जीत में किस खिलाड़ी ने कितना योगदान दिया युवराज सिंह-9.5 हमारी रेटिंग में पहले नंबर पर युवराज का राज है। युवराज सिंह के प्रदर्शन को देखकर हम कह सकते हैं कि वापसी हो तो सिक्सर किंग के जैसी हो। जी हां युवराज जब मैदान पर आए तो भारत का स्कोर 25/3 था। क्रिस वोक्स ने तीन विकेट लेकर भारतीय बल्लेबाजी को बुरी तरह झकझोर दिया था। युवी ने शुरू से ही आक्रामक अंदाज अपनाए रखा। तकरीबन दो साल बाद वनडे टीम में वापसी करने वाले युवराज सिंह ने लगभग 6 साल बाद वनडे क्रिकेट में शतक जमाया। ये युवराज के करियर का 14वां शतक था। शतक बनाने के लिए युवराज ने 98 गेंदों का सामना किया। जिसमें 14 चौके और दो छक्के भी शामिल थे। युवराज सिंह 127 गेंदों में 150 रन बनाकर आउट हुए। लेकिन आउट होने से पहले वो टीम इंडिया को मजबूत स्थिति में पहुंचा चुके थे। युवी ने अपनी पारी में 21 चौके और 3 छक्के लगाए। इससे पहले युवी का सर्वश्रेष्ठ1 प्रदर्शन 139 रन था। जो उन्होंने 2004 में सिडनी में ऑस्ट्रे लिया के खिलाफ बनाए थे। एम.एस धोनी -9 महेंद्र सिंह धोनी की विस्फोटक पारी की बदौलत टीम इंडिया 381 रन का विशाल स्कोर बनाने में सफल रही। धोनी ने शुरुआत में धीमा खेला और पारी को संवारने की कोशिश की। सेट होने के बाद वो अपने चित परिचित अंदाज में लौट आए। धोनी ने 106 गेंदों में अपना 10वां वनडे शतक पूरा किया। धोनी ने अपनी पारी में 10 चौके और 6 छक्के लगाए। वनडे क्रिकेट में धोनी के बल्ले से शतक 4 साल के लंबे इंतजार के बाद निकला है। 48वें ओवर में धोनी ने लियाम प्लेंकट की जमकर धुनाई की। धोनी ने प्लेंकट को तीन छक्के जड़े। हालांकि आखिरी गेंद पर छक्का लगाने के चक्कर में वो स्क्वेयर लेग बाउंड्री पर कैच थमा बैठे। इससे पहले धोनी ने 19 अक्टूबर 2013 में ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ शतक लगाया था। 6-1484839537-800 रविचंद्रन अश्विन-9 पुणे वनडे की तुलना में कटक वनडे में भारत के गेंदबाजों का प्रदर्शन काफी अच्छा रहा। बाराबती की फ्लैट पिच पर ट्रंप कार्ड माने जाने भारतीय स्पिनर आर. अश्विन ने तीन महत्वपूर्ण विकेट चटकाए। अश्विन ने 10 ओवर में 65 रन देकर जो रूट, बेन स्टोक्स और बटलर का विकेट लिया। अश्विन ने ओवर द विकेट गेंदाबाजी करते हुए मिडिल ओवर्स में टीम को अहम सफलता दिलाई। भुवनेश्वर कुमार- 9 पहले वनडे मैच में महंगे साबित हुए उमेश यादव को हटाकर कटक वनडे में भुवनेश्वर कुमार को टीम में लाया गया। भुवी भी अपने के भरोसे पर खरे उतरे। उन्होंने शुरूआत से ही इंग्लैंड के बल्लेबाजों पर लगाम लगा कर रखी। इसके बाद डेथ ओवरों में उन्होंने टीम इंडिया के लिए खरतनाक साबित हो रहे मोइन अली को बोल्ड कर टीम इंडिया को राहत की सांस दिलाई। इतना ही नहीं भुवनेश्वर कुमार ने आखिरी ओवर में इंग्लैंड को सिर्फ 6 रन दिए। जिससे ये पता चलता है कि मुश्किल स्थिति में भुवी दबाव को खुद पर हावी नहीं होने देते। भुवनेश्वर ने 10 ओवर में 6.30 के इकोनोमी रेट से 63 रन दिए। रविन्द्र जडेजा-7.5 स्कोर बोर्ड प्रेशर के बावजूद अपने आप को शांत रखकर अपनी लाइन लेंथ से गेंदबाजी करना कोई रविंद्र जडेजा से सीखे। रविंद्र जडेजा ने भी किफायती गेंदबाजी की और इंग्लिश बल्लेबाजों को अपने हाथ खोलने के मौके नहीं दिए। जडेजा ने 10 ओवर में 4.50 के बेहतरीन इकोनोमी रेट से सिर्फ 45 रन दिए। इस दौरान उन्होंने जेसन रॉय का कीमती विकेट भी लिया। हालांकि इस मैच में जडेजा से जो एक बड़ी गलती हुई, वो थी 37 रन के निजी स्कोर पर मोइन अली का कैच छोड़ना। जसप्रीत बुमराह-7.5 तेज गेंदबाज जसप्रीत बुमराह ने टीम इंडिया को पहला ब्रेक थ्रू दिलाया। उन्होंने तीसरे ही ओवर में ओपनर एलेक्स हेल्स को चलता किया। बुमराह ने 9 ओवर में 9 के इकोनोमी रेट से 81 रन दिए। हालांकि वो थोड़े महंगे जरूर साबित हुए लेकिन पारी के 49वें ओवर में बुमराह ने महज 11 रन दिए और इंग्लैंड के कप्तान इयोन मोर्गन को रन आउट कर इंग्लैंड के मैच जीतने की उम्मीद को पूरी तरह से तोड़ दिया। केदार जाधव- 5 पहले वनडे मैच के हीरो रहे केदार जाधव ने कटक में रनगति को बरकरार रखते हुए 10 गेंदों में 22 रन बनाए। इससे पहले कि वो अपनी अच्छी शुरूआत को बड़ी पारी में तब्दील करते उन्हें लियाम प्लेंकट ने जैक बॉल के हाथों कैच आउट करवा दिया। गेंदबाजी के मोर्चे पर भी जाधव कुछ खास नहीं कर पाए। जब कप्तान कोहली ने उन्हें इंग्लैंड के बल्लेबाजों पर अंकुश लगाने के लिए गेंद थमाई तो जाधव उसमें कामयाब नहीं हो पाए। उन्होंने 5 ओवर में 9 के इकोनोमी रेट से 45 रन लुटाए। हार्दिक पांड्या -4.5 गेंदबाजी की बात की जाए तो हार्दिक ने काफी निराश किया। उन्होंने 6 ओवर में 10 के इकोनोमी रेट से 60 रन दे डाले। हालांकि टीम इंडिया की बल्लेबाजी के दौरान उन्होंने अहम योगदान दिया। पांड्या ने आखिरी ओवरों में 9 गेंदों में 19 रन जोड़कर टीम के स्कोर को 350 के पार पहुंचाने में मदद की। पांड्या ने इस दौरान 2 चौके और 1 छक्के भी जड़ा। विराट कोहली -3 इंग्लैंड हमेशा से अपनी रणनीति कप्तान विराट कोहली को ध्यान में रखकर बनाती है क्योंकि अंग्रेजों को भी अच्छे से पता है कि कोहली का चलना मतलब विरोधियों की हार है। इस मैच में जब कोहली बल्लेबाजी करने उतरे तो उन्होंने 2 शानदार स्ट्रेट ड्राइव लगाते हुए गेंद को बाउंड्री पार पहुंचाया। लेकिन इसके बाद वो क्रिस वोक्स की फुलर डिलीवरी पर चकू गए और बल्ले का एज लगा बैठे। कोहली ने 5 गेंदों में 8 रन बनाए। के एल राहुल -2 के एल राहुल ने शानदार कवर ड्राइव के साथ अपनी पारी की शुरुआत की लेकिन जल्द ही उन्हें पवेलियन का रास्ता देखना पड़ा। राहुल को क्रिस वोक्स ने बेन स्टोक्स के हाथों कैच करवाया। उन्होंने ने 5 गेंदों पर 5 रन बनाए। राहुल को अपनी लेट मूवमेंट की दिक्कत पर काम करने की जरूरत है। शिखर धवन -1.5 हमारी इस रेटिंग में सबसे आखिरी नंबर पर हैं शिखर धवन। धवन ने कुछ स्टाइलिश कवर ड्राइव जरूर खेली लेकिन इसके बाद उन्होंने जल्द ही क्रिस वोक्स को रिटर्न कैच दिया हालांकि किस्मत यहां पर धवन के साथ थी। वोक्स से उनका कैच छूट गया। हालांकि किस्मत से मिले इस मौके को भी धवन भुना नहीं पाए आखिरकार क्रिस वोक्स ने उन्हें बोल्ड किया। धवन ने 15 गेंदों में 11 रन बनाए। धवन के लगातार खराब प्रदर्शन को देखते हुए उम्मीद जताई जा रही है कि अगले वनडे मैच में टीम मैनेजमेंट उन्हें बाहर का रास्ता दिखा सकती है। ऐसे में उनकी जगह प्लिंग इलेवन में अजिंक्य रहाणे को मौका मिल सकता है।
Published 21 Jan 2017
Fetching more content...
App download animated image Get the free App now