सोलह वर्षीय भारतीय महिला क्रिकेटर ऋचा घोष ने कोरोना की लड़ाई में राशि दान में दी

 ऋचा घोष
ऋचा घोष

हाल ही में भारतीय महिला टीम के लिए टी20 वर्ल्ड कप में खेलकर आई ऑल राउंडर ऋचा घोष ने कोरोना वायरस की लड़ाई में एक लाख रूपये दान दिए हैं। बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी की अपील के बाद ऋचा के पिता ने सिलीगुड़ी जिला मजिस्ट्रेट को अपनी सहयोग राशि का चेक सौंपा। ऑस्ट्रेलिया में हाल ही में हुए महिला टी20 वर्ल्ड कप में ऋचा ने दो मैच खेले थे।

एक रिपोर्ट के अनुसार ऋचा ने कहा कि मुख्यमंत्री की अपील के बाद लगा मुझे लगा कि देश की जिम्मेदार नागरिक होने के नाते मुझे अपने हिस्से का सहयोग करना चाहिए। ऋचा ने अपने इस सहयोग से अन्य सभी खिलाड़ियों के सामने एक मिसाल मेष की है। देखना होगा कि और कौन से खिलाड़ी इस लड़ाई में आगे आते हैं।

यह भी पढ़ें: 3 भारतीय खिलाड़ी जो कोरोना की लड़ाई में बड़ी राशि दे सकते हैं

ऋचा ने अपने क्रिकेट करियर की शुरुआत टी20 वर्ल्ड कप से पहले ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ त्रिकोणीय सीरीज से की थी। वर्ल्ड कप में उनके अलावा शेफाली वर्मा ही एक ऐसी खिलाड़ी थीं जिनकी उम्र सोलह साल है। इस खिलाड़ी के अलावा भी बंगाल क्रिकेट के अन्य कई नामों ने भी अपने हिस्से से कुछ न कुछ सहयोग राशि दी।

इस भारतीय महिला खिलाड़ी को अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट में आए हुए अभी ज्यादा समय भी नहीं हुआ लेकिन अपनी जिम्मेदारी और देश के प्रति लगाव को आगे लेकर जाते हुए उन्होंने यह सराहनीय काम किया है। सभी को फिलहाल भारतीय पुरुष क्रिकेट टीम के खिलाड़ियों से काफी ज्यादा उम्मीदें हैं। महिला टीम और पुरुष टीम की कमाई में रात-दिन का अंतर है ऐसे में इस सोलह वर्षीय खिलाड़ी ने बेहतरीन उदाहरण पेश किया है। कोरोना जैसी वैश्विक लड़ाई में विश्व समुदाय काफी संकट के दौर से गुजर रहा है। कई जानें गई है और कई लोग अस्पतालों में भर्ती हैं।

Quick Links

App download animated image Get the free App now