COOKIE CONSENT
Create
Notifications
Favorites Edit

क्या 39वें टेस्ट मैच में भी बदलाव से नहीं बचेगी टीम इंडिया ?

20   //    30 Aug 2018, 02:55 IST

भारत और इंग्लैंड के बीच चौथा टेस्ट गुरुवार से साउथ हैंप्टन में खेला जाएगा। तीसरे टेस्ट में जीत के बाद भारतीय टीम आत्मविश्वास से भरी है। इस जीत ने टीम को सीरीज में वापसी दिला दी। अब यह चर्चा भी जोरो पर है कि क्या कप्तान विराट कोहली अपनी आदतों के अनुरूप टीम में बदलाव करेंगे या पिछले मैच की विजेता टीम को ही रणभूमि में उतारेंगे। कोहली ने पिछले 38 टेस्ट मैचों में लगातार बदलाव किए हैं। जानकारों के मुतबिक फिलहाल जो अंतिम एकादश है वह इंग्लैंड के हालातों के माकूल है। हालांकि कोहली पहले भी जीतने वाली टीम में बदलाव करते आए हैं। ऐसे में यह कहना मुश्किल है कि वे अगले मैच में क्या करेंगे।

अश्विन की चोट बनेगी टीम में बदलाव की वजह ?



दरअसल, महेंद्र सिंह धोनी के टेस्ट क्रिकेट से संन्यास लेने के बाद से विराट ने चार साल में लगातार टीम में बदलाव किए हैं। विनिंग इलेवन को मौका देने की परंपरा को कोहली ने तोड़ा है। वे टीम चयन को लेकर बेहद ही आक्रमक रवैया अपनाते हैं। हालांकि अगर वे ऐसा नहीं करते हैं तो यह खुद में एक रिकॉर्ड बन जाएगा। लेकिन आर अश्विन की चोट और पिच का हाल टीम में बदलाव के लिए उन्हें उकसा सकता है। सूखे पिच पर जहां जसप्रीत बुमराह विरोधियों को परेशान कर सकते हैं वहीं हरियाले पिच पर मोहम्मद शमी टीम के लिए ज्यादा कारगर होंगे। इसका मतलब है कि अश्विन की चोट और पिच का हाल ही अंतिम एकादश का चयन करेगा।

बल्लेबाजी में फेरबदल से बचेंगे कोहली



अभ्यास सत्र के दौरान शिखर धवन, लोकेश राहुल, चेतेश्व पुजारा और ऋषभ पंत को पसीना बहाते देख कर आसानी से यह अंदाजा लगाया जा सकता है कि बल्लेबाजी क्रम या बल्लेबाजों मेें फेरबदल की गुंजाइश बहुत कम है। तीसरे टेस्ट में शीर्ष क्रम के साथ मध्य और निचले क्रम ने अच्छा प्रदर्शन किया था। पंत की बल्लेबाजी को थोड़ी देर के लिए नजरअंदाज करें तो विकेटकीपिंग में उन्होंने बेहतर किया है। वहीं रहाणे और पुजारा ने भी दो-चार कदम आगे बढ़ाए हैं। हालांकि अंतिम दो टेस्ट मैच के लिए चयनकर्ताओं ने पृथ्वी शॉ और हनुमा विहारी को 18 सदस्यीय टीम में शामिल किया है। इसलिए अगर कोई भी बल्लेबाज फिटनेस में चूकता है तो इन्हें मौका मिल सकता है।

पृथ्वी और विहारी को कहां करेंगे फिट



क्रिकेट जगत के तमाम दिग्गज पृथ्वी शॉ को चौथे टेस्ट में अंतिम एकादश में शामिल करने के पक्ष में हैं। उनका मानना है कि शॉ बल्लेबाजी तकनीक और बैकफुट पर खेलने की कला यहां के माहौल के लिए सही है। अभ्यास सत्र के दौरान भी पृथ्वी ने बुमराह और शमी की गेंदों का बेहतर तरीके से सामना किया। लेकिन सवाल तो यही है कि उन्हें किसकी जगह फिट किया जाएगा। पहले ऐसी बात चली कि कोहली को हल्की चोट है और पृथ्वी को उनके बैकअप के लिए टीम में शामिल किया गया है। हालांकि कप्तान अगले मैच के लिए पूरी तरह तैयार हैं। ऐसे में तो बस एक ही रास्ता बचता है। अगर अश्विन मैच में नहीं खेलते हैं और कप्तान एक अतिरिक्त बल्लेबाज खेलाने के लिए तैयार हो जाएं तो उनके लिए जगह बन सकती है।

ANALYST
संदीप भूषण राष्ट्रीय अखबार जनसत्ता में खेल पत्रकार के तौर पर कार्यरत हैं। इससे पहले वह दैनिक जागरण में भी काम कर चुके हैं। इनके क्रिकेट और हॉकी के साथ ही कबड्डी, फुटबॉल और कुश्ती से जुडे कई लेख राष्ट्रीय अखबारों में छप चुके हैं।
Fetching more content...