Create
Notifications

IPL 2017: 5 कारण आखिर क्यों सनराइजर्स हैदराबाद के पास मौजूद है सबसे बेहतरीन गेंदबाजी आक्रमण

शुभम पांडे
visit

आईपीएल 2017 की फटाफट क्रिकेट प्रतियोगिता के 13 मैचों में 7 मैच जीत कर प्लेऑफ की लड़ाई में अपना मजबूत दावा पेश करने वाली गत चैंपियन टीम सनराइजर्स हैदराबाद ने अपना दमखम सभी को दिखा दिया है। सनराइजर्स की टीम में जहां एक ओर उनके कप्तान डेविड वॉर्नर इस साल सबसे ज्यादा रन बना कर ऑरेंज कैप पर कब्ज़ा बरक़रार रखा है, वहीं दूसरी ओर हैदराबाद की उच्च स्तर की गेंदबाजी ने एक बार फिर पिछले साल की तरह इस बार भी अपना जलवा कायम रखा है। इस टीम के प्रबंधन ने हर साल अपनी टीम सनराइजर्स में बहुत सटीक गेंदबाजी इकाई को चुना और उनकी प्रतिभा को निखारा भी है , तभी तो इस टीम से हर साल कई युवा गेंदबाज़ होनहार बन कर निकलते हैं, जिसके कारण इस साल आईपीएल 10 में हैदराबाद की गेंदबाजी इकाई ने अभी तक अपना लोहा मनवा रखा है। आइये जानते है हैदराबाद की उच्च स्तर की गेंदबाजी का कारण क्या है: #भुवनेश्वर कुमार की मौजूदगी bhuvneshwar-kumar-sunrisers-hyderabad-1494052497-800 शांत दिमाग के मध्यम गति के तेज़ गेंदबाज़ भुवनेश्वर कुमार को टी20 का सर्व कला संपन्न गेंदबाज़ माना जाता है। भुवनेश्वर ना सिर्फ अपनी गेंद को हवा में अंदर और बाहर दोनों और स्विंग करते हैं बल्कि एक ही जगह पर स्पॉट बना कर गेंदबाजी भी कर लेते हैं। मैच की शुरुआत में पॉवर प्ले के दौरान इनको शॉट मारना काफी मुश्किल होता है जिसके कारण ये पॉवर प्ले में विकेट चटकाते नज़र आते हैं। वही अगर बात की जाये मैच के आखरी ओवर्स की जिन्हें डेथ ओवर्स कहते हैं, उनमें भी इनका कमाल का प्रदर्शन रहा है। डेथ ओवर्स में भुवी अपनी परफेक्ट यॉर्कर व गति में मिश्रण कर बल्लेबाजों को चकमा देते हैं तथा इन आखिरी के ओवर्स में रन लुटाने के बजाये विकेट निकाल अपनी टीम को मजबूती प्रदान करते हैं। भुवनेश्वर कुमार 12 मैच खेल कर सबसे ज्यादा 23 विकेट लेने वाले आईपीएल 2017 के पर्पल कैप धारी गेंदबाज बने हुए हैं। अगर वो इसी तरह की शानदार गेंदबाजी को जारी रखते हैं, तो आईपीएल के एक सीजन में 32 विकेट लेने का ड्वेन ब्रावो के रिकॉर्ड को भी तोड़ सकते हैं। विकेट लेने के साथ-साथ अगर भुवी के इकॉनमी रेट की बात की जाये तो उन्होंने काफी किफायती गेंदबाजी की हैं। पॉवर प्ले और आखिरी के ओवर को मिला कर अगर देखा जाये तो उनका औसत 7 रन प्रति ओवर ही रहा है, जो की भुवनेश्वर कुमार के लिए एक बड़ी उपलब्धि है। #राशिद खान की आक्रामक फिरकी rashid-khan-sunrisers-hyderabad-1494052906-800 यदि भुवनेश्वर कुमार हैदराबाद की गेंदबाजी के प्रमुख हथियार हैं, तो वहीं राशिद खान उसके X फैक्टर हैं। लेग स्पिनर राशिद खान अफ़ग़ानिस्तान क्रिकेट की देन हैं और इस बार अपना पहला आईपीएल सीजन खेल रहे हैं। राशिद आईपीएल खेलने वाले पहले अफगानी खिलाड़ी हैं। राशिद ने अपनी घूमती गेंदों से सभी टीम के बल्लेबाजों को आईपीएल 2017 में नचा रखा है। हैदराबाद के कप्तान डेविड वॉर्नर को जब-जब विकेट की जरूरत लगी उन्होंने राशिद खान का इस्तेमाल किया और राशिद ने उनको मध्य क्रम के ओवर्स में विकेट निकाल कर दिए । राशिद ने कमाल का प्रदर्शन जारी रखते हुए 10 मैचो में 12 विकेट लिए और उनका औसत 6.82 का है।#भारतीय पेस इकाई mohammed-siraj-1494053104-800 जिस तरह मैच में बल्लेबाजों के बीच एक साझेदारी मैच को जीता देती हैं, ठीक उसी तरह गेंदबाजों की जोड़ी भी मैच को अपनी ओर खिंचने में कामयाब होती है। हैदराबाद की टीम में भुवनेश्वर कुमार के साथ- साथ उनके जोड़ीदार तेज़ गेंदबाज़ आशीष नेहरा, सिद्धार्थ कॉल और मोहम्मद सिराज हैं। इस भारतीय तिकड़ी ने भी अपनी लहराती गेंदों का उम्दा नज़ारा प्रदर्शित कर 15 मैचों में 22 विकेट लिए हैं। सनराइजर्स की गेंदबाजी इकाई में आशीष नेहरा का अनुभव जहां एक ओर टीम को काफी मजबूती प्रदान करता हैं, वहीं हैदराबाद की टीम में इस साल दो युवा नए भारतीय चेहरों ने अपनी गेंदबाजी से बड़ा प्रभावित किया हैं। इनमें से एक हैं सिद्धार्थ कॉल, जिन्होंने अपनी गेंदबाजी में चतुराई का जबरदस्त नमूना पेश किया तथा दूसरे हैदराबाद के ही रहने वाले तेज़ गेंदबाज़ मोहम्मद सिराज, जिन्होंने अपने गेंदबाजी एक्शन, स्विंग और मिश्रित गेंदबाजी से काफी सबका दिल जीत लिया हैं। इस तरह ये मज़बूत भारतीय गेंदबाजी इकाई सनराइजर्स की गेंदबाजी में चार चाँद लगाने का काम कर रही हैं। #स्मार्ट मैनेजमेंट mustafizur-rahman-ipl-1494053472-800 ये एक बहुत महत्वपूर्ण कारण है कि मैच को जीतने से ही कोई सफल टीम नहीं बन जाती बल्कि एक टीम की जीत के पीछे सबसे बड़ा हाथ उसके प्रबंधन स्टाफ का होता हैं, उसने किस तरह से अपनी टीम को बनाया है या क्या उसकी अपनी टीम की कमजोरी हैं, कहाँ उसकी टीम किस पक्ष पर कमज़ोर या मज़बूत खड़ी नज़र आ रही हैं। ये सब कारण भी होते हैं जो एक टीम को मजबूती प्रदान करते हैं। इन्ही कुछ कारणों को देखते हुए इस साल 2017 की नीलामी में टीम प्रबन्धन ने बड़ी चतुराई से अपने स्पिन गेंदबाजी आक्रमण को मज़बूत करने के लिए राशिद खान जैसे लेग स्पिन गेंदबाज को 4 करोड़ में तथा तेज़ गेंदबाजी में मजबूती प्रदान करने के लिए मोहम्मद सिराज को 2.6 करोड़ में खरीदा । इन दोनों गेंदबाजों ने आईपीएल 2017 के 12 मैचों में अपना रंग दिखा दिया है। इतना ही नहीं इनके पास ऐसे ऑलराउंडर भी हैं, जो गेंदबाजी करने में काफी सक्षम हैं। वही स्पिन आक्रमण की बात की जाये तो राशिद खान और मोहम्मद नबी के हाथों में ये जिम्मेदारी है। #गेंदबाजी के बेहतर विकल्प Hyderabad: Sunrisers Hyderabad celebrate fall of Axar Patel's wicket during an IPL 2017 match between Mumbai Indians and Sunrisers Hyderabad at Rajiv Gandhi International Stadium in Hyderabad on May 8, 2017. (Photo: IANS) सनराइजर्स हैदराबाद की टीम के पास गेंदबाजी में बहुत अच्छे विकल्प हैं जिसे कप्तान डेविड वॉर्नर अदला-बदली करने में जरा भी हिचकिचाते नहीं हैं। जिसका नमूना हमें देखने को मिला एक मैच में जब दीपक हूडा को गेंद थमा दी थी और उन्होंने तूफानी बल्लेबाज़ क्रिस गेल का विकेट ले लिया था। वहीं दूसरी और बिपुल शर्मा को जेसन रॉय और ब्रेंडन मैकलम के सामने गेंद पकड़ा दी क्योंकि दोनों बल्लेबाजों को तेज़ गेंदबाजी काफी रास आती है और बिपुल ऑर्थोडॉक्स स्पिन गेंदबाजी करते हैं। सीजन की शुरुआत अनुभवी आशीष नेहरा के साथ करने के बाद सनराइजर्स के कप्तान वॉर्नर, नेहरा की जगह मोहम्मद सिराज को टीम में लाये, जिसके बाद सिराज ने अपनी गेंदबाजी से कई बल्लेबाजों को पवेलियन भेजा और एक मज़बूत गेंदबाज़ के विकप्ल के तौर पर बन कर उभरे। गेंदबाजी के लगातार एक के बाद एक बेहतर विकल्प को देखते हुए ये कहा जा सकता है कि सनराइजर्स हैदराबाद की टीम के पास इस साल आईपीएल 2017 की सर्वश्रेष्ठ गेंदबाजी मौजूद हैं, जो किसी भी मैच का पासा पलटने का माद्दा रखती है।

Edited by Staff Editor
Article image

Go to article
Fetching more content...
App download animated image Get the free App now