Create
Notifications
Get the free App now
Favorites Edit
Advertisement

IPL 2018: 3 दुर्भाग्यशाली भारतीय खिलाड़ी जिन्हें एक भी मैच खेलने का मौक़ा नही मिला

  • टीम संयोजन में इन खिलाड़ियों को अभी तक अपनी अपनी फ़्रैंचाईज़ी से खेलने का मौक़ा नहीं मिल पाया है
Rahul Pandey
ANALYST
Modified 20 Dec 2019, 18:39 IST
आईपीएल ने फ्रैंचाइजी टीम में अधिकतम 25 खिलाड़ियों की संख्या अनुमति दे रखी है, जिसमें अधिकतम 8 विदेशी खिलाड़ी शामिल हो सकते हैं। टीमों के लिए प्रतियोगिता में बढ़ती प्रतिस्पर्धा और टीम के समायोजन को नजर रखते हुए फ्रेंचाइजी के लिए टीम में हर किसी को अवसर देना हमेशा मुश्किल होता है। आईपीएल निश्चित रूप से भारतीय क्रिकेट में युवा प्रतिभाओं का मंच है, भले ही उन्हें मैदान पर अपने फ्रेंचाइजी का प्रतिनिधित्व करने के अवसर न मिले। दूसरी तरफ, टीम के संयोजन और कई अन्य कारकों के कारण कुछ योग्य उम्मीदवारों को टीम से बाहर कर दिया गया था। यहाँ हम ऐसे ही 4 भारतीय खिलाड़ियों पर नज़र डाल रहे हैं जो बहुत दुर्भाग्यपूर्ण रहे हैं कि आईपीएल 2018 में अभी तक एक भी मैच खेलने का उन्हें अवसर नही मिला है:  

# 3 ख़लील अहमद (सनराइज़र्स हैदराबाद)


  राजस्थान के इस बाएं हाथ के तेज़ गेंदबाज़ को 2018 नीलामी में 3 करोड़ रुपये के लिए सनराइजर्स हैदराबाद ने खरीदा था। खलील अहमद हाल ही में संपन्न सैयद मुश्ताक अली टूर्नामेंट, 2017/18 में बहतरीन गेंदबाज के तौर पर उभरे हैं। खलील अहमद ने टूर्नामेंट में 145+ की गति से गेंदबाज़ी की और 17 विकेट लेकर दूसरे सबसे ज्यादा विकेट लेने वाले गेंदबाज़ के रूप में टूर्नामेंट समाप्त किया। 20 वर्षीय यह खिलाड़ी 2016 में अंडर 19 विश्व कप फाइनल में पहुंचने वाली टीम का हिस्सा था और दिल्ली डेयरडेविल्स के साथ पहले ही दो सीजन बिता चुके हैं। ऐसे में जब सनराइजर्स हैदराबाद के पास भुवनेश्वर कुमार, संदीप शर्मा, सिद्धार्थ कौल, बेसिल थम्पी और टी नटराजन जैसे तेज़ गेंदबाजों की पहले से ही मौजूदगी है, तो खलील टीम में चयन के लिए पहली पसंद बनते नही दिख रहे है। मगर यह भी सच है कि खलील जैसी प्रतिभा का इसप्रकार लंबे समय तक बेंच को गर्म करना क्रिकेट का नुकसान है।
1 / 3 NEXT
Published 07 May 2018, 10:45 IST
Advertisement
Fetching more content...