IPL 2018: 3 खिलाड़ियों को दिल्ली डेयर डेविल्स में बरकरार रखना चाहिए

1.

दिल्ली डेयरडेविल्स के लिए अभी तक का आईपीएल कुछ खास नहीं रहा है। आईपीएल के अभी तक हुए 10 संस्करणों में दिल्ली की टीम मात्र 3 बार ही सेमीफाइनल तक पहुंच पाई है जबकि टीम ने अभी तक कोई फाइनल मुकाबला नहीं खेला है। जैसा कि आपको पता होगा आईपीएल 2018 के लिए नीलामी अगले साल के शुरुआत में होनी है ऐसे में दिल्ली इस गणित में लग गयी होगी कि किन खिलाड़ियों को अपने साथ बरकरार रखना है।

पिछले साल टीम ने युवा खिलाड़ियों पर दांव खेला था और इस बार भी दिल्ली की टीम उन्हीं में से 3 खिलाड़ियों को बरकरार रखना चाहेगी।

आईये आपको उन 3 खिलाड़ियों के बारे में बताते है जिन्हें दिल्ली की टीम अपने साथ बरकरार रखकर अपने पहले आईपीएल ट्रॉफी का सपना देख सकती है

#1 कगिसो रबाडा

रबाडा ने दुनिया को यह दिखा दिया है कि वह डेल स्टेन की जगह दक्षिण अफ्रीका के प्रमुख गेंदबाज की भूमिका निभा सकते हैं। आज के समय मे वो दुनिया के सबसे तेज गेंदबाजों में शामिल हैं और लगातार 145 किमी प्रति घण्टे की गति से ऊपर गेंद डाल सकते हैं।

रबाडा ने पिछले साल ही अपना आईपीएल पदार्पण किया और दिल्ली के लिए खेलते हुए उन्हें सिर्फ 6 मैच में ही खेलने का मौका मिला। जिस वजह से उन्हें अपनी छाप छोड़ने का मौका नहीं मिला। अभी तक खेले अपने 16 अंतरराष्ट्रीय टी20 मैचों में 16.45 की औसत से 22 विकेट हासिल किए हैं। दिल्ली की टीम अगर रबाडा को अपने साथ बरकरार रखती है तो उनकी टीम के लिए अगले आईपीएल में विपक्षी टीम पर दबाव बना सकती है।#2 श्रेयष अय्यर

2.

दिल्ली डेयरडेविल्स ने अय्यर को 2015 आईपीएल नीलामी में 2.6 करोड़ रुपये देखकर खरीदा था और उस साल अय्यर सबसे महंगे अनकैप खिलाड़ी भी थी। उस साल अय्यर ने आईपीएल की 14 पारियों में 128.36 की स्ट्राइक रेट से 439 रन बनाकर सबसे ज्यादा रन बनाने वाले बल्लेबाजों की सूची में 9वें स्थान पर रहे थे। उनके इस प्रदर्शन के लिए उन्हें इमरजिंग प्लेयर ऑफ टूर्नामेंट का पुरस्कार भी मिला था। इस खिलाड़ी में वह प्रतिभा है कि यह दिल्ली की अगुवाई कर उन्हें अपने पहले आईपीएल जीत तक पहुंचा सकता है।#3 ऋषभ पंत

3.

ऋषभ पंत 2016 अंडर-19 विश्वकप में अपने शानदार प्रदर्शन के बाद चर्चा में आये थे। उसके बाद इस विकेटकीपर बल्लेबाज को दिल्ली की टीम में 2016 की नीलामी में ही 1.9 करोड़ रुपये देकर अपनी टीम में शामिल किया।

अपने तीसरे ही मैच में पंत में गुजरात लायंस के खिलाफ 40 गेंदों में 69 रन बनाकर दिल्ली को 8 विकेटों जीत दिलाई थी। आईपीएल 2017 में उन्होंने एक बार फिर गुजरात के गेंदबाजों को निशाना बनाया और 43 गेंदों में ही 97 रनों की धुँआधार पारी खेल डाली। इस साल आईपीएल में पंत ने कुल 366 रन बनाएं थे। दिल्ली का टीम प्रबंधन कभी भी ऐसे बल्लेबाज आक्रमणको नहीं छोड़ना चाहेगी। इसलिए सभी को उम्मीद है कि अगर मौका मिला तो टीम पंत को अपने साथ ही बरकरार रखेगी।

लेखक- दीबक मोहन अनुवादक- ऋषिकेश सिंह

Edited by Staff Editor