Create
Notifications

IPL 2018: 4 भारतीय अनकैप्ड गेंदबाज़ जो पर्पल कैप जीत सकते हैं

Himanshu Kothari

इंडियन प्रीमियर लीग का आगाज कुछ ही दिनों में होने जा रहा है। आईपीएल के 10 सीजन रोमांचक तरीके से गुजर चुके हैं और 11वें सीजन में भी भरपूर रोमांच की पूरी उम्मीदें हैं। इंडियन प्रीमियर लीग के खेल में बल्लेबाज और गेंदबाज दोनों जितना बेहतर प्रदर्शन करते हैं, उनकी टीम की जीत की दावेदारी उतनी ही प्रबल हो जाती है। इंडियन प्रीमियर लीग घरेलू क्रिकेटरर्स के लिए एक मंच है जो खिलाडियों को अपने खेल से लोगों का और चयनकर्ताओं का ध्यान आकर्षित करने का मौका देता है। इंडियन प्रीमियर लीग घरेलू खिलाड़ियों को क्रिकेट में बेहतरीन करियर बनाने और खेल को निखारने का प्लेटफॉर्म भी उपलब्ध करवाता है। टी20 फॉर्मेट के चलते इंडियन प्रीमियर लीग को बल्लेबाजों का खेल माना जाता है। बल्लेबाज जितने ज्यादा चौके-छक्के जड़ेगा, खेल में रोमांच उतना ज्यागा ही बढ़ेगा। हालांकि इसमें कोई दो राय नहीं है कि आईपीएल बल्लेबाजों के लिहाज से जितना अहम है तो वहीं गेंदबाजों के लिहाज से भी कम नहीं है। आईपीएल के पिछले कई सीजन में मनप्रीत गोनी, मोहित शर्मा, संदीप शर्मा, प्रवीण तांबे, सिद्धार्थ कौल, अक्रम पटेल, यूजवेंद्र चहल जैसे कई दूसरे अनकैप्ड गेंदबाजों ने अपनी टीम के कप्तानों के लिए काबिलेतारीफ काम किया है, जो कि कई अंतरराष्ट्रीय खिलाड़ी भी नहीं कर पाए । आइए उन अनकैप्ड भारतीय खिलाड़ियों पर नजर डालते हैं जो इंडियन प्रीमियर लीग के आगामी सीजन में पर्पल कैप जीत जा सकते हैं:

#4 कृष्णप्पा गौथम

इंडियन प्रीमियर लीग में अपने शानदार घरेलू फार्म को आगे बढ़ाते हुए कृष्णप्पा गोथम इस साल आईपीएल सीजन की नीलामी में सबसे महंगे अनकैप्ड स्पिनर के तौर पर सामने आए हैं। राजस्थान रॉयल्स ने उन्हें आईपीएल खिलाड़ियों की नीलामी में 6.2 करोड़ रुपये की राशि से अपने टीम के साथ जोड़ा है। कर्नाटक के अपने घरेलू पक्ष के लिए उन्हें टी-20 क्रिकेट के विशेषज्ञ के रूप में जाना जाता है। गेंद और बल्ले दोनों के साथ गोथम शानदार खेल दिखाने में माहिर हैं। गेंद और बल्ले दोनों से ही वो मैदान पर गुणवत्ता से भरपूर खेल दिखाते हैं। पिछले साल मुंबई इंडियंस ने गोथम को 2 करोड़ रुपये में खरीदा था जो कि उनके बेस प्राइज से 20 गुना ज्यादा था। अब इस सीजन राजस्थान रॉयल्स की तरफ से भी कृष्णप्पा गोथम के बेहतर प्रदर्शन की उम्मीद है और स्पिनर के तौर पर गोथम अपने खेल से प्रभावित कर पर्पल कैप के दावेदार के रूप में भी सामने आ सकते हैं।

#3 राहुल चहर

राजस्थान के भरतपुर के युवा लेग स्पिनर राहुल चहर को मुंबई इंडियंस ने आईपीएल नीलामी में 1.9 करोड़ रुपये में खरीदा था। आईपीएल के साल 2017 के सीजन में राहुल पुणे सुपरज्वाइंट का हिस्सा थे, लेकिन पुणे के लिए खेलते हुए राहुल को पर्याप्त अवसर नहीं मिल पाए थे। जिसके कारण वो अपने खेल से किसी को ज्यादा प्रभावित भी नहीं कर पाए थे। इस साल मुंबई के लिए खेलते हुए राहुल जरूर पिछले साल की भरपाई पूरी करने की कोशिश में होंगे। इस साल अवसरों के मामले में राहुल को किसी भी तरह की कोई समस्या का सामना नहीं करने की संभावना है क्योंकि मुंबई इंडियंस की टीम में गुणवत्ता वाले स्पिनरों की कमी है। इसके चलते राहुल चहर को मुंबई के स्पिन आक्रमण का एक नियमित हिस्सा बनाया जा सकता है। 18 वर्षीय राहुल ने अभी तक सात टी-20 मुकाबले खेले हैं। इन मुकाबलों में उन्होंने 6.95 की इकॉनमी से आठ विकेट अपने नाम किए हैं। मध्य-ओवरों में गेंदबाजी करते हुए राहुल विपक्षी बल्लेबाजों का विकेट झटकने के काम आ सकते हैं। ऐसे में पर्पल कैप के लिए राहुल भी अपनी उम्मीदवारी पेश कर सकते हैं।

# 2 दीपक चहर

दीपक चहर पहले ही महेंद्र सिंह धोनी की कप्तानी में खेल चुके हैं। आगरा के जन्मे सीम गेंदबाज और राहुल के बड़े भाई दीपक चहर को इस साल इंडियन प्रीमियर लीग की नीलामी में दो साल के प्रतिबंध के बाद वापसी करने वाली टीम चेन्नई सुपर किंग्स ने अपनी टीम में 80 लाख रुपये में शामिल किया है। दीपक पिछले दो सालों से पुणे सुपरज्वाइंट का हिस्सा थे। उन्होंने आईपीएल में केवल पांच मैच खेले हैं। इसके साथ ही उन्होंने इंडियन प्रीमियर लीग में केवल एक विकेट हासिल किया है। हालांकि, 25 वर्षीय दीपक ने सयैद मुश्ताक अली ट्राफी 2017/18 में तालिकाओं को उलट कर रख दिया और शानदार प्रदर्शन कर वाहवाही लूटी। सयैद मुश्ताक अली ट्रॉफी में दीपक ने सर्वाधिक विकेट लेने वाले गेंदबाज के रूप में टूर्नामेंट का अंत किया। चहर ने 9 मैचों में खेलते हुए 5.58 रन प्रति ओवर की शानदार इकॉनमी रेट से 19 झटकने में कामयाबी हासिल की। अपने इस हालिया प्रदर्शन के दम पर दीपक चेन्नई सुपर किंग्स के लिए अहम भारतीय गेंदबाज के रूप में सामने आ सकते हैं और इसके साथ ही दीपक पर्पल कैप हासिल करने का दम भी रखते हैं।

#1 सिद्धार्थ कौल

सिद्धार्थ कौल ने दिल्ली डेयरडेविल्स के लिए खेलते हुए अपने इंडियन प्रीमियर लीग की शुरुआत की थी। हालांकि पंजाब में जन्मे तेज गेंदबाज सिद्धार्थ कौल ने सनराइजर्स हैदराबाद में शामिल होने के बाद अपने करियर में भारी वृद्धि दर्ज की। उन्होंने 2017 के आईपीएल सीजन में शानदार गेंदबाजी कर सुर्खियां भी बटोरी। आईपीएल के इस दसवें सीजन में खेलते हुए सिद्धार्थ कौल ने 10 मैचों में 16 विकेट हासिल किए। इसके साथ ही उन्हें इस सीजन में अपने टीम के साथी और साल 2017 में आईपीएल सीजन के पर्पल कैप विजेता और तेज गेंदबाज भुवनेश्वर कुमार का भी पूरा साथ दिया। पंजाब का ये गेंदबाज अन्य गेंदबाजों पर भार कम कर देता है। वहीं डेथ ओवरों में भी सिद्धार्थ कौल शानदार यॉर्कर्स डालने में माहिर हैं। सनराइजर्स हैदराबाद को इस साल भी सिद्धार्थ कौल से काफी उम्मीद हैं और साथ ही सिद्धार्थ कौल अपनी गेंदबाजी के दम पर पर्पल कैप हासिल करने के लिए भी दावेदारी पेश करते हैं। लेखक: मोहित कालरा अनुवादक: हिमांशु कोठारी

Edited by Staff Editor

Comments

Fetching more content...