Create
Notifications

IPL 2018: 5 गेंदबाज़ जिन्होंने इस सीज़न में निराश किया है

शारिक़ुल होदा Shariqul Hoda

ये बात हर कोई जानता है कि मौजूदा क्रिकेट बल्लेबाज़ों का खेल बन चुका है, गेंदबाज़ों के लिए अपना वजूद बचाए रखना काफ़ी मुश्किल हो गया है। गेंदबाज़ों के लिए टी-20 सबसे मुश्किल फ़ॉर्मेट बन चुका है, इस खेल में वो महज़ बॉलिंग मशीन बनकर रह गए हैं। इस आईपीएल सीज़न में भी कुछ ऐसा ही देखने को मिल रहा है। यहां एक पारी में 200 से भी ज़्यादा रन बन रहे हैं और इतने बड़े लक्ष्य को भी पार कर लिया जा रहा है, ऐसे में गेंदबाज़ों की क्या हालत होती होगी, ये अंदाज़ा लगाना मुश्किल नहीं। इस मुश्किल दौर में भी कई गेंदबाज़ ऐसे हैं जिन्होंने पिछले कई सालों में आईपीएल में अपनी छाप छोड़ी है और नाम कमाया है। हांलाकि आईपीएल के 11वें सीज़न में कुछ खिलाड़ी ऐसे भी हैं जिनका टी-20 फ़ॉर्मेट में काफ़ी सम्मान है, लेकिन इस साल उनका प्रदर्शन मामूली रहा है। हम यहां ऐसे ही 5 स्टार गेंदबाज़ों की चर्चा करेंगे जो मौजूदा आईपीएल सीज़न में नाकाम रहे हैं।

#5 रविचंद्रन अश्विन

किंग्स XI पंजाब टीम के कप्तान आर अश्विन के लिए ये आईपीएल सीज़न इतना बुरा नहीं रहा है, लेकिन बतौर गेंदबाज़ जो उनका रुतबा है उसके साथ वो इंसाफ़ करने में नाकाम रहे हैं। इस साल उनके ऊपर टीम की कप्तानी का भी दबाव है, ऐसे में शायद उनकी गेंदबाज़ी पर इसका असर पड़ रहा है। पंजाब टीम के मुख्य स्पिन गेंदबाज़ होने के नाते उनके लिए ये ज़रुरी था कि वो ज़्यादा से ज़्यादा विकेट हासिल करें, लेकिन ऐसा हो नहीं रहा है। उन्होंने इस साल खेले गए 10 मैच में 40 की स्ट्राइक रेट से महज़ 6 विकेट हासिल किए हैं। हांलाकि इसी टीम में मौजूद मुजीब-उर-रहमान ने शानदार गेंदबाज़ी करते हुए अश्विन का बोझ कम कर दिया है।

#4 मुस्तफ़िज़ुर रहमान

मुस्तफ़िज़ुर रहमान को ‘फ़िज़’ नाम से भी जाना जाता है, उन्होंने आईपीएल में सनराइज़र्स हैदराबाद की तरफ़ से धमाकेदार डेब्यू किया था। इस साल इस बाएं हाथ के पेस गेंदबाज़ को मुंबई इंडियंस ने ख़रीदा है, मुंबई टीम मैनेजमेंट को उम्मीद थी कि वो वैसा ही चमत्कार करेंगे जैसा कि उन्होंने हैदराबाद टीम में रहते हुए किया है। रोहित शर्मा और मुंबई के लिए ये अफ़सोस की बात है कि रहमान वैसा कमाल नहीं कर पाए जिसके लिए वो जाने जाते हैं। डेथ ओवर में गेंदबाज़ी उनकी मुख्य ताक़त थी, लेकिन इस साल ऐसा नहीं देखने को मिला। मौजूदा आईपीएल सीज़न के 6 मैच में उन्होंने 8.34 की इकॉनमी रेट से 7 विकेट हासिल किए हैं। यही वजह है कि उन्हें सभी मैच में मौका नहीं दिया गया।

#3 इमरान ताहिर

दक्षिण अफ़्रीका के लेग स्पिनर इमरान ताहिर के लिए विकेट हासिल करना एक मामूली बात थी, ऐसा वो पिछले कई आईपीएस सीज़न में करते आ रहे थे। लेकिन इस सीज़न में उनकी शानदार गेंदबाज़ी देखने का मौका कम मिला। इस साल की आईपीएल नीलामी में उन्हें चेन्नई सुपर किंग्स ने ख़रीदा है। उनसे उम्मीद की जा रही थी वो इस टीम के मुख्य स्पिनर बन जाएंगे, लेकिन ऐसा हुआ नहीं। इस साल के 6 आईपीएल मैच में 9.09 की इकॉनमी रेट से उन्होंने 6 विकेट हासिल किए हैं। साल 2017 के आईपीएल सीज़न में उन्होंने राइज़िंग पुणे सुपरजायंट की तरफ़ से खेलते हुए उन्होंने 15 की स्ट्राइक रेट से 18 विकेट हासिल किए थे। इस साल ताहिर का प्रदर्शन औसत रहा है।

#2 मिचेल जॉनसन

कंगारू टीम के स्पीड मास्टर मिचेल जॉनसन को इस साल कोलकाता नाइटराइडर्स टीम में मिचेल स्टार्क की जगह शामिल किया गया है। जॉनसन का पिछले सीज़न में प्रदर्शन अच्छा रहा था, ऐसे में केकेआर ने उन पर भरोसा करना सही समझा। मिचेल स्टार्क आईपीएल शुरू होने से पहले ही टीम से बाहर हो गए थे, ऐसे में जॉनसन के लिए जगह बन गई। इस साल खेले गए 6 आईपीएल मैच में उन्होंने महज़ 2 विकेट हासिल किए हैं। उनका साल 2018 का प्रदर्शन पिछले साल के मुक़ाबले बेहद बुरा था। साल 2017 में वो मुंबई इंडियंस का हिस्सा थे जहां उन्होंने कई ज़रूरी विकेट हासिल किए थे।

#1 जयदेव उनदकट

जयदेव उनदकट का जलवा इस साल की आईपीएल नीलामी में देखने को मिला, वो इस साल बिकने वाले सबसे महंगे भारतीय खिलाड़ी रहे। उन्हें राजस्थान रॉयल टीम ने 11.5 करोड़ की क़ीमत में ख़रीदा था। इस साल उन पर अपनी कीमत को सही साबित करने का दबाव था, लेकिन इस दबाव को वो झेल पाने में नाकाम रहे। इस सीज़न की शुरुआत से ही उनका प्रदर्शन मामूली रहा है। इस साल उन्होंने 10 आईपीएल मैच में 9.76 की इकॉनमी रेट से 8 विकेट हासिल किए हैं। पिछले साल उनदकट का प्रदर्शन शानदार रहा था, उन्होंने साल 2017 के आईपीएल में 24 विकेट हासिल किए थे, वो सबसे ज़्यादा विकेट लेने के मामले में दूसरे नंबर पर थे। लेखक- रानादीप मुखर्जी अनुवादक – शारिक़ुल होदा

Edited by Staff Editor

Comments

Fetching more content...