Create
Notifications
Favorites Edit
Advertisement

IPL 2018: इस सीजन के 5 रोमांचक गेंदबाज़ी साझेदार

  • बल्लेबाज़ों की साझेदारी की बात तो हमेशा होती है लेकिन गेंदबाज़ों की साझेदारी नज़रअंदाज़ कर दी जाती है
ANALYST
Modified 20 Dec 2019, 18:37 IST
क्रिकेट का खेल साझेदारियों के मामले में भी काफी महत्वपूर्ण रहता है। अब चाहे साझेदारी बल्लेबाजी में हो या गेंदबाजी में। दोनों ही जगह बेहतरीन साझेदारियां होने से विरोधी टीम को आसानी से मात दी जा सकती है। हालांकि क्रिकेट के खेल में ज्यादातर ध्यान बल्लेबाजी में हुई साझेदारी पर दिया जाता है और गेंदबाजी में हुई साझेदारी को नजरअंदाज कर दिया जाता है। आईपीएल में 10 सीजन बीत चुके हैं और 11वां सीजन शुरू हो चुका है। इस सीजन भी टीमें खिताब के लिए अपनी बेस्ट प्लेइंग इलेवन को मैदान पर उतारने के लिए तैयार हैं। इस टीम में गेंदबाज भी काफी महत्वपूर्ण भूमिका अदा करेंगे। आईपीएल में गेंदबाज अगर साथी गेंदबाज के साथ मैदान पर कमाल दिखाए तो मैच को अपने पक्ष में करने में आसानी होती है। आईपीएल के 10 सीजन में ऐसा महसूस किया गया है कि मैचों को जीतने के लिए गुणवत्ता वाले गेंदबाजी का संयोजन होना काफी महत्वपूर्ण होता है। आरसीबी की टीम में रनों को रोकने के मामले में गेंदबाजों की एक अच्छी जोड़ी नहीं। जिसके चलते ट्रॉफी के मामले में अब भी आरसीबी के हाथ खाली हैं। आईपीएल में ज्यादा सफल टीमों में हमेशा गेंदबाजों की जोड़ी देखने को मिलेगी। इनमें मलिंगा-बुमराह (मुंबई इंडियंस के लिए), अश्विन-जडेजा (चेन्नई सुपर किंग्स) और भुवी-मुस्तफिजुर (सनराइजर्स हैदराबाद के लिए) जैसे शक्तिशाली गेंदबाजी साझेदार शामिल हैं। इस साल ज्यादातर फ्रेंचाइजी ने इस सबक को ध्यान में रखते हुए गेंदबाजी संयोजन पर भी ध्यान दिया है। आइए जानते हैं आईपीएल 2018 के लिए 5 रोमांचक गेंदबाजी संयोजन के बारे में।  

#5 जयदेव उनादकट और जोफ़्रा आर्चर


  जोफ़्रा आर्चर और जयदेव उनादकट को राजस्थान रॉयल्स ने क्रमशः 7.2 करोड़ और 11.5 करोड़ रुपये में खरीदा है। राजस्थान रॉयल्स ने अकेले ही गेंदबाजी संयोजन पर अपने बजट का एक चौथाई खर्च किया है। जोफ़्रा तब सुर्खियों में आए थे जब उन्होंने बिग बैश लीग में होबर्ट हरिकेंस के लिए शानदार गेंदबाजी करते हुए 16 विकेट हासिल किए। इस दौरान इस तेज गेंदबाज की रफ्तार 145kph की बनी रही। उनकी गति और सटीकता के साथ बल्लेबाज को आश्चर्यचकित करने की उनकी क्षमता काफी प्रभावित करती है। वहीं उनादकट अपनी अधिक धीमी गेंदबाजी की भिन्नताओं के लिए जाने जाते हैं। वह आमतौर पर धीमी गति से और ऑफ स्टंप लाइन से गेंद डालकर महत्वपूर्ण विकेट लेने में कामयाब रहते हैं। इस सीजन राजस्थान के लिए उनादकट की धीमी गति और जोफ़्रा की रफ्तार काफी फायदेमंद साबित हो सकती है।
1 / 5 NEXT
Published 09 Apr 2018, 08:10 IST
Advertisement
Fetching more content...