Create
Notifications

IPL 2018: 5 भारतीय खिलाड़ी जिनके लिए 2018 का सीज़न होगा बेहद अहम

Himanshu Kothari

इंडियन प्रीमियर लीग एक ऐसा प्लेटफॉर्म है जहां युवा क्रिकेटर्स को निखरकर सामने आने का मौका मिल जाता है। आईपीएल में क्रिकेट की गुणवत्ता उच्च स्तरीय की रहती है और अंतरराष्ट्रीय मानकों के करीब है। इसके चलते यहां युवा खिलाड़ियों को भी अंतरराष्ट्रीय खिलाड़ियों के साथ खेलकर सीखने का मौका मिलता है। वहीं अपने शानदार खेल के कारण अंतरराष्ट्रीय स्तर पर देश का प्रतिनिधित्व करने का मौका भी खिलाड़ियों को मिल जाता है। आईपीएल में शानदार प्रदर्शन करने वाले खिलाड़ियों की जगह राष्ट्रीय टीम में भी सुनिश्चित रहती है। आईपीएल 2018 नजदीक है, ऐसे में खिलाड़ियों ने भी इसमें बेहतरीन खेल दिखाने के लिए कमर कस ली है। खिलाड़ी इस फटाफट क्रिकेट के फॉर्मेट में अपने खेल के दम पर चयनकर्ताओं का ध्यान अपनी ओर आकर्षित करने का प्रयास भी करते हैं। हालांकि इस बार का आईपीएल कुछ भारतीय खिलाड़ियों के लिए अपने प्रदर्शन के चलते काफी खास होने वाला है। आइए, 5 ऐसे खिलाड़ियों पर नजर डालते हैं जिनके लिए इस साल का आईपीएल राष्ट्रीय टीम में अपनी जगह को लेकर अत्यंत महत्वपूर्ण है।

#1 सुरेश रैना

सुरेश रैना टी20 क्रिकेट में एक उपयोगी खिलाड़ी हैं। सीमित ओवर में अपनी शानदार बल्लेबाजी के बूते रैना ने क्रिकेट जगत में अपनी पहचान कायम की है। बल्लेबाजी के अलावा सुरैश रैना गेंदबाजी से भी कमाल दिखाने में माहिर हैं। टीम को जब भी जरूरत पड़ती है तो रैना गेंदबाजी का एक सफल स्पैल कर सकते हैं। हालांकि एक लंबे समय से सुरैश रैना भारतीय क्रिकेट से बाहर चल रहे थे और पीछे हुई साउथ अफ्रीका के खिलाफ टी20 सीरीज में उन्होंने वापसी की थी, लेकिन कुछ खास प्रदर्शन न करके के कारण इसे उनकी टीम में स्थायी जगह के तौर पर अभी भी नहीं देखा जा सकता है। वहीं एकदिवसीय मैचों से रैना अभी भी बाहर ही हैं। भारतीय क्रिकेट टीम में वापस अपनी पक्की जगह बनाने के लिए सुरैश रैना का इस बार आईपीएल में प्रदर्शन काफी अहमियत रखेगा। आईपीएल में शानदार खेल के चलते ही उन्हें भारतीय वनडे टीम में जगह मिल पाएगी और साल 2019 में होने वाले आईसीसी क्रिकेट विश्व कप के लिए भी अपनी दावेदारी पेश कर पाएंगे।

#2 मयंक अग्रवाल

मयंक अग्रवाल के लिए इस साल का घरेलू सीजन काफी शानदार रहा है। इस साल कर्नाटक के लिए रन स्कोर करने में उनकी भूमिका अहम रही है और रन के मामले में उनकी भूख सराहनीय थी। मयंक एक शानदार खिलाड़ी हैं लेकिन अपने करियर के दौरान उन्हें अपनी स्थिरता के लिए काफी संघर्ष करना पड़ा है। मयंक अग्रवाल अपने शानदार खेल के बावजूद चयनकर्ताओं को प्रभावित करने में नाकाम रहे हैं और इसलिए अभी भी भारत के लिए अपनी अंतरराष्ट्रीय पारी की शुरुआत करने की प्रतीक्षा कर रहे हैं। आईपीएल 2018 में मयंक किंग्स इलेवन पंजाब के लिए खेलेंगे और उम्मीद होगी कि पंजाब के लिए खेलते हुए वो अपने प्रदर्शन के दम पर चयनकर्ताओं को अपनी ओर आकर्षित करने में कामयाब रहेंगे। मयंक भारतीय मध्य क्रम के लिए एक अच्छा विकल्प साबित हो सकते हैं। अगर मयंक आईपीएल 2018 में अच्छा प्रदर्शन करते हैं, तो वह 2019 के आईसीसी विश्वकप के लिए भारतीय मध्य क्रम में नंबर चार की स्थिति के लिए खुद की एक मजबूत दावेदारी पेश कर सकते हैं।

#3 बरींदर सरन

जब बरींदर सरन ने भारत के लिए अपना पहला मैच खेला तो उन्होंने सभी को अपने प्रदर्शन से प्रभावित किया। उनसे काफी उम्मीदें थी क्योंकि उन्होंने ऑस्ट्रेलियन पिचों पर बेहतरीन गेंदबाजी की थी। हालांकि अब तीन साल बीत गए हैं और वह अभी भी भारतीय टीम में सीमित ओवरों के खेल में अपनी जगह की तलाश कर रहे हैं। ऐसे में आईपीएल 2018 सरन के लिए किसी वरदान से कम साबित नहीं होगा। किंग्स इलेवन पंजाब ने सरन को खरीदा है और सरन आईपीएल 2018 में अपनी टीम के लिए बड़ा प्रभाव छोड़ने की कोशिश करेंगे। बाएं हाथ के तेज गेंदबाज होने के कारण सरन अपनी गेंदबाजी से प्रभाव डालने में कामयाब साबित होते आए हैं और इस बार भी वह सब को प्रभावित करने का प्रयास करेंगे।

#4 रविचंद्रन अश्विन

रविचंद्रन अश्विन पिछले काफी समय से भारतीय टीम से बाहर चल रहे हैं और अब रविचंद्रन अश्विन अपनी खराब फॉर्म के कारण भारतीय एकदिवसीय टीम में स्पिनर के तौर पर मुख्य विकल्प भी नहीं हैं। उन्होंने मध्य ओवर्स में विकेट लेने के लिए संघर्ष किया है। जिसके कारण चयनकर्ताओं को अश्विन के इतर कलाई के स्पिनर्स को चुनने का आसान मौका मिल गया। हालांकि इसमें कोई शक नहीं है कि अश्विन में अभी काफी क्रिकेट बचा है और वो भारतीय टी20 और एकदिवसीय टीम को काफी कुछ दे सकते हैं। इस साल का आईपीएल आर अश्विन के लिए भी काफी अहम साबित होने वाला है। आईपीएल 2018 में उनका प्रदर्शन ही भारतीय एकदिवसीय टीम में वापसी का टिकट दिलाएगा। वहीं इस साल आईपीएल में अश्विन की जिम्मेदारी भी बढ़ गई है। अश्विन को किंग्स इलेवन पंजाब ने अपनी टीम का कप्तान नियुक्त किया है। जिसके चलते ये देखना भी दिलचस्प होगा कि अश्विन कप्तानी में कैसा कमाल दिखा पाते हैं।

#5 महेंद्र सिंह धोनी

भारतीय टीम के पूर्व कप्तान महेंद्र सिंह धोनी के लिए भी इस साल का आईपीएल काफी अहम साबित होने वाला है। धोनी के आलोचकों का मानना है कि धोनी में अब पहले जैसे बात नहीं रही। हाल के समय में देखा गया है कि धोनी को बड़े स्ट्रोक खेलने के लिए संघर्ष करना पड़ा है। वहीं गेंद को हिट करने के लिए भी धोनी को दिक्कतों का सामना करना पड़ा है। लेकिन धोनी अपने आलोचकों को आईपीएल 2018 में जरूर गलत साबित करना चाहेंगे। एमएस धोनी टेस्ट क्रिकेट से पहले ही संन्यास ले चुके हैं और एकदिवसीय क्रिकेट और टी20 क्रिकेट में भारतीय टीम के साथ बने हुए हैं। हालांकि फिर भी कुछ चीजें हैं जिनमें धोनी को आईसीसी क्रिकेट विश्व कप 2019 से पहले सुधार लाने की जरूरत है। इंडियन प्रीमियर लीग 2018 में महेंद्र सिंह धोनी के पास उन चीजों में सुधार लाने का मौका है जो धोनी के सामने अड़चने बनी हुई हैं। आईपीएल 2018 में उनका पदर्शन ही इस बात की ओर इशारा करेगा कि वो टीम इंडिया के अब भी X फैक्टर हैं और दुनिया के बेहतरीन मैच फिनिशर में से एक हैं। वहीं इस साल का आईपीएल धोनी के टी20 में अपने करियर को आगे बनाए रखने पर भी काफी निर्भर करेगा क्योंकि विकेटकीपिंग में धोनी की जगह लेने के लिए ऋषभ पंत अंतरराष्ट्रीय स्तर पर अपनी दावेदारी पेश कर रहे हैं। ऐसे में आईपीएल 2018 एमएस धोनी के लिए विशेष रूप से महत्वपूर्ण है। लेखक: संयम यादव अनुवादक: हिमांशु कोठारी

Edited by Staff Editor

Comments

Fetching more content...