Create
Notifications

IPL 2018: 5 बेहतरीन खिलाड़ी जिनकी प्रशंसकों को खल रही होगी कमी

आशीष कुमार

आईपीएल का मैजूदा सीज़न एक महीने से अधिक समय बीत जाने के बाद अपने आखिरी चरण में प्रवेश कर चुका है। सनराइजर्स हैदराबाद ने आधिकारिक तौर पर प्लेऑफ में जगह बना ली है जबकि अन्य टीमें प्लेऑफ में जगह बनाने के लिए जूझ रही हैं। अंक तालिका के निचले हिस्से में स्थित दिल्ली डेयरडेविल्स को आधिकारिक तौर पर टूर्नामेंट से बाहर कर दिया गया है जबकि रॉयल चैलेंजर्स बैंगलोर अभी प्लेऑफ में जगह बनाने के लिए संघर्ष कर रही है। आने वाले सप्ताह में कम से कम दो और टीमें प्लेऑफ में पहुँचेंगी और टूर्नामेंट और ज़्यादा रोमांचक हो जायेगा। मौजूदा सीज़न अब तक काफी रोमांचक रहा है, फिर भी कई ऐसे स्टार खिलाड़ी हैं जो किसी कारण से आईपीएल में हिस्सा नहीं ले पाए और निश्चित तौर पर क्रिकेट प्रशंसकों को उनकी कमी खल रही होगी।

#5 डेविड वॉर्नर

ऑस्ट्रेलियाई बल्लेबाज डेविड वॉर्नर को एक साल के प्रतिबंध के बाद टूर्नामेंट से बाहर कर दिया गया था। सीज़न शुरू होने से पहले उनके प्रतिबंध से सनराइज़र्स हैदराबाद को गहरा झटका लगा था। आईपीएल के चार सत्रों में वार्नर हैदराबाद टीम के कप्तान और मैच विजेता खिलाड़ी रहे हैं। उन्होंने चार सत्रों में, हर सत्र में 500 से अधिक रन बनाए हैं। उनकी कप्तानी में ही सनराइज़र्स हैदराबाद ने 2016 में अपना पहला आईपीएल खिताब जीता था। ग़ौरतलब है कि सनराइजर्स हैदराबाद की बल्लेबाजी सीजन की शुरुआत से ही सामान्य दिख रही है और गेंदबाजी की वजह से ही उन्होंने अधिकांश मैच जीते हैं। न्यूजीलैंड के बल्लेबाज, केन विलियमसन डेविड वार्नर की ग़ैरमौजूदगी में कप्तान का कार्यभार संभाल रहे है और वह अभी तक इसमें सफल रहे हैं।

#4 हाशिम अमला

दक्षिण अफ़्रीकी बल्लेबाज हाशिम अमला दुनिया के बेहतरीन बल्लेबाज़ों में से एक हैं और उनके पास टी -20 क्रिकेट में एक उत्कृष्ट ट्रैक रिकॉर्ड है, लेकिन इस के बावजूद उन्हें आईपीएल 2018में जगह नहीं मिली। किंग्स इलेवन पंजाब की तरफ से खेलने वाले इस बल्लेबाज़ को पिछले सीज़न में अच्छा प्रदर्शन करने के बावजूद टीम में बरकरार नहीं रखा गया। अमला ने पिछले सीज़न में 10 मैचों में 60 की औसत और 145.83 की स्ट्राइक रेट से 420 रन बनाए थे, यह किसी भी बल्लेबाज का सबसे उच्चतम औसत (60) था। आश्चर्य की बात है कि इस साल की नीलामी में ना तो उनकी फ्रैंचाइज़ी ने उनमें कोई दिलचस्पी नहीं दिखाई और ना ही किसी टीम ने उनके लिए बोली लगाई।

#3 ड्वेन स्मिथ

वेस्टइंडीज के ऑलराउंडर ड्वेन स्मिथ पिछले दो सत्रों में गुजरात लायंस की टीम के प्रमुख खिलाड़ी रहे हैं। उन्होंने आईपीएल सीज़न 2016 में गुजरात को प्लेऑफ में पहुँचाने में अहम भूमिका निभाई थी। स्मिथ पहले चेन्नई सुपर किंग्स और फिर मुंबई इंडियंस की ओर से खेले और दोनों ही टीमों के लिए एक मैच विजेता साबित हुए। लेकिन इस साल की आईपीएल नीलामी में उनका किसी भी टीम के तरफ से ना खेलना चौंकाने वाला है। आईपीएल 2012 के अपने पहले सीज़न में उन्होंने मुंबई इंडियंस को कई महत्वपूर्ण मैच जिताये। मुंबई इंडियंस में अपने सफल सत्रों (2012 और 2013) के बाद, उन्हें चेन्नई सुपर किंग्स ने 2014 में अपनी टीम में शामिल किया था, जहां उन्होंने दो सत्रों में 1000 से ज़्यादा रन बनाए। हालाँकि स्मिथ थोड़े समय के लिए वेस्टइंडीज टीम से बाहर रहे हैं लेकिन उन्होंने दुनियाभर की टी -20 लीग में अपनी बल्लेबाज़ी के जौहर दिखाए। वह दुनिया के सबसे अच्छे पावर-हिटर्स में से एक है और निश्चित रूप से इस आईपीएल में उनके ना खेलने से प्रशंसक निराश हुए होंगे।

#2 स्टीव स्मिथ

दुनिया भर के सर्वश्रेष्ठ बल्लेबाजों में से एक स्टीव स्मिथ को एक साल के प्रतिबंध के कारण आईपीएल से बाहर होना पड़ा। प्रशंसकों और राजस्थान रॉयल्स की टीम के लिए यह काफी निराशाजनक बात थी। आईपीएल में कप्तान के रूप में स्मिथ का रिकॉर्ड असाधारण रहा है। उन्होंने आईपीएल सीज़न 2017 में राइज़िंग पुणे सुपररजीएंट्स का नेतृत्व किया और 14 मैचों में 9 मैच जीतकर अपनी टीम को पॉइंट टेबल में दूसरे स्थान पर लाकर खड़ा कर दिया था। उन्होंने पिछले सत्र में अपनी टीम को फाइनल तक पहुंचाने में महत्वपूर्ण भूमिका निभाई थी। 2017 सीजन में, उन्होंने 15 मैचों में 39.33 की औसत से 472 रन बनाए और उनकी स्ट्राइक रेट 121.96 की रही। स्मिथ को इस सत्र में राजस्थान रॉयल्स के लिए खेलना था लेकिन प्रतिबंध के कारण ऐसा हो नहीं पाया जिससे टीम और प्रशंसकों को निराशा हुई होगी।

#1 मिचेल स्टार्क

ऑस्ट्रेलियाई तेज गेंदबाज मिचेल स्टार्क, हर प्रारूप में दुनिया के सर्वश्रेष्ठ गेंदबाजों में से एक है। कोलकाता नाइट राइडर्स ने उन्हें 9.4 करोड़ रुपये में अपनी टीम में शामिल किया था। लेकिन स्टार्क के चोटिल हो जाने की वजह से कोलकाता टीम को एक बड़ा झटका लगा क्योंकि उन्होंने गेंदबाजी हमले का नेतृत्व करने के लिए इस तेज गेंदबाज पर भरोसा किया था। हालाँकि, टॉम कुर्रन को स्टार्क के प्रतिस्थापन के रूप में टीम में शामिल किया गया था लेकिन इंग्लैंड के यह गेंदबाज टीम की अपेक्षाओं पर खरे नहीं उतर पाए। उन्होंने अभी तक खेले गए 5 मैचों में 11.60 की इकोनॉमी रेट से केवल 6 विकेट लिए हैं। उनकी खराब फॉर्म निश्चित रूप से टीम प्रबंधन के लिए चिंता का विषय है। ग़ौरतलब है कि स्टार्क लगातार तीसरे सत्र में नहीं खेल पाए हैं, इससे पहले वह रॉयल चैलेंजर्स बैंगलोर के लिए खेलते थे लेकिन पिछले दो सत्रों में स्टार्क के ना खेलने से आरसीबी को काफी नुक्सान उठाना पड़ा। मौजूदा सत्र में जहां कोलकाता नाइट राइडर्स के तेज़ गेंदबाजों अपने रंग में नहीं दिख रहे, ऐसे में टीम प्रबंधन और प्रशंसकों को स्टार्क की कमी महसूस हो रही होगी। लेखक: विपुल गुप्ता अनुवादक: आशीष कुमार

Edited by Staff Editor

Comments

Fetching more content...