Create
Notifications

IPL 2018: 5 सबसे उम्रदराज़ खिलाड़ी जिनपर होगी हर किसी की नज़र

शारिक़ुल होदा Shariqul Hoda

आईपीएल 2017 के सीज़न में ऑस्ट्रेलिया के चाइनामैन गेंदबाज़ ब्रैड हॉग टूर्नामेंट के इतिहास में खेलने वाले सबसे बुज़ुर्ग खिलाड़ी बने थे। उस वक़्त उनकी उम्र 44 साल और 81 दिन थी। साल 2015 में उनकी उम्र 42 साल की थी, तब केकेआर टीम की तरफ़ से खेलते हुए उन्होंने शानदार प्रदर्शन किया था। हॉग ने ये साबित किया था कि उम्र मात्र एक संख्या है और इसका असर खेल पर नहीं पड़ता। आईपीएल का 11वां सीज़न क़रीब आ गया है। टी-20 के इस महाकुंभ में 5 खिलाड़ी ऐसे हैं जिनकी उम्र काफ़ी ज़्यादा है लेकिन वो अपनी टीम के लिए मैच जिताउ प्रदर्शन कर सकते हैं।

क्रिस गेल – 38 साल

क्रिस गेल फ़िलहाल अच्छे फ़ॉम में नहीं चल रहे हैं, हो सकता है कि ये तूफ़ान से पहले की ख़ामोशी हो। क्रिस गेल ने आईपीएल का सबसे तेज़ शतक अपने नाम किया है, जो आज तक नहीं टूट पाया है। उन्होंने साल 2013 के आईपीएल सीज़न में महज़ 30 गेंदों में शतक लगाया था। इतना ही नहीं आईपीएल के इतिहास में जो 10 सबसे तेज़ शतक लगे हैं उनमें से 3 वेस्टइंडीज़ के इस खिलाड़ी के नाम हैं। गेल ने अपने आईपीएल करियर की शुरुआत कोलतकाता नाइटराइडर्स के साथ की थी जहां उनका प्रदर्शन औसत दर्जे का था। साल 2011 में उनके खेल में ज़बरदस्त सुधार देखने को मिला जब वो आरसीबी टीम में शामिल हुए। उस साल गेल ने 608 रन बनाए थे, और सीज़न में सबसे ज़्यादा रन बनाने वाले खिलाड़ी बने थे। अगला दो सीज़न उनके लिए और भी शानदार रहा था। साल 2012 में उन्होंने 733 रन और साल 2013 में 708 रन बनाए थे। हांलाकि पिछला 2 सीज़न गेल के लिए कुछ ख़ास नहीं रहा था। उनके खेल को लेकर काफ़ी आलोचना भी हुई थी। इस साल वो किंग्स इलेवन पंजाब की तरफ़ से खेलते हुए नज़र आएंगे। उम्मीद है कि गेल अपने आलोचकों का जवाब अपने प्रदर्शन से देंगे।

गौतम गंभीर – 36 साल

गौतम गंभीर ने अपने आईपीएल की शुरुआत दिल्ली डेयरडेविल्स टीम के साथ की थी, जहां वो पहले तीन सीज़न तक बरक़रार रहे। साल 2011 की आईपीएल नीलामी के दौरान कोलकाता नाइटराइडर्स टीम मे उन्हें 2.5 मिलियन अमेरिकी डॉलर की क़ीमत पर ख़रीदा था। साल 2017 तक और केकेआर टीम का हिस्सा बने रहे। इस साल उन्होने दिल्ली टीम में वापसी का फ़ैसला किया और अब वो अपनी पुरानी टीम में बतौर कप्तान नज़र आएंगे। गंभीर आईपीएल इतिहास के सबसे कामयाब कप्तानों में से एक हैं। उनकी कप्तानी में केकेआर टीम ने 2 बार आईपीएल ट्रॉफ़ी पर अपना कब्ज़ा जमाया है। बतौर कप्तान ही नहीं एक खिलाड़ी के तौर पर भी गंभीर का प्रदर्शन शानदार रहा है। 10 साल के आईपीएल करियर में उन्होंने 148 मैच में 4132 रन बनाए हैं। हांलाकि हाल में हुई सैय्यद मुश्ताक अली ट्रॉफ़ी में गंभीर का प्रदर्शन कुछ ख़ास नहीं रहा था, लेकिन आईपीएल में उनको लेकर उम्मीद कुछ ज़्यादा ही बढ़ जाती है। ऐसा लगता है कि गंभीर आईपीएल के लिए ही बने हैं। उनकी उम्र का असर उनके खेल पर ज़रा भी नहीं पड़ता। इस साल दिल्ली डेयरडेविल्स टीम ने उन्हें ख़रीदा है। दिल्ली टीम मैनेजमेंट ने उन पर भरोसा करते हुए कप्तान की ज़िम्मेदारी सौंपी है। दिल्ली की टीम को अब तक पहली ट्रॉफ़ी जीतने का इंतज़ार है।

हरभजन सिंह – 37 साल

हरभजन सिंह को ‘भज्जी’ के नाम से भी जाना जाता है। 37 साल के इस खिलाड़ी ने अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट में टीम इंडिया के लिए काफ़ी योगदान दिया है। उन्होंने अपने आईपीएल करियर की शुरुआत मुंबई इंडियंस टीम के साथ की थी। साल 2008 में वो अपनी टीम के लिए शानदार स्पिन गेंदबाज़ी करते हुए नज़र आए थे। साल 2011 के चैंपियंस लीग टी-20 में उन्होंने मुंबई टीम की कप्तानी की थी और अपने दल ख़िताब दिलाया था। भज्जी न सिर्फ़ अच्छी गेंदबाज़ी करना जानते हैं, बल्कि ज़रूरत पड़ने पर वो टीम के लिए शानदार बल्लेबाज़ी भी करते हैं। वो मुंबई इंडियंस की तरफ़ से दूसरे सबसे तेज़ अर्धशतक लगाने वाले बल्लेबाज़ हैं। उन्होंने साल 2015 के आईपीएल सीज़न में महज़ 19 गेंदों में शतक लगाया था। आईपीएल में उन्होंने 136 मैच खेले हैं और अपनी लाजवाब गेंदबाज़ी के ज़रिए 127 विकेट भी हासिल किए हैं, इस दौरान उन्होंने 3,371 रन भी बनाए हैं। इस साल की आईपीएल नीलामी के दौरान उन्हें चेन्नई सुपरकिंग्स ने ख़रीदा है। उम्मीद है कि भज्जी का तजुर्बा चेन्नई टीम के काफ़ी काम आएगा।

युवराज सिंह – 36 साल

युवराज सिंह उन चुनिंदा खिलाड़ियों में से हैं जिन्होंने 5 अलग-अलग आईपीएल टीम को अपनी सेवाएं दीं हैं। इनमें दिल्ली डेयरडेविल्स, किंग्स इलेवन पंजाब, पुणे वॉरियर्स इंडिया, रॉयल चैलेंजर्स बैंगलौर और सनराइज़र्स हैदराबाद शामिल हैं। 120 आईपीएल मैच में उन्होंने 25.61 की औसत से 2587 रन बनाए हैं। वो कई बार नीलामी के दौरान काफ़ी महंगे बिके थे। इस उन्हें प्रीति ज़िंटा की टीम किंग्स इलेवन पंजाब ने ख़रीदा है। भले ही आईपीएल में उनका प्रदर्शन उतना शानदार नहीं रहा है जितना कि उन पर टीम के मालिकों ने ख़र्च किया है, फिर भी युवी का अनुभव पंजाब टीम के काम आ सकता है। हो सकता है कि ये साल युवराज सिंह के लिए ख़ास हो, क्योंकि वो अपनी सबसे पुरानी टीम में वापस आ चुके हैं।

महेंद्र सिंह धोनी – 36 साल

एम एस धोनी के हर फ़ैस को उनके चेपॉक मैदान में लौटने का इंतज़ार है। इस साल वो एक बार फ़िर चेन्नई टीम की कप्तानी करते हुए नज़र आएंगे। अकसर उन्हें ‘कैप्टन कूल’ के नाम से जाना जाता है। इस महान खिलाड़ी ने चेन्नई सुपरकिंग्स को लगातार 2 बार आईपीएल का ख़िताब दिलाया है। इसके अलावा बतौर खिलाड़ी भी माही ने शानदार प्रदर्शन किया है। धोनी उस वक़्त देश के सबसे पसंदीदा खिलाड़ी बन गए थे जब साल 2007 में उन्होंने टीम इंडिया को वर्ल्ड टी-20 का ख़िताब दिलवाया था। साल 2008 में वो 1.5 मिलियन डॉलर की क़ीमत पर चेन्नई टीम में ख़रीदे गए थे। वो उस साल आईपीएल के सबसे महंगे खिलाड़ी बने थे। साल 2008 के आईपीएल सीज़न में धोनी ने 16 मैचों में 41.40 की औसत और 133.54 के स्ट्राइक रेट से 414 रन बनाए थे। पिछले 2 साल वो राइज़िंग पुणे सुपरजायंट टीम का हिस्सा रहे थे। आईपीएल करियर में धोनी ने 159 मैच में 3561 रन बनाए हैं। माही के खेल को देखकर उनकी उम्र का अंदाज़ा लगाना मुश्किल है। वो स्टंप के पीछे काफ़ी तेज़ फ़ैसला लेते हैं। वो विकेट के बीच में काफ़ी तेज़ी से दौड़ लगाते देखे जा सकते हैं। इसके अलावा बतौर कप्तान उनका फ़ैसला शानदार होता है। लेखक- उमैमा सईद अनुवादक- शारिक़ुल होदा

Edited by Staff Editor

Comments

Fetching more content...