Create
Notifications

IPL 2018: 5 खिलाड़ी जो कभी अपने राज्य की फ्रेंचाईज़ी टीम से नहीं खेल पाये

ऋषि

आईपीएल की सबसे बड़ी खूबसूरती है कि इसमें खिलाड़ी साल दर साल एक टीम से दूसरे टीम में जाते रहते हैं। पहले सत्र से पहले सचिन तेंदुलकर (मुंबई इंडियंस), सौरव गांगुली (केकेआर), वीरेंदर सहवाग (दिल्ली डेयरडेविल्स), युवराज सिंह (किंग्स XI पंजाब) और राहुल द्रविड़ (आरसीबी) टीम के आइकॉन खिलाड़ी बनाये गये थे क्योंकि वह उन राज्यों के खिलाड़ी हैं जहाँ की ये फ्रेंचाईजी है और इसी वजह से इन खिलाड़ी ने नीलामी में हिस्सा नहीं लिया था। हालांकि, आईपीएल अपने 10 साल पूरे कर चुका है लेकिन अभी तक कई ऐसे खिलाड़ी हैं जो अपने राज्य के फ्रेंचाईजी के साथ नहीं खेल पाये हैं। आज हम आपको ऐसे ही खिलाड़ियों के बारे में बतायेंगे जिन्होंने आईपीएल का कम से कम 5 सत्र खेला है लेकिन अभी तक अपने राज्य की फ्रेंचाईजी के लिए नहीं खेल पाये हैं। नोट: इसमें गुजरात लायंस और कोच्ची टस्कर्स केरला को नहीं लिया गया है क्योंकि ये दोनों फ्रेंचाईजी 5 साल तक आईपीएल के साथ नहीं थी। जबकि, डेक्कन चार्जर्स और सनराइजर्स हैदराबाद को इसमें शामिल किया गया है क्योंकि ये दोनों टीम हैदराबाद की ही थी।

#1 विराट कोहली

भारतीय टीम के कप्तान विराट कोहली का सम्बन्ध दिल्ली से है लेकिन आईपीएल के पहले सत्र से ही वह आरसीबी के लिए खेल रहे हैं और आईपीएल इतिहास के उन दो खिलाड़ियों में से एक हैं जो सभी आईपीएल सत्र में एक टीम के साथ ही जुड़े रहे हैं। हालांकि, आरसीबी की टीम को अभी भी अपने पहले आईपीएल खिताब का इंतजार है लेकिन इस बात से कोई भी इंकार नहीं कर सकता कि इस टीम के प्रशंसकों की संख्या आज भी कम नहीं हुई है। विराट कोहली चैंपियन बल्लेबाज हैं और इसी वजह से आईपीएल 2018 से पहले आरसीबी ने उन्हें फिर से रिटेन कर लिया है।

#2 हरभजन सिंह

‘पंजाब दा पुत्तर’ हरभजन सिंह लगातार 10 सालों तक मुंबई इंडियंस की टीम की रीढ़ की रहे हैं। टीम की स्पिन गेंदबाजी लगातार उनके आसपास ही घुमती रही है और उन्होंने अपने प्रदर्शन के बूते कई मौकों पर टीम को जीत तक पहुंचाया है। बल्लेबाजी में भी मौका मिलने पर भज्जी ने अपने हाथ दिखाये हैं। मुंबई इंडियंस की टीम हमेशा अपने प्रमुख खिलाड़ियों को अपने साथ रखती है और यह टीम अपने आप को परिवार मानती है। भज्जी को मुंबई इंडियंस ने 2010 और 2014 नीलामी से पहले रिटेन किया था लेकिन इस बार उन्हें रिटेन नहीं किया गया है। फिर भी उम्मीद की जा सकती है कि अपने सबसे सीनियर खिलाड़ी को अपने साथ रखने के लिए यह फ्रेंचाईजी पूरा ज़ोर लगाएगी।

#3 अम्बाती रायुडू

आईपीएल के सबसे अंडररेटेड खिलाड़ियों में से एक अम्बाती रायुडू ने मुंबई इंडियंस के लिए वह सब कुछ किया है जिसकी टीम प्रबंधन ने उनसे मांग की है। हैदराबाद से ताल्लुक रखने वाले रायुडू 2010 में विवादित आईसीएल (इंडियन क्रिकेट लीग) को छोड़कर मुंबई इंडियंस से जुड़े थे और तब से वह टीम के एक मुख्य खिलाड़ी बने हुए हैं। वह आईपीएल 2013, 2015 और 2017 में विजेता रही टीम का हिस्सा भी थे। अगर एक बार फिर यह फ्रेंचाईजी रायुडू को खरीद ले तो किसी को हैरानी नहीं होनी चाहिए।

#4 केदार जाधव

महाराष्ट्र के छोटे पर धुंआधार बल्लेबाज केदार जाधव आईपीएल 2010 में दिल्ली डेयरडेविल्स के साथ थे। उसके बाद 2011 में वह कोच्ची टस्कर्स केरला में चले गये और 2013 में फिर से दिल्ली की टीम में चले गये। वहीं 2016 में उन्हें आरसीबी टीम ने खरीद लिया और 2017 में भी वह आरसीबी टीम का ही हिस्सा थे। जाधव का जन्म पुणे में हुआ है लेकिन अभी तक वह पुणे की दोनों टीमें (पुणे वॉरियर्स इंडिया और राइजिंग पुणे सुपरजाएंट्स) का हिस्सा नहीं बन पाये। इस बार आईपीएल में पुणे की कोई फ्रेंचाईजी भी नही है इसी वजह से उन्हें अपनी घरेलू टीम से खेलने के लिए अभी और इंतजार करना पड़ेगा।

#5 दिनेश कार्तिक

घरेलू मैचों में तमिलनाडु से खेलने वाले दिनेश कार्तिक का रिकॉर्ड अपनी टीम के लिए काफी शानदार रहा है लेकिन अभी तक वह चेन्नई सुपर किंग्स का हिस्सा नहीं बन पाये हैं। विकेटकीपर बल्लेबाज कार्तिक अभी तक दिल्ली डेयरडेविल्स, किंग्स इलेवन पंजाब, मुंबई इंडियंस, रॉयल चैलेंजर्स बैंगलोर और गुजरात लायंस के लिए खेल चुके हैं। वह अभी भी अंतरराष्ट्रीय मैच खेल रहे हैं इसलिए इस बार उम्मीद की जा सकती है कि चेन्नई सुपर किंग्स उन्हें खरीद ले। लेखक- अथर्व आप्टे अनुवादक- ऋषिकेश सिंह

Edited by Staff Editor

Comments

Fetching more content...