COOKIE CONSENT
Create
Notifications
Favorites Edit
Advertisement

IPL 2018: इन 5 वजहों से विराट कोहली को रॉयल चैलेंजर्स बैंगलोर की कप्तानी छोड़ देनी चाहिए

52   //    24 May 2018, 08:26 IST
इस आईपीएल सीज़न में भी आरसीबी की वही पुरानी कहानी देखने को मिली। हांलाकि इस टीम को नए सिरे से तैयार करने में कोई कमी नहीं की गई थी। नीलामी के दौरान कोशिश की गई थी कि पुरानी ग़लतियों को न दोहराया जाए। इतनी मज़बूत टीम होने के बावजूद आरसीबी अपना आख़िरी मैच राजस्थान रॉयल्स के ख़िलाफ़ हारकर बाहर हो गई।

आईपीएल सीज़न 2018 के शुरू होने से पहले ही ये कयास लगाए जा रहे थे कि ये टीम ख़िताब की प्रबल दावेदार साबित होगी, लेकिन जैसे-जैसे मैच होते गए आरसीबी से बनीं उम्मीदें भी धुंधली पड़ने लगी।  इस साल फिर से नाकामी के बाद आरसीबी के मैनेजमेंट को अब कोहली को लेकर कड़े फ़ैसले लेने होंगे। या फिर ऐसा भी हो सकता है कि कोहली अपने सीनियर खिलाड़ी गौतम गंभीर के नक्श-ए-कदम पर चलते हुए ख़ुद ही कप्तानी छोड़ दें और किसी अन्य खिलाड़ी को बैंगलौर टीम की ज़िम्मेदारी सौंप दें।

हम यहां उन 5 वजहों के बारे में चर्चा कर रहे हैं जिसको ध्यान में रखते हुए कोहली को आरसीबी टीम की कप्तानी छोड़ देनी चाहिए।

 

#5 निराशाजनक प्रदर्शन


 

 

पिछले कई आईपीएल सीज़न से आरसीबी कागज़ पर सबसे मज़बूत टीम्स में से नज़र आ रही है। हांलाकि टीम ने अपनी मज़बूती को ज़मीन पर नहीं उतारा है और कोई बड़ा नजीता हासिल नहीं किया है। ऐसे में अगर टीम के कप्तान पर हार का ठीकरा फोड़ा जाए तो कुछ ग़लत नहीं होगा। भले ही कप्तान विराट कोहली का निजी प्रदर्शन शानदार रहा है, लेकिन वो टीम के लिए नज़ीर नहीं बन पाए हैं। टीम उनसे प्रेरणा लेने में नाकाम रही है। आरसीबी में एबी डीविलियर्स, ब्रेंडन मैकुलम, क्विंटन डी कॉक जैसे धाकड़ बल्लेबाज़ मौजूद थे।

आरसीबी उन चुनिंदा टीमों में से एक है जिसे आईपीएल ख़िताब जीतने की ख़ुशकिस्मती हासिल नहीं हुई है। टीम मैनेजमेंट को ऐसा महसूस हुआ था कि नए चेहरे शामिल करने के बाद टीम की किस्मत बदल सकती है, लेकिन ऐसा हुआ नहीं। आईपीएल के 11वें सीज़न में कोहली की टीम ने 14 में से महज़ 6 मैच में जीत हासिल की थी, जो बेहद निराशाजनक था। कोहली को ख़ुद और अपने खिलाड़ियों का आंकलन करना चाहिए और कुछ कड़े फ़ैसले लेने चाहिए।
1 / 5 NEXT
Advertisement
Advertisement
Fetching more content...