Create

IPL 2018 : 5 ऐसे युवा खिलाड़ी जिन पर होगी हर किसी की नज़र

शारिक़ुल होदा Shariqul Hoda

इंडियन प्रीमीयर लीग को अक्सर राष्ट्रीय टीम की सीढ़ी कहा जाता है, पहले सिर्फ़ रणजी ट्रॉफ़ी, विजय हजारे ट्रॉफ़ी और सैय्यद मुश्ताक़ अली ट्रॉफ़ी के बारे में ऐसा कहा जाता था। हर आईपीएल सीज़न में कई ऐसे शानदार प्रदर्शन देखने को मिलते हैं जो राष्ट्रीय चयनकर्ताओं की नज़र में आ जाते हैं। हाल की बात करें तो तमिलनाडु के खिलाड़ी वॉशिंग्टन सुंदर का आईपीएल में ज़बरदस्त प्रदर्शन उनके लिए टीम इंडिया का रास्ता बना। हांलाकि सुंदर ने तमिलनाडु प्रीमियर लीग में भी अच्छा खेल दिखाया था। यही बात बासिल थंपी, दीपक हुड्डा, श्रेयष अय्यर के बारे में भी कही जा सकती है। हम यहां उन 5 किशोर खिलाड़ियों के बारे में चर्चा कर रहे हैं जिनके भविष्य को लेकर काफ़ी उम्मीदें लगाई जा रही हैं। आईपीएल 2018 की शुरुआत 7 अप्रैल को मुंबई के वानखेड़े स्टेडियम में की जाएगी, ऐसे में इन युवा खिलाड़ियों पर हर किसी की नज़र होगी।

#1 पृथ्वी शॉ

अंडर-19 वर्ल्ड कप 2018 में भारत की जीत से पहले 18 साल के पृथ्वी शॉ के बारे में काफ़ी कम लोग ही जानते थे। लेकिन जिस तरह उन्होंने अपनी कप्तानी में टीम इंडिया को वर्ल्ड कप दिलाया है वो हर किसी को उम्रभर याद रहेगा। मुंबई में जन्मे इस खिलाड़ी का नाम हर क्रिकेट फ़ैंस की ज़ुबां पर है। इस साल हुए अंडर-19 वर्ल्ड कप में टीम इंडिया ने एक भी मैच नहीं हारा था। भारत ने इस वर्ल्ड कप में ऑस्ट्रेलिया को 2 बार हराया था। पृथ्वी शॉ पहली बार तब चर्चा में आए थे जब 14 साल की उम्र में एक स्कूल के मैच में सेंट फ़्रांसिस डि असीसी टीम के ख़िलाफ़ 330 गेंदों में 546 रन की पारी खेली थी। शॉ ने 9 प्रथम श्रेणी मैच में 5 शतक और 3 अर्धशतक लगाए हैं। यही वजह है कि उन्हें अगला सचिन तेंदुलकर कहा जाता है। इस साल वो अपना पहला आईपीएल टूर्नामेंट खेलेंगे। जनवरी में हुई नीलामी के दौरान दिल्ली डेयरडेविल्स टीम ने उन्हें 1.2 करोड़ रुपये की क़ीमत में ख़रीदा है। टीम को उम्मीद है कि पृथ्वी के आने से दिल्ली को मज़बूती मिलेगी।

#2 संदीप लमिछाने

साल 2018 की आईपीएल नीलामी में 17 साल के नेपाली खिलाड़ी संदीप लमिछाने को ख़रीदा गया है। वो आईपीएल के किसी भी टीम में बिकने वाले पहले नेपाली क्रिकेटर हैं। इस युवा लेग स्पिन गेंदबाज़ को दिल्ली डेयरडेविल्स ने उनकी बेस प्राइस 20 लाख चुकाकर टीम में शामिल किया है। लमिछाने पहली बार साल 2016 के अंडर-19 वर्ल्ड कप के दौरान चर्चा में आए थे, जब उन्होंने पूरे टूर्नामेंट में 14 विकेट हासिल किए थे। वो उस वर्ल्ड कप में दूसरे सबसे ज़्यादा विकेट लेने वाले गेंदबाज़ बने थे। इस दौरान उन्होंने एक हैट्रिक भी लिया था। उनकी सबसे बेहतरीन गेंदबाज़ी तब हुई थी जब उन्होंने 27 रन देकर 5 विकेट हासिल किए थे। विश्व के कई टूर्नामेंट में संदीप के शानदार प्रदर्शन की बदौलत उन्हें ऑस्ट्रेलिया के पूर्व कप्तान माइकल क्लार्क का साथ मिला था। लमिछाने ने क्लार्क से काफ़ी कुछ सीखा है जो उनके भविष्य में ज़रूर काम आएगा। हो सकता है कि इस आईपीएल में वो राशिद ख़ान जैसा कारनामा कर गुज़रें।

#3 मुजीब ज़दरान

अफ़ग़ानिस्तान के मुजीब ज़दरान ने 16 साल की उम्र में अपने अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट करियर का आग़ाज़ किया था। आईपीएल नीलामी के दौरान मुजीब को किंग्स इलेवन पंजाब की टीम ने 4 करोड़ रुपये में ख़रीदा है। इस बेहतरीन खिलाड़ी का ख़ानदान क्रिकेट से ताल्लुक रखता है। साल 2017 में आयरलैंड के ख़िलाफ़ अपने डेब्यू मैच में उन्होंने 4 बल्लेबाज़ों को पवेलियन की वापस भेज दिया था। हाल में ही ख़त्म हुए आईसीसी अंडर-19 क्रिकेट वर्ल्ड कप में उन्होंने 26.66 की औसत और 3.5 की स्ट्राइक रेट से 6 विकेट हासिल किए हैं। उनके इसी योगदान की बदौलत अफ़ग़ान टीम ने सेमीफ़ाइनल का सफ़र तय किया था। इसी फ़रवरी के महीने में वो एक वनडे में 5 विकेट हासिल करने वाले सबसे युवा गेंदबाज़ बने थे। ये कारनाम उन्होंने ज़िम्बाब्वे के ख़िलाफ़ किया था। जिन्होंने भी ज़दरान के क्रिकेट करियर को नज़दीक से देखा है, उसने पाया है कि वो अपने मौक़े का भरपूर फ़ायदा उठाने से बिलकुल नहीं चूकते। आईपीएल 2018 का सीज़न काफ़ी नज़दीक आ चुका है, ऐसे में हर किसी को इस युवा अफ़ग़ानी क्रिकेटर से अच्छी ख़ासी उम्मीदें हैं।

#4 कमलेश नागरकोटी

18 साल के कमलेश नागरकोटी भारत के सबसे तेज़े से उभरते हुए युवा खिलाड़ी हैं। आईसीसी अंडर-19 वर्ल्ड 2018 में भारत और ऑस्ट्रेलिया के बीच लीग मैच जारी था, तब राजस्थान के इस तेज़ गेंदबाज़ लगातार 145 किलोमीटर प्रति घंटे की रफ़्तार से गेंदबाज़ी करते पाए गए थे। इसी मैच में उन्होंने एक गेंद 149 किलोमीटर प्रति घंटे की स्पीड से फेंकी थी। साल 2017 में वो अंडर-19 टीम इंडिया में चुने गए थे, उस वक़्त युवा भारतीय टीम इंग्लैंड के दौरे पर जा रही थी। इंग्लिश टूर के दौरान वो सबसे ज़्यादा विकेट लेने वाले गेंदबाज़ बने थे। वो एशिया कप के लिए अंडर-23 टीम में भी चुने गए थे। कमलेश नागरकोटी उस वक़्त सुर्ख़ियों में आ गए थे जब उन्होंने विजय हजारे ट्रॉफ़ी के डेब्यू मैच में राजस्थान टीम की तरफ़ से खेलते हुए गुजरात के ख़िलाफ़ हैट्रिक ली थी। यही वजह रही कि उन्हें साल 2018 की आईपीएल नीलामी के दौरान कोलकाता नाइटराइडर्स टीम ने 3.2 करोड़ रुपये में ख़रीदा है। अंडर-19 वर्ल्ड कप जीतने के बाद नागरकोटी से सबको उम्मीदें हैं।

#5 शुबमन गिल

18 साल के पंजाबी खिलाड़ी शुभमन गिल एक ही हफ़्ते में 2 वजहों से चर्चा में आ गए थे। पहला जब उन्होंने आईसीसी अंडर-19 वर्ल्ड कप 2018 के सेमीफ़ानल में पाकिस्तान के ख़िलाफ़ शतक बनाया था, दूसरा तब जब उन्हें आईपीएल नीलामी में कोलकाता नाइटराइडर्स टीम ने 1.8 करोड़ रुपये में ख़रीदा था। गिल ने अब तक 2 रणजी मैच खेले हैं जिनमें से एक में उन्होंने शतक लगाया है। वो एक और उप्लब्धि है, उन्होंने पंजाब की अंडर-19 टीम की तरफ़ से खेलते हुए दोहरा शतक लगाया था। बीसीसीआई ने उन्हें लगातार 2 साल तक ‘बेस्ट जूनियर क्रिकेटर’ का अवॉर्ड दिया था। ससेक्स में हुए वनडे में उन्होंने अंडर-19 टीम इंडिया की तरफ़ से खेलते हुए इंग्लैंड के ख़िलाफ़ 147 रन की पारी खेली थी। इस टूर्नामेंट के आख़िर में उन्हें ‘मैन ऑफ़ द सीरीज़’ के अवॉर्ड से नवाज़ा गया था। लेखक- उमैमा सईद अनुवादक – शारिक़ुल होदा

Edited by Staff Editor

Comments

Fetching more content...