Create
Notifications

IPL 2018: 5 विश्व स्तरीय बल्लेबाज़ जो इस साल नहीं हैं टूर्नामेंट का हिस्सा

Himanshu Kothari

इंडियन प्रीमियर लीग 2018 का आधा सीजन बीत चुका है और इस टूर्नामेंट में कई विश्व स्तरीय बल्लेबाजों को गेंदबाजों पर हावी होते हुए देखा गया है। इनमें क्रिस गेल, शेन वॉट्सन, केन विलियमसन का नाम सबसे आगे हैं। वहीं भारत के विराट कोहली भी समय-समय पर अपना कमाल दिखा रहे हैं।

इंडियन प्रीमियर लीग में खेलना दुनिया भर के क्रिकेटरों का सपना है। आईपीएल की एक टीम में केवल चार विदेशी खिलाड़ियों को शामिल किया जा सकता है। जिसके कारण हर एक खिलाड़ी को टीम में जगह दे पाना मुश्किल हो जाता है और दुर्भाग्य से कुछ खिलाड़ी इस टूर्नामेंट का हिस्सा बनने से चूक जाते हैं।

ऐसे में जब विश्व स्तरीय खिलाड़ी इस टूर्नामेंट का हिस्सा बनने से चूक जाते हैं तो प्रशंसक सबसे अधिक प्रभावित होते हैं क्योंकि उन्हें आईपीएल में अपने पसंदीदा खिलाड़ियों को खेलते देखने का मौका नहीं मिलता है। ऐसे में काफी निराशा का सामना भी करना पड़ता है।

आइए यहां उन पांच विश्व स्तरीय बल्लेबाजों पर एक नजर डालें, जिन्हें इस साल के आईपीएल में शामिल नहीं किया गया।

#5 इयोन मोर्गन

इयोन मोर्गन विश्व क्रिकेट में उन चार खिलाड़ियों में शामिल हैं जिन्होंने क्रिकेट में दो अलग-अलग राष्ट्रों का प्रतिनिधित्व किया है। इयोन मोर्गन फिलहाल इंग्लैंड वनडे टीम के कप्तान हैं। इयोन मोर्गन अपनी शानदार बल्लेबाजी के लिए जाने जाते हैं। अपने नेतृत्व में इंग्लैंड को इयोन मोर्गन ने व्हॉइट बॉल क्रिकेट में शीर्ष टीमों में से एक के रूप में जगह दिलाने में कामयाबी हासिल की है।

आईपीएल के साथ इयोन मोर्गन का कनेक्शन साल 2010 से है। उन्होंने रॉयल चैलेंजर्स बैंगलोर की तरफ से खेलते हुए आईपीएल की शुरुआत की थी। वहीं पिछले साल सनराइजर्स हैदराबाद के लिए खेलते हुए वो सिर्फ चार मैच ही खेल पाए थे। उनके नाम आईपीएल में रिकॉर्ड 121 की स्ट्राइक रेट के साथ 854 रन दर्ज हैं। इस साल की नीलामी के दौरान वह उन उच्च स्तरीय खिलाड़ियों में से एक थे जिन्हें किसी भी टीम के जरिए नहीं चुना गया था।

#4 हाशिम अमला

कई क्रिकेट विशेषज्ञों का मानना है कि हाशिम अमला टेस्ट क्रिकेट के लिहाज से उपयुक्त बल्लेबाज हैं लेकिन टी20 क्रिकेट के लिए हाशिम अमला सही खिलाड़ी नहीं है। हालांकि ओडीआई क्रिकेट में कमाल की बल्लेबाजी दिखाते हुए उन्होंने अपने आलोचकों को करारा जबाव दे दिया। यही कारण है कि हाशिम अमला वर्तमान में वनडे क्रिकेट में सर्वश्रेष्ठ बल्लेबाजों में से एक हैं और 50 से अधिक की औसत के साथ 7535 रन बना चुके हैं। ओडीआई के साथ ही टी20 में भी हाशिम अमला अपना कमाल पिछले आईपीएल सीजन में दिखा चुके हैं।

आईपीएल 2017 में हाशिम अमला का प्रदर्शन शानदार था। उन्होंने किंग्स इलेवन पंजाब के लिए खेलते हुए दो शतकीय पारियों को अंजाम दिया था और टूर्नामेंट में छठे सबसे ज्यादा रन स्कोरर के तौर पर सामने आए थे। हालांकि आईपीएल 2018 की नीलमी प्रक्रिया में उन्हें नजरअंदाज कर दिया गया और किसी भी फ्रैंचाइजी ने उन्हें नहीं खरीदा।

#3 रॉस टेलर

रॉस टेलर को दुनिया में सबसे विस्फोटक शीर्ष क्रम के बल्लेबाज के तौर पर एक माना जाता है। हालांकि उनका नाम वनडे क्रिकेट में महान खिलाड़ियों में नहीं लिया जाता लेकिन वह न्यूजीलैंड के लिए लगातार शानदार प्रदर्शन कर रहे हैं और 46.25 की औसत से 7262 रन बना चुके हैं।

उन्हें आईपीएल में उनके ऑन-साइड स्ट्रोकप्ले और स्लॉग स्वीप के लिए याद किया जाता है। रॉयल चैलेंजर्स बैंगलोर के लिए खेलते हुए उन्होंने कई शानदार पारियों को अंजाम दिया है। उनमें से एक केकेआर के खिलाफ था जिसमें उन्होंने मुश्किल स्थिति में 33 गेंदों पर नाबाद 81 रनों की पारी खेली थी। हालांकि इस बार आईपीएल नीलामी में रॉस टेलर बिना बिके रह गए।

#2 मार्टिन गप्टिल

मार्टिन गप्टिल न्यूजीलैंड टीम के मुख्य खिलाड़ियों में से एक है। ठोस शुरुआत करने और छोटे स्कोर को बड़े स्कोर में बदलने की उनकी क्षमता के कारण उन्हें एक विश्वसनीय खिलाड़ी के रूप में देखा जा जाता है। उन्होंने आईपीएल में मुंबई इंडियंस और किंग्स इलेवन पंजाब के लिए खेला है।

आईपीएल में खेलते हुए गप्टिल ने कई शानदार पारियों को अंजाम दिया है, लेकिन इस साल आईपीएल की नीलामी प्रक्रिया में मार्टिन गुप्टिल को नजरअंदाज कर दिया गया और किसी भी टीम ने उन पर दांव नहीं लगाया। हालांकि नीलामी प्रक्रिया के बाद मार्टिन गुप्टिल ने टी20 मैच में ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ न्यूजीलैंड के लिए सबसे तेज शतक जरूर लगा दिया। उन्होंने केवल 49 गेंदों में शतक लगाया और इसके साथ ही ऐसे छठे खिलाड़ी भी बन गए जिसके नाम टी20 क्रिकेट में दो या उससे ज्यादा शतक दर्ज हैं।

#1 जो रूट

इंग्लैंड टेस्ट टीम के मौजूदा कप्तान जो रूट अपने शानदार खेल के जरिए विश्व क्रिकेट में अपनी पहचान बना चुके हैं। वर्तमान में विराट कोहली और स्टीवन स्मिथ के साथ जो रूट टॉप तीन बल्लेबाजों के क्रम में खुद को भी शामिल किए हुए हैं। उनकी बल्लेबाजी तकनीक और ऑफ-साइड स्ट्रोक-प्ले देखने से कोई भी प्रभावित हो सकता है।

व्हाइट बॉल क्रिकेट में रूट की स्थिरता काफी अधिक है। उनकी वनडे क्रिकेट में औसत 51 है और वहीं टी20 क्रिकेट में उनकी औसत 39 है। मैदान पर जो रूट अच्छे से अच्छे गेंदबाज के भी पसीना छूटा देते हैं। हालांकि अपनी शानदार बल्लेबाजी के कारण भी इस सीजन में जो रूट को आईपीएल की नीलामी प्रक्रिया में किसी भी टीम के लिए नहीं चुना गया।

लेखक: सौरभ हुम्बरवाड़ी

अनुवादक: हिमांशु कोठारी

Edited by Staff Editor

Comments

Fetching more content...