Create
Notifications

IPL 2018 : ऐसे 5 क्रिकेटर जो कप्तानी के प्रमुख दावेदार हैं

शारिक़ुल होदा Shariqul Hoda

किसी भी टीम के लिए एक समझदार और मज़बूत कप्तान का होना बेहद ज़रूरी है। चेन्नई सुपरकिंग्स के लिए महेंद्र सिंह धोनी, मुंबई इंडियंस के लिए रोहित शर्मा और कोलकाता नाइटराइडर्स के लिए गौतम गंभीर ने एक से ज़्यादा आईपीएल ख़िताब जिताए हैं। हांलाकि ऐसा कोई आधिकारिक ऐलान नहीं हुआ है कि किस टीम का कप्तान कौन होगा, फिर भी 5 टीमों के लिए जो कप्तान तय माने जा रहे हैं। उनके नाम हैं: . मुंबई इंडियंस – रोहित शर्मा रॉयल चैलेंजर्स बैंगलौर – विराट कोहली चेन्नई सुपरकिंग्स – महेंद्र सिंह धोनी सनराइज़र्स हैदराबाद – डेविड वॉर्नर राजस्थान रॉयल्स – स्टीव स्मिथ अब जिन 3 टीमों के कप्तान को लेकर अभी भी नाम तय नहीं है वो हैं कोलकाता नाइटराइडर्स, किंग्स इलेवन पंजाब, दिल्ली डेयरडेविल्स। इन तीनों टीम की कोशिश ये रहेगी कि वो एक ठोस कप्तानी के दावेदार को नीलामी में ख़रीदे, जिससे उनकी टीम को फ़ायदा मिल सके। हम यहां उन 5 खिलाड़ियों के बारे में बताएंगे जिन्हें किसी आईपीएल टीम का कप्तान बनाया जा सकता है।

#5 अजिंक्य रहाणे

अजिंक्य रहाणे को हमेशा लंबे फ़ॉर्मेट का खिलाड़ी समझा जाता रहा है। आईपीएल के शुरूआती 3 सीज़न में वो मुंबई इंडियंस टीम का हिस्सा थे, लेकिन उनको ज़्यादा मौक़ा नहीं मिल पाया था। साल 2011 में वो राजस्थान रॉयल्स टीम से जुड़े थे लेकिन इस साल भी उनकी किस्मत नहीं चमकी। साल 2012 में उन्हें ओपनिंग के लिए भेजा गया, तब से उन्होंने कभी पीछे मुड़कर नहीं देखा। रहाणे ने अपने गुरु राहुल द्रविड़ से बहुत तारीफ़ें हासिल की हैं, क्योंकि उन्होंने एक खिलाड़ी के तौर पर बहुत सुधार किया है। द्रविड़ की तरह रहाणे भी बिना किसी टेंशन के पिच पर डटे रहते थे। वक़्त बीतने के साथ रहाणे की किस्मत चमकी और उनको भारतीय टेस्ट टीम का उप-कप्तान बनाया गया। रहाणे ने ऑस्ट्रेलिया के ख़िलाफ़ एक टेस्ट मैच में टीम इंडिया की कप्तानी भी की थी और भारत को जीत दिलाई थी। स्टीव स्मिथ की ग़ैरमौजूदगी में रहाणे ने पुणे टीम की कप्तानी भी की थी। हालांकि साल 2017 में उन्होंने उम्मीद के मुताबिक बल्लेबाज़ी नहीं की थी। और अपने इसी फ़ॉर्म में गिरावट की वजह से वो टीम इंडिया में आते जाते भी रहे हैं। इसके बावजूद रहाणे को रिटेन न किया जाना एक चौंकाने वाला फ़ैसला था। रहाणे ने कई बार ये साबित किया है कि वो कितने बेहतरीन खिलाड़ी हैं। उम्मीद है कि आने वाले आईपीएल में वो शानदार शानदार प्रदर्शन करेंगे। तज़ुर्बे के हिसाब से वो एक अच्छे कप्तान साबित हो सकते हैं। जिस टीम के कप्तान फ़िलहाल तय नहीं है वो रहाणे को ख़रीद सकते हैं। ये भी हो सकता है कि राजस्थान रॉयल्स टीम उन्हें राइट टू मैच कार्ड के ज़रिए रिटेन कर ले।

#4 युवराज सिंह

युवराज सिंह ने अपने क्रिकेट करियर में काफ़ी कुछ हासिल किया है। साल 2007 वर्ल्ड टी-20 में उनका 6 गेंदों पर 6 छक्का और 2011 में उनका शानदार प्रदर्शन (प्लेयर ऑफ़ द टूर्नामेंट) सभी को याद है। यही वजह थी कि आईपीएल की पहली नीलामी के दौरान वो बेहद पसंदीदा खिलाड़ी बन गए थे। साल 2008 के पहले आईपीएल सीज़न में किंग्स इलेवन पंजाब ने उन्हें आइकन प्लेयर के तौर पर चुना था। उस साल पंजाब टीम ने शानदार प्रदर्शन करते हुए प्वाइंट टेबल में दूसरा स्थान हासिल किया था और सेमीफ़ाइनल में जगह बनाई थी। आईपीएल के तीसरे सीज़न में पंजाब टीम की कप्तानी कुमार संगाकारा को दे दी गई थी। साल 2011 में युवराज सिंह को पुणे वॉरियर्स टीम ने ख़रीद लिया था और उन्हें टीम का कप्तान बनाया गया था। कैंसर की बीमारी की वजह से युवराज साल 2012 के आईपीएल में नहीं खेल पाए थे। साल 2013 में वापसी के दौरान वो कुछ ख़ास कमाल नहीं दिखा पाए थे। इसके बाद युवराज सिंह रॉयल चैलेंजर्स बैंगलौर, दिल्ली डेयरडेविल्स और सनराइज़र्स हैदराबाद टीम के लिए खेल चुके हैं, लेकिन इन तीनों टीम के वो कप्तान नहीं बनाए गए थे। सनराइज़र्स हैदराबाद ने इस साल युवराज को रिटेन न करने का फ़ैसला किया। चूंकि युवराज ने 2 टीमों के लिए कप्तानी की है इसलिए उनसे कप्तानी कराई जा सकती है। युवराज टीम इंडिया के उप कप्तान रह चुके हैं। इन्ही तजुर्बे को देखते हुए कई टीम की नज़र युवराज सिंह पर हो सकती है।

#3 जो रूट

जो रूट मौजूदा दौर के बेहतरीन बल्लेबाज़ है फिर भी उन्हें अब तक आईपीएल खेलने का मौक़ा नहीं मिला। आईसीसी रैंकिंग की बात करें तो टेस्ट में दूसरे, वनडे में 7वें और टी-20 में 9वें नंबर के बल्लेबाज़ हैं। वो एक पार्ट टाइम ऑफ़ स्पिनर भी हैं और गेंदबाज़ी में भी अहम योदगान देते हैं। वो क़रीब एक साल से इंग्लिश टीम के कप्तान हैं। इतना शानदार खिलाड़ी किसी भी आईपीएल टीम में अपनी जगह बना सकता है। उनके पास न सिर्फ़ अच्छे खिलाड़ी होने की क़ाबिलियत है बल्कि वो एक अच्छे कप्तान भी साबित हो सकते हैं।

#2 हरभजन सिंह

हरभजन सिंह को प्यार से ‘भज्जी’ भी बुलाया जाता है, वो भारत के एक बेहतरीन स्पिन गेंदबाज़ रहे हैं। साल 2008 में आईपीएल की शुरुआत से ही वो बेहतरीन प्रदर्शन कर रहे हैं। श्रीशांत को थप्पड़ मारने की घटना के बाद से वो और भी मश्हूर हो गए थे। वो लगातार मुंबई इंडियंस टीम का अहम हिस्सा रहे हैं। जब-जब मुंबई ने आईपीएल ख़िताब जीता है हरभजन ने उसमें शानदार खेल दिखाया है। हर सीज़न से पहले भज्जी की क़ाबिलियत पर शक किया जाता रहा है, इसके बावजूद हरभजन का खेल लगातार अच्छा रहा है। उन्होंने न सिर्फ़ गेंद से, बल्कि बल्ले से भी कमाल दिखाया है। हरभजन सिंह आईपीएल इतिहास के तीसरे सबसे ज़्यादा विकेट लेने वाले खिलाड़ी हैं। इसके अलावा वो मुंबई टीम के दूसरे सबसे तेज़ अर्धशतक बनाने वाले क्रिकेटर हैं। हांलाकि रोहित शर्मा ने उन तीन सीज़न में कप्तानी की थी जब मुंबई ने आईपीएल ख़िताब जीता था। हरभजन सिंह ने अपनी कप्तानी में 2011 के चैंपियंस लीग टी-20 में मुंबई टीम को टूर्नामेंट का विनर बनाया था। इस चैपियंस लीग के फ़ाइनल में भज्जी को मैन ऑफ़ द मैच अवॉर्ड से नवाज़ा गया था। मुंबई ने साल 2013 का भी चैंपियंस लीग का ख़िताब जीता था। इस टूर्नामेंट के फ़ाइनल में भी भज्जी मैन ऑफ़ द मैच बने थे। विराट कोहली के अलावा हरभजन सिंह ही ऐसे खिलाड़ी हैं जिन्होंने सभी आईपीएल सीज़न में एक ही टीम के लिए खेला हो। हरभजन की उम्र अब 37 साल हो गई है। उन्हें इस साल मुंबई टीम में रिटेन नहीं किया गया है। हो सकता है कि कोई टीम उन्हें बतौर कप्तान अपनी टीम में शामिल कर ले। अब देखना होगा कि आईपीएल 2018 में हरभजन किस टीम का हिस्सा होंगे

#1 गौतम गंभीर

साल 2011 में कोलकाता नाइटराइडर्स ने गौतम गंभीर को 2.4 मिलियन डॉलर में ख़रीदा था। कई आलोचकों ने कोलकाता के इस फ़ैसले को महंगा बताया था। इसके बावजूद गौतम गंभीर ने अपने सभी आलोचकों को ग़लत साबित कर दिया और कोलकाता टीम के सबसे सफल खिलाड़ी और कप्तान बन गए। उनकी कप्तानी में केकेआर ने 2 आईपीएल ख़िताब जीते हैं। साल 2011 से उन्होंने हर आईपीएल में कम से कम 300 रन ज़रूर बनाए हैं। वो आईपीएल के चौथे सबसे ज़्यादा रन बनाने वाले बल्लेबाज़ बन गए हैं। उनके नाम आईपीएल में 4132 रन हैं। मौजूदा दौर में ऐसा नहीं लगता कि केकेआर टीम और गौतम के रिश्ते अब वैसे ही हैं जैसा कि पहले हुआ करते थे। हांलाकि केकेआर के पास राइट टू मैच कार्ड के ज़रिए गंभीर को रिटेन करने का मौक़ा है। लेकिन ऐसा लगता नहीं कि वो इस बार कोलकाता टीम का हिस्सा होंगे। ख़बरों की माने तो वो दिल्ली डेयरडेविल्स टीम में शामिल हो सकते हैं। बेहद मुमकिन है कि वो दिल्ली टीम के कप्तान भी बनाए जा सकते हैं। लेखक- विष्णु राजेश अनुवादक – शारिक़ुल होदा

Edited by Staff Editor

Comments

Fetching more content...