Create

IPL 2018: सनराइज़र्स हैदराबाद की सीज़न के पहले मैच के लिए संभावित एकादश

दस शानदार वर्षों के बाद इंडियन प्रीमीयर लीग ने अपने इतिहास में सबसे बड़ी नीलामी देखी। अधिकांश खिलाड़ी इसके दायरे में आ गये क्योंकि केवल कुछ ही खिलाड़ी अपनी पूरानी टीम के साथ जुड़े रह पाये थे। सनराइज़र्स हैदराबाद ने नीलामी से पहले अपने पिछले साल के ऑरेंज कैप और पर्पल कैप विजेताओं, यानी डेविड वॉर्नर और भुवनेश्वर कुमार को बरकरार रखा था और नीलामी खत्म होने के बाद भी सबसे संतुलित टीमों में से एक के रूप में बाहर निकले है। उन्होंने टीम के अन्य दो सितारों राशिद खान और शिखर धवन पर अपने आरटीएम का उपयोग कर टीम में बरकरार रखने में सफलता पाई। कई क्रिकेट विशेषयज्ञों ने सनराइजर्स को कागज़ पर सबसे मजबूत टीम भी करार दिया है। आईये एक नज़र आईपीएल के आने वाले संस्करण के पहले मैच के लिये इस टीम की संभावित एकादश पर :

सलामी बल्लेबाज़

डेविड वॉर्नर और शिखर धवन

यहाँ कोई आश्चर्य नहीं है क्योंकि पिछले कुछ सालों में, इस बायें हाथ की जोड़ी ने खुद को आईपीएल में सबसे अच्छी सलामी जोड़ी के रूप में स्थापित कर दिया है। पिछले तीन संस्करणों में डेविड वॉर्नर ने दो बार ऑरेंज कैप हासिल की और एक बार विराट कोहली से पिछड गये। वह आईपीएल के सर्वश्रेष्ठ सलामी बल्लेबाज हैं और हैदराबाद के लिए उनकी निरंतरता अनमोल रही है। इस ऑस्ट्रेलियाई ने टीम का हमेशा आगे बढ़कर नेतृत्व किया है और सनराइजर्स को 2016 में खिताब भी दिलाने में सफल रहे है। धवन-वॉर्नर के लिए एक उपयुक्त साझीदार हैं। वह धीमी गति से शुरू तो करते हैं मगर स्ट्राइक लगातार रोटेट करते रहते है, जिससे वह अपने कप्तान को दूसरे छोर पर तेज़ी से रन बनाने की इजाजत देते है। इस जोड़ी ने कई अर्धशतकीय साझेदारियाँ की है, और कई अवसरों पर सनराइजर्स को आदर्श शुरुआत प्रदान करते रहे हैं।

मध्यक्रम

मनीष पांडे, ऋद्धिमान साहा (विकेट-कीपर)

सनराइजर्स ने कर्नाटक के बल्लेबाज मनीष पांडे की सेवाओं को प्राप्त करने के लिए 11 करोड़ रुपये खर्च किये हैं। पूर्व केकेआर बल्लेबाज पिछले कुछ वर्षों में बल्ले से काफी अच्छे फॉर्म में रहे थे और भारतीय टीम के भी नियमित सदस्य हैं। वॉर्नर और धवन की गतिशील सलामी बल्लेबाज़ी के टूटने के बाद, बहुमुखी पांडे एक ऐसे आदर्श खिलाड़ी होंगे जो स्थिति की मांग के अनुसार बल्लेबाजी कर सके। 2014 के फाइनल में उनकी मैच जीताने वाली पारी उनकी परिपक्वता को दिखाते हैं और साथ ही साथ पारी को गति देने की उनकी योग्यता दिखाती है। 2014 के ही फाइनल में एक अन्य खिलाड़ी जिसने अच्छा प्रदर्शन किया था, वो थे ऋद्धिमान साहा, जो आईपीएल फाइनल में शतक बनाने वाले पहले बल्लेबाज बने थे। उनका शतक व्यर्थ हो गया था, लेकिन उस दिन साहा ने सभी को बल्ले से अपनी प्रतिभा का परिचय दे दिया था। साहा विकेट के पीछे भी काफी चुस्त प्रदर्शन करने वाले विकेटकीपर और भारतीय टेस्ट टीम के एक नियमित सदस्य है।

ऑलराउंडर

शाकिब अल हसन, दीपक हुड्डा और मोहम्मद नबी

सनराइजर्स ने शाकिब अल हसन को केवल एक करोड़ रुपये में नीलामी में हासिल करने में सफलता हासिल की थी। बल्ले और गेंद के दोनों के ही साथ शाकिब अल हसन कोलकाता नाइट राइडर्स के पिछले कुछ सत्रो में महत्वपूर्ण भूमिका निभा चुके हैं। सनराइजर्स उन्हें इतनी कम कीमत पर पाकर प्रसन्न होंगे और उम्मीद करेंगे की शकिब अपनी प्रभावी स्पिन गेंदबाजी और आक्रामक बल्लेबाजी से उन्हें मैच जीतने में मदद करेंगे। दीपक हुड्डा अपनी ऑलराउंड क्षमताओं के कारण किसी भी टीम के एक मूल्यवान संपत्ति बन जाते है। वह अंतिम ओवेरों में गेंद को फेंक सकते है। वह एक अच्छे और सरल स्पिनर है और जब जरूरत पड़े तो काम आ सकते हैं। मोहम्मद नबी अफगानी ऑलराउंडर हैं, जो फॉर्म में हैं। टी -20 में ऑल राउंडर्स की सूची में उन्हें तीसरा स्थान दिया गया है। बल्ले के साथ, वह एक अविश्वसनीय स्ट्राइक रेट से रन बना रहे हैं और निचले क्रम में सनरायर्स की बल्लेबाजी क्रम में पूरी तरह फिट बैठेंगे। उनकी दाएं हाथ की धीमी गेंदबाजी इकॉनमी के मामले में अब तक बहुत प्रभावी साबित हुई है।

गेंदबाज़

राशिद खान, भुवनेश्वर कुमार, सिद्धार्थ कौल, संदीप शर्मा

राशिद खान अभी अपने एकदिवसीय करियर के सर्वश्रेस्ठ फॉर्म में है जीवन और हाल ही में ज़िम्बाब्वे के खिलाफ सिर्फ 5 मैचों में 16 विकेट लेने के बाद एकदिवसीय क्रिकेट में पहली रैंक वाले गेंदबाज़ बन गये हैं। वह बिग बैश में भी शानदार फार्म में थे और आईपीएल 2018 में निश्चित रूप से सबसे अच्छे गेंदबाजों में से एक होगे। सनराइज़र्स शिविर में तेज़ गेंदबाजी विभाग शानदार गेंदबाजों से भरा है। उनके हमले का नेतृत्व भुवनेश्वर कुमार के हाथों होगा, जिन्होंने पिछले दो पर्पल कैप जीते हैं और लगातार तीसरी बार जीतने के लिए पसंदीदा उम्मीदवार होंगे। दूसरे दो स्लॉट को भरने के लिए, सनराइजर्स के पास- सिद्धार्थ कौल, संदीप शर्मा, सैयद खलील अहमद और बासिल थम्पी के रूप में कुछ बेहतरीन विकल्प हैं। कौल ने पिछले साल सनराइजर्स के लिए बहुत अच्छा प्रदर्शन किया था, जिसमें 16 विकेट लिए थे, और अंतिम-11 में अपनी जगह बनाई है। संदीप शर्मा ने खुद को सर्वश्रेष्ठ पॉवर प्ले गेंदबाजों में से एक के रूप में साबित किया है और आईपीएल में उनका काफी अनुभव है। यह स्विंग गेंदबाज भुवनेश्वर कुमार के साथ गेंदबाजी की शुरुआत करने के लिये एक संभावना है। बासिल थम्पी और सैयद खलील अहमद को भी सीजन के दौरान कुछ अवसर प्राप्त होना तय है।

सनराज़र्इस हैदराबाद की संभावित एकादश:

डेविड वॉर्नर(कप्तान), शिखर धवन, मनीष पांडे, ऋद्धिमान साहा, शाकिब अल हसन, दीपक हुड्डा, मोहम्मद नबी, भुवनेश्वर कुमार, सिद्धार्थ कौल, राशिद खान, संदीप शर्मा

लेखक: विष्णु राजेश अनुवादक: राहुल पांडे

Edited by Staff Editor
Be the first one to comment