IPL 2018: भारत के टी 20 स्टार खिलाड़ियों का रिपोर्ट कार्ड

आईपीएल सीज़न 2018 चेन्नई सुपर किंग्स की शानदार जीत के साथ ख़त्म हो गया। शेन वॉटसन के ज़बर्दस्त प्रदर्शन के दम पर धोनी बिग्रेड ने तीसरी बार यह ख़िताब जीता। लीग के 11वे सीज़न में हमें कई यादगार क्षण देखने को मिले, जहां स्टार खिलाड़ियों ने अपने प्रदर्शन से प्रशंसकों का खूब मनोरंजन किया, वहीं युवा खिलाड़ियों ने अपने खेल से सबका दिल जीत लिया। अब आईपीएल सीज़न के बाद भारतीय प्रशंसकों का सारा ध्यान टीम इंडिया के अफगानिस्तान और इंग्लैंड के साथ मुकाबलों पर होगा। जबकि भारत का अफगानिस्तान के खिलाफ एकमात्र टेस्ट ऐतिहासिक महत्व रखता है, टीम इंडिया की असली परीक्षा इंग्लैंड दौरे में होगी, यह देखना काफी दिलचस्प होगा कि विराट बिग्रेड इयोन मोर्गन की सेना का कैसे मुकाबला करती है। टी 20 सीरीज़ के लिए चुनी गई भारतीय टीम प्रत्येक विभाग में काफी मजबूत दिखती है। हालांकि,हाल ही में ख़त्म हुए आईपीएल में सभी खिलाड़ियों ने तो शानदार प्रदर्शन नहीं किया है, यह देखना दिलचस्प होगा कि भारत के स्टार खिलाड़ी इंग्लैंड की परिस्थितियों में कैसा प्रदर्शन करते हैं। आइये एक नज़र डालते हैं आईपीएल 2018 में भारत के स्टार खिलाड़ियों के प्रदर्शन पर।

रोहित शर्मा - 4/10

इस आईपीएल सीज़न में रोहित ने 14 मैचों में केवल 286 रन बनाए हैं, जो उनके स्तर के बल्लेबाज़ के लिए निराशाजनक प्रदर्शन है। मुंबई इंडियंस के कप्तान कई अहम मौकों पर आगे बढ़कर अपनी टीम को जीत दिलाने में असफल रहे हैं। आईपीएल इतिहास में यह पहला मौका है जब रोहित कुल 300 रन का आकड़ा भी ना छू सके। पिछले कुछ समय से खराब फॉर्म से जूझ रहे इस धाकड़ बल्लेबाज़ ने लीग में केवल दो अर्धशतक लगाए हैं। ऐसे में उन्हें जल्द से जल्द अपनी फॉर्म में लौटना होगा और इंग्लैंड दौरा उनके लिए परीक्षा की घड़ी होगी।

शिखर धवन - 7.5/10

आईपीएल में कप्तान केन विलियमसन के साथ मिलकर शिखर धवन ने सनराइज़र्स हैदराबाद को फाइनल तक पहुंचाया। टीम इंडिया के "गब्बर" इस समय बेहतरीन फॉर्म में चल रहे हैं और हाल ही में ख़त्म हुए आईपीएल में वह अपनी टीम के दूसरे सबसे ज़्यादा रन स्कोरर रहे हैं। हालांकि, दिल्ली के बाएं हाथ के यह बल्लेबाज़ आईपीएल फाइनल में अपनी टीम को अच्छी शुरुआत ना दे पाने से निराश होंगे। आंकड़ों की बात करें तो धवन ने 16 मैचों में 497 रन बनाए हैं और निश्चित रूप से इंग्लैंड दौरे में वह टीम इंडिया के अहम बल्लेबाज़ होंगे।

के एल राहुल - 10/10

किंग्स IX पंजाब के कलात्मक बल्लेबाज ने इस साल अपनी नई फ्रैंचाइज़ी के लिए खेलते हुए अपने पहले ही मैच में आईपीएल इतिहास का सबसे तेज़ अर्धशतक बना डाला। राहुल ने 14 मैचों में शानदार प्रदर्शन करते हुए 158.41 की बढ़िया स्ट्राइक रेट से 659 रन बनाए जिनमें 6 अर्धशतक शामिल हैं। अपने उत्कृष्ट प्रदर्शन से राहुल ने अपने आलोचकों को करारा जबाब दिया है। क्रिकेट प्रशंसक उम्मीद करेंगे कि वह अपनी यह प्रदर्शन इंग्लैंड दौरे में भी जारी रखेंगे।

विराट कोहली - 8.5 / 10

टीम इंडिया के कप्तान इस आईपीएल सीज़न में अपनी टीम रॉयल चैलेंजर्स बैंगलोर को खिताब जीताने में नाकाम रहे हैं। हालाँकि कोहली ने 14 मैचों में 530 48.18 के औसत से 530 रन बनाए हैं और वह आरसीबी के उच्चतम रन स्कोरर रहे हैं लेकिन उन्हें अपनी कप्तानी के लिए आलोचना का शिकार होना पड़ा। इंग्लैंड दौरे में, विराट कोहली, निसंदेह, भारत के सबसे अहम बल्लेबाज़ होंगे।

सुरेश रैना - 6.5 / 10

आईपीएल के स्टार खिलाड़ी होने के नाते सुरेश रैना ने इस सीज़न औसत प्रदर्शन किया है। 15 मैचों में 445 रन, उनके स्तर के खिलाड़ी के लिए निराशाजनक प्रदर्शन है। हालाँकि बाएं हाथ के इस जबरदस्त बल्लेबाज़ ने कई मौकों पर पारी को संभाला और टीम दिलाने में अहम निभाई लेकिन अपने प्रदर्शन में निरंतरता ना रख पाना उनके लिए ज़रूर चिंता का विषय होगा। इंग्लैंड दौरे में रैना मध्य-क्रम के महत्वपूर्ण बल्लेबाज़ होंगे, इस दौरे में किया शानदार प्रदर्शन उन्हें अगले साल होने वाले विश्व कप का टिकट थमा सकता है।

एमएस धोनी - 7.5 /10

दो साल के अंतराल के बाद, चेन्नई सुपर किंग्स के प्रशंसकों के लिए इससे बेहतर बात क्या सकती थी कि उनकी टीम एमएस धोनी की कप्तानी में तीसरी बार टूर्नामेंट का ख़िताब जीते। धोनी ने कई अहम मौकों पर टीम को संभाला और जीत की राह प्रशस्त की। 36 वर्षीय पूर्व भारतीय कप्तान ने इस आईपीएल में अपनी 15 पारियों में 75.83 की शानदार औसत से 455 रन बनाए हैं। निश्चित रूप से जुलाई में होने वाली टी -20 सीरीज़ में यह अनुभवी बल्लेबाज़ टीम इंडिया के 'ट्रम्प कार्ड' होंगे।

हार्दिक पांड्या- 7.5 /10

आईपीएल 2018 में हार्दिक पांड्या ने गेंद के साथ तो अच्छा प्रदर्शन किया है लेकिन बल्ले के साथ उनका निराशाजनक प्रदर्शन जारी है, जिसके लिए उन्हें आलोचना का शिकार भी होना पड़ा है। 13 मैचों में 18 विकेट और 260 रन के आंकड़े, उनकी आलराउंडर प्रतिभा को प्रदर्शित नहीं करते। पांड्या के लिए इंग्लैंड दौरा बहुत महत्वपूर्ण होगा क्यूंकि टीम इंडिया में वह एकमात्र आल राउंडर हैं। भारतीय प्रशंसकों को उम्मीद होगी कि वह इस दौरे में अपना सर्वश्रेष्ठ ऑल-राउंडिंग प्रदर्शन करेंगे।

भुवनेश्वर कुमार - 4/10

इस आईपीएल सीज़न में हालांकि, भुवनेश्वर कुमार ने नई गेंद के साथ विपक्षी बल्लेबाज़ों को परेशान किया है लेकिन उनका प्रदर्शन वैसा नहीं रहा, जिसके लिए वह जाने जाते हैं। 12 मैचों में सिर्फ 9 विकेट का आंकड़ा उनके स्तर के गेंदबाज़ के लिए निराशाजनक कहा जा सकता है। हालाँकि डेथ ओवरों में उन्होंने सटीक गेंदबाज़ी कर विपक्षी बल्लेबाज़ों पर अंकुश लगाकर टीम को जीताने में अहम योगदान दिया लेकिन कहीं ना कहीं उनकी गेंदबाज़ी में वो धार नज़र नहीं आई। फिर भी, इंग्लैंड में जहां तेज़ गेंदबाज़ों को पिच से मदद मिलती है, भारतीय प्रशंसक भुवी के अपने रंग में लौटने की उम्मीद करेंगे।

युज़वेंद्र चहल - 7/10

टी-20 प्रारूप में जहां हर गेंदबाज़ को मैदान के चारों ओर रन पड़ते हैं, युजवेंद्र चहल एकमात्र ऐसे गेंदबाज़ हैं जो इस आईपीएल सीज़न में आरसीबी के सर्व श्रेष्ठ गेंदबाज़ रहे हैं और जिन्होंने अपनी सटीक गेंदबाज़ी से विपक्षी बल्लेबाजों पर अंकुश लगाया। चहल ने 14 मैचों में 7.26 की अच्छी इकोनॉमी रेट से 12 विकेट लिए हैं। इंग्लैंड के बल्लेबाजों की स्पिन के खिलाफ कमज़ोरी को देखते हुए आगामी टी -20 श्रृंखला में वह कोहली के ट्रम्प कार्ड साबित हो सकते हैं।

जसप्रीत बुमराह - 8/10

दुनिया के सबसे बेहतरीन डेथ-ओवर्स गेंदबाज़ों में शुमार, बुमराह आगामी इंग्लैंड दौरे में भारतीय टीम के गेंदबाज़ी आक्रमण की कमान संभालेंगे। आईपीएल में भी उनका प्रदर्शन बढ़िया रहा है। बुमराह ने 6.88 की किफायती इकोनॉमी रेट से 14 मैचों में 14 विकेट लिए हैं। आईपीएल में बुमराह का सबसे बड़ा हथियार रहे डेथ ओवरों में उनके सटीक यॉर्कर्स, जिससे उन्होंने मुंबई इंडियंस को कई मौकों पर जीत दिलाई है। हालांकि, उनके आलोचकों का मानना है कि वह पिछले काफी समय से अपनी सर्वश्रेष्ठ फॉर्म में नहीं है, बुमराह इंग्लैंड दौरे में अच्छा प्रदर्शन कर अपने आलोचकों का मुँह बंद करने के लिए उत्सुक होंगे। लेखक: कौव्वली तेजा अनुवादक: आशीष कुमार