Create
Notifications
Favorites Edit
Advertisement

आईपीएल 2019: चेन्नई सुपरकिंग्स टीम की 3 कमज़ोरियां

टॉप 5 / टॉप 10
Published 20 Dec 2018, 22:25 IST
20 Dec 2018, 22:25 IST

Enter caption

चेन्नई सुपर किंग्स आईपीएल की मौजूदा चैंपियन है, साल 2019 के सीज़न के लिए इस टीम ने पूरी तैयारियां कर ली हैं। चेन्नई के मालिकों ने ज़्यादातर खिलाड़ियों को रिटेन करने का फ़ैसला किया है ताकि टीम का संतुलन न बिगड़े। 23 खिलाड़ी टीम में पहले से ही थे, इसके अलावा 3 सदस्यों को रिलीज़ कर दिया गया है और 2 को शामिल किया गया है। कोच स्टीफ़न फ़्लेमिंग ने बोली लगाने वाले सदस्यों को ज़्यादा परेशान नहीं किया है। टीम में तेज़ गेंदबाज़ मोहित शर्मा को वापस बुलाया गया है और हुनरमंद खिलाड़ी ऋतुराज गायकवाड को शामिल किया गया है।

चेन्नई ने 3 बार आईपीएल ख़िताब पर कब्ज़ा जमाया है और साल 2019 में इनकी नज़र चौथी बार ट्रॉफ़ी हासिल करने पर है। अगले साल ये टीम लगभग वही खिलाड़ियों को लेकर अपने अभियान की शुरुआत करेगी जिनके ज़रिए पिछली बार ख़िताब जीता था। इस टीम में कई सकारात्मक पहलू हैं जो इसको मज़बूती देते हैं। फिर भी कुछ ऐसे भी क्षेत्र हैं जहां ये टीम असंतुलित नज़र आती है। यहां हम चेन्नई सुपरकिंग्स की 3 ऐसी कमज़ोरियों को लेकर चर्चा करेंगे जिन्हें नज़रअंदाज़ करना बड़ी भूल साबित हो सकती है।


#1 टीम में अनुभवी विदेशी तेज़ गेंदबाज़ की ग़ैरमौजूदगी

Enter caption

यहां हम ऐसे गेंदबाज़ की बात कर रहे हैं जो बेहद तेज़ गेंद फेंकते हैं, इसलिए इस चर्चा में हम ड्वेन ब्रावो की शामिल नहीं कर रहे हैं। चेन्नई टीम ने हाल में ही मार्क वुड को रिलीज़ किया है। ऐसे में धोनी की टीम में लुंगी नगीदी और डेविड विली ही विदेशी तेज़ गेंदबाज़ बचेंगे। विली को लेकर ये आशंका जताई जा रही है कि शायद वो पूरे सीज़न के लिए टीम में मौजूद नहीं रहेंगे क्योंकि वो उस वक़्त अपनी राष्ट्रीय टीम को सेवाएं दे सकते हैं। अब ऐसे में पूरे टूर्नामेंट के लिए एक विदेशी तेज़ गेंदबाज़ पर निर्भर रहना कहां तक सही होगा।

Hindi Cricket Newsसभी मैच के क्रिकेट स्कोर, लाइव अपडेट, हाइलाइट्स और न्यूज़ स्पोर्ट्सकीड़ा पर पाएं।

1 / 3 NEXT
Modified 20 Dec 2019, 20:31 IST
Advertisement
Advertisement
Fetching more content...