Create

आईपीएल 2019: 5 खिलाड़ी जो नीलामी में काफी महंगे बिके लेकिन मैदान पर अभी तक फ्लॉप रहे हैं

Enter caption

आईपीएल में मैच जीतने की रणनीति क्रिकेट मैदान में ही नहीं बल्कि ऑक्शन के समय से ही तैयार की जाती है। टीम मैनेजमेंट ऐसे खिलाड़ियों को भी बड़ी कीमत देकर खरीदती हैं जो घरेलू क्रिकेट में अच्छा प्रदर्शन कर रहे होते हैं। आईपीएल 2019 के लिए खिलाड़ियों की नीलामी 18 दिसंबर को जयपुर में आयोजित की गई थी। जहां कई नए खिलाड़ी ऐसी कीमत पर खरीदे गए जिसकी किसी को उम्मीद नहीं थी। जहां एक ओर तमिलनाडु के स्पिनर वरुण चक्रवर्ती 8.4 करोड़ रुपये की बड़ी कीमत पर खरीदे गए, वहीं मुम्बई के ऑलराउंडर शिवम दुबे 5 करोड़ रुपये में खरीदे गए। आईपीएल 2018 के ऑक्शन में सबसे मंहगे भारतीय गेंदबाज जयदेव उनादकट भी इस साल 8.4 करोड़ की शानदार कीमत पर खरीदे गए। लेकिन इन सभी खिलाड़ियों ने अब तक के अपने प्रदर्शन से सभी को निराश किया है।

आज हम आपको ऐसे ही 5 खिलाड़ियों के बारे में बताने जा रहे हैं जो ऑक्शन में तो बड़ी कीमत पर खरीदे गए लेकिन उनका प्रदर्शन बेहद निराशाजनक रहा है।

#5. कॉलिन इंन्ग्राम

Colin Ingram

पूर्व दक्षिण अफ्रीकी सलामी बल्लेबाज कॉलिन इंन्ग्राम अब एक स्वतंत्र टी20 क्रिकेटर हैं। उन्होंने बिग बैश लीग, कैरिबियन प्रीमियर लीग में अच्छा प्रदर्शन किया था। उनके इस प्रदर्शन को देखते हुए उनको इस साल हुए ऑक्शन में दिल्ली कैपिटल्स ने 6.4 करोड़ रुपये की बड़ी कीमत में खरीदा था। कॉलिन इन्ग्राम इस सीजन से पहले 2011 में भी दिल्ली डेयरडेविल्स (अब दिल्ली कैपिटल्स) के लिए खेल चुके थे। उस सीजन उन्हें 3 मैचों में खेलने का मौका मिला था। जिसमें उन्होंने 10.50 की खराब औसत से मात्र 21 रन बनाए थे। जिसमें उनका सर्वाधिक स्कोर 14 रन था। जबकि उनका स्ट्राइक रेट 80.70 का था।

इन्ग्राम ने इस सीजन अब तक कुल 6 मैच खेले हैं जिसमें उन्होंने 20.66 की औसत से 124 रन बनाए हैं जबकि उनका स्ट्राइक रेट 125.25 की है। उन्होंने पहले ही मैच में 47 रन की पारी खेली थी, जो कि आईपीएल 2019 में उनका सर्वाधिक स्कोर है।

#4. शिवम दुबे

Shivam Dube

मुम्बई के अनकैप्ड आलराउंडर शिवम दुबे की छवि एक हार्ड हिटर बल्लेबाज के रूप में है। उन्होंने घरेलू मैचों में ऐसे कई शानदार पारियां खेली हैं जिसको देखते हुए रॉयल चैलेंजर्स बैंगलोर टीम मैनेजमेंट ने उन्हें 5 करोड़ रुपये की बड़ी कीमत देकर खरीदा था। लेकिन वो अपने फ्रेंचाइजी के विश्वास पर खरे नहीं उतर पाए। उन्होंने इस सीजन कुल 3 मैच खेले हैं जिसमें उन्होंने 8.0 की औसत से मात्र 16 रन बनाए हैं, जिसमें उनका सर्वाधिक स्कोर 9* का रहा है। जबकि स्ट्राइक रेट 94.11 का रहा है।

25 वर्षीय शिवम दुबे ने रणजी ट्रॉफी के एक मैच में बड़ौदा के खिलाफ स्वप्निल सिंह के एक ओवर में 5 छक्के जड़े थे। जिसके बाद ऑक्शन में सभी टीमों की नजरें इन्हें खरीदने पर पड़ी थी। अंततः शिवम दुबे रॉयल चैलेंजर्स बैंगलोर टीम का हिस्सा बने।

इसके अलावा शिवम ने मुम्बई टी20 लीग में शिवाजी पार्क लायंस की ओर से खेलते हुए नमो बांद्रा ब्लास्टर्स का प्रतिनिधित्व कर रहे लेग ब्रेक स्पिनर गेंदबाज प्रवीण तांबे के एक ओवर में 5 छक्के जड़ते हुए 1 ओवर में 32 रन बना दिए थे, जिसकी बदौलत उनकी टीम को 6 विकेट से जीत हासिल हुई थी।

इन सबके बावजूद शिवम दुबे ने इस सीजन मिले मौके को भुना नहीं पाए, अंततः उन्हें 3 मैचों में हिस्सा बनाने के बाद कप्तान विराट कोहली ने उन्हें चौथे मैच से बाहर कर दिया। इसके बाद के मैचों में वे टीम से बाहर ही हैं।

#3. वरुण चक्रवर्ती

Varun Chakrvarthy

तमिलनाडु के स्पिनर वरुण चक्रवर्ती को खरीदने के लिए कोलकाता नाइट राइडर्स और किंग्स इलेवन पंजाब के बीच होड़ मच गई थी। वरुण चक्रवर्ती पिछले सीजन कोलकाता नाइट राइडर्स के बल्लेबाजों को नेट प्रैक्टिस कराते थे, इसीलिए कोलकाता नाइट राइडर्स टीम मैनेजमेंट उनको खरीदना चाहती थी। अंततः उनके बेस प्राइस से 42 गुना अधिक कीमत (8.4 करोड़ रुपये) देकर किंग्स इलेवन पंजाब की टीम मैनेजमेंट ने उन्हें अपनी टीम में शामिल कर लिया।

कोलकाता नाइट राइडर्स के खिलाफ ही आईपीएल में डेब्यू करने वाले वरुण चक्रवर्ती के पहले ओवर में ही सुनील नारेन ने 25 रन बना डाले थे। वे पॉवरप्ले के दूसरे ओवर में गेंदबाजी करने आये थे। उन्होंने इस मैच में 3 ओवर गेंदबाजी करते हुए 35 रन देते हुए 1 विकेट चटकाए थे। हालांकि किंग्स इलेवन पंजाब की टीम में रविंचंद्रन अश्विन के अलावा मुजीब उर रहमान और मुरुगन अश्विन जैसे अच्छे स्पिनर पहले से मौजूद थे। लेकिन फिर भी टीम मैनेजमेंट ने उन्हें बड़ी कीमत देकर अपनी टीम में शामिल किया था, लेकिन वे उनकी उम्मीदों पर खरे नहीं उतर पाए।

#2. शिमरोन हिटमायर:

Shimron Hetmyer

वेस्टइंडीज के युवा बल्लेबाज शिमरोन हिटमायर जब भारत के खिलाफ सीरीज खेलने आये थे तो उन्होंने भारतीय गेंदबाजों की अच्छी खातिरदारी की थी। उन्होंने 5 मैचों की वनडे सीरीज में 249 रन बनाए थे। इस दौरान उनका स्ट्राइक रेट 140 के लगभग था। हिटमायर 2016 में अंडर 19 विश्वकप में वेस्टइंडीज का प्रतिनिधित्व कर चुके हैं। उस साल वेस्टइंडीज ने अंडर19 विश्वकप का खिताब भी जीता था। हिटमायर के नाम 24 वनडे मैचों में 4 शतक और 2 अर्धशतक दर्ज है। इसके अलावा उन्होंने कैरिबियन प्रीमियर लीग 2018 में गयाना अमेज़न वॉरियर्स की ओर से खेलते हुए जमैका थलाइवाज के खिलाफ 49 गेंदों पर शतक भी लगाए थे।

उनके इसी बल्लेबाजी क्षमता को देखते हुए रॉयल चैलेंजर्स बैंगलोर टीम मैनेजमेंट ने उन पर विश्वास जताते हुए 4.2 करोड़ रुपये की बड़ी कीमत देकर खरीदा था लेकिन हिटमायर उनकी उम्मीदों पर बिल्कुल भी खरे नहीं उतरे। उन्होंने इस सीजन कुल 4 मैच खेलते हुए 3.75 की औसत से 15 रन बनाए हैं, जिनमें उनका सर्वाधिक स्कोर 9 रन है।

#1. जयदेव उनादकट

Jaydev Unadkat

जयदेव उनादकट पिछले सीजन भी सबसे मंहगे भारतीय खिलाड़ी थे। उन्हें राजस्थान रॉयल्स ने पिछले सीजन 11.5 करोड़ रुपये की बड़ी कीमत देकर खरीदा था, लेकिन खराब प्रदर्शन की कारण उन्हें इस सीजन के ऑक्शन से पहले राजस्थान रॉयल्स ने रिलीज कर दिया था। हालांकि 18 दिसंबर 2018 को जयपुर में हुए ऑक्शन में राजस्थान रॉयल्स ने उन्हें एक बार फिर 8.4 करोड़ रुपये की बड़ी कीमत देकर खरीद लिया, लेकिन एक बार फिर वे टीम मैनेजमेंट की उम्मीदों पर खरे नहीं उतर पाए।

जयदेव उनादकट ने पिछले सीजन 15 मैचों में 44.18 की औसत से मात्र 11 विकेट चटकाए थे। जबकि उनकी इकॉनमी 9.65 की थी। उन्होंने इस सीजन अब तक कुल 3 मैच खेले हैं जिसमें उन्होंने 62.0 की औसत से मात्र 2 विकेट चटकाए हैं। जबकि उनकी गेंदबाजी इकॉनमी 12.40 की है।

जयदेव उनादकट को राजस्थान रॉयल्स ने साल 2017 के आईपीएल सीजन में उनके को देखते हुए इतनी बड़ी कीमत अदा की थी। वे उस सीजन सर्वाधिक विकेट लेने के मामले में भुवनेश्वर कुमार के बाद दूसरे स्थान पर थे। जबकि उन्होंने इस सीजन हैट्रिक विकेट भी लिया था।

Quick Links

Edited by सावन गुप्ता
Be the first one to comment