Create
Notifications

आईपीएल 2019: हर टीम का एक खिलाड़ी जिसने सबसे ज्यादा निराश किया 

IPL 2019
akhilesh.tiwari19

आईपीएल का 12वां सीजन रोमांच से भरपूर रहा है। इस टूर्नामेंट में शामिल टीमों ने एक दूसरे को कभी हराया, तो कभी खुद अन्य टीमों के हाथों हार का शिकार हुईं। इन सबके बीच हमें हार्दिक पांड्या, आंद्रे रसल, क्रिस गेल और डेविड वॉर्नर जैसे खिलाड़ियों की शानदार परफॉर्मेंस देखने को मिली। हालांकि अब यह टूर्नामेंट अपने निर्णायक मोड़ पर पहुंच चुका है।

टूर्नामेंट में शामिल सभी टीमों में से केवल चेन्नई सुपरकिंग्स और दिल्ली कैपिटल्स अपना स्थान प्लेऑफ में बनाने में सफल रही हैं, जबकि अन्य छह टीमें अभी भी एक दूसरे से संघर्ष कर रही हैं। हालांकि इस बार के सीजन में एक ऐसा पहलू भी देखने को मिला, कि प्रत्येक टीम को अपने जिन खिलाड़ियों पर सबसे ज्यादा भरोसा था, वे 2019 के आईपीएल में फ्लॉप साबित हुए हैं।

आज हम आपको प्रत्येक टीम के ऐसे ही खिलाड़ियों के बारे में बताने जा रहे हैं, जिनसे उम्मीद तो बेहतर प्रदर्शन की जा रही थी लेकिन उन्होंने अपनी टीम को सबसे ज्यादा निराश करने का काम किया है, जानिए कौन हैं वो खिलाड़ी-

बेन स्टोक्स (राजस्थान रॉयल्स)

B

राजस्थान रॉयल्स की ओर से खेलने वाले बेन स्टोक्स ऐसे पहले खिलाड़ी हैं, जिन्होंने अपने प्रदर्शन से अपनी टीम को सबसे ज्यादा निराश किया है। बेन स्टोक्स ने आईपीएल के 12वें सीजन में राजस्थान की ओर से 9 मैचों में 123 रनों के साथ 6 विकेट अपने नाम किए। जबकि यह खिलाड़ी 2017 में राइजिंग पुणे सुपरजाइंट की ओर से खेलते हुए आईपीएल के मोस्ट वेल्युएबल प्लेयर का खिताब भी जीत चुका है। 2017 के आईपीएल में बेन स्टोक्स ने पुणे की टीम से 12 मैच खेले थे और 316 रन अपने नाम किए थे।

Hindi Cricket News, सभी मैच के क्रिकेट स्कोर, लाइव अपडेट, हाइलाइट्स और न्यूज स्पोर्टसकीड़ा पर पाएं।

टिम साउदी (रॉयल चैलेंजर्स बैंगलोर)

Tim Sauthee

आईपीएल 2019 में अगर टिम साउदी बेहतरीन प्रदर्शन करते, तो शायद आरसीबी के लिए भी यह सीजन अच्छा गुजरता, लेकिन साउदी ने इस सीजन में बैंगलोर की टीम से 3 मैच ही खेले और इन मैचों में उन्होंने 13 रन प्रति ओवर की औसत से 118 रन लुटाए। आरसीबी के इस सीजन के पहले मैच में ही केकेआर के आंद्रे रसेल ने 19वें ओवर में टिम साउदी की जमकर पिटाई की और 29 रन बटोर लिए थे। जिसके बाद से ही बैंगलोर ने उन पर से अपना भरोसा उठा लिया था।

डेविड मिलर (किंग्स इलेवन पंजाब)

David Miller

किंग्स इलेवन पंजाब की ओर से खेलने वाले डेविड मिलर इस सीजन में कुछ खास कर सके। कई मौकों पर अकेले ही अपनी टीम को जीत दिलाने वाले मिलर से पंजाब को काफी उम्मीदें थीं लेकिन इस सीजन में मिलर टीम की उम्मीदों पर खरे नहीं उतरे। बताते चलेंकि आईपीएल की शुरुआत से ही मिलर पंजाब की टीम की तरफ से ही खेलते आ रहे हैं। मिलर ने इस सीजन में 129.87 की स्ट्राइक रेट से 10 मैचों में मात्र 213 रन ही बनाए हैं, जिसमें केवल एक अर्धशतक ही शामिल है।

कुलदीप यादव (कोलकाता नाइट राइडर्स)

Kuldeep Yadav

चाइनामैन के नाम से मशहूर कुलदीप यादव केकेआर की टीम के लिए इस सीजन में कुछ खास नहीं कर सके हैं। उन्होंने इस सीजन में केकेआर की ओर से 9 मैच खेले हैं और उनमें 71.5 की औसत और 8.7 की इकॉनमी रेट से मात्र 4 विकेट ही अपने नाम किए हैं। यही कारण रहा कि कोलकाता की टीम ने कुलदीप यादव को पवेलियन में बैठाना ही उचित समझा।

विजय शंकर (सनराइजर्स हैदराबाद)

Vijay Shankar

सनराइजर्स हैदराबाद के डेविड वॉर्नर ने इस सीजन में कमाल का प्रदर्शन किया और टूर्नामेंट में सबसे ज्यादा रन बनाकर ऑरेंज कैप भी अपने पास रखी। हालांकि इस टीम के ही अन्य खिलाड़ी विजय शंकर ने सबसे ज्यादा निराश किया है। हालांकि शंकर को भारतीय टीम ने वर्ल्डकप के लिए 15 सदस्यों में चुना है। उन्होंने एसआरएच की ओर से शुरुआती दो मैचों में 24 गेंद पर 40 रन और 15 गेंद पर 35 रन बनाने के साथ कमाल का प्रदर्शन किया लेकिन इसके बाद सीरीज के 12 मैचों में 122.44 की स्ट्राइक रेट के साथ कुल 180 रन ही बना सके। इसके साथ ही उन्होंने 1 विकेट भी अपने नाम किया है।

रोहित शर्मा (मुंबई इंडियंस)

Rohit Sharma

मुंबई इंडियंस ने इस सीजन में सम्मानजनक प्रदर्शन तो किया लेकिन कप्तान रोहित शर्मा ने अपनी टीम को खासा निराश किया। रोहित शर्मा ऐसे चुनिंदा खिलाड़ी हैं, जिन्होंने आईपीएल करियर में 4800 रन बनाए हैं लेकिन इस सीजन में उन्होंने 11 मैचों में केवल चेन्नई सुपर किंग्स के खिलाफ 67 रनों की यादगार पारी खेली और अपनी टीम को जीत दिलाई। रोहित ने सीजन में 27.90 की औसत से 307 रन बनाए हैं।

अंबती रायडू (चेन्नई सुपरकिंग्स)

Ambati Raydu

चेन्नई सुपरकिंग्स की ओर से फ्लॉप शो जारी रखने के कारण ही शायद रायडू को वर्ल्डकप के लिए भारतीय टीम में जगह नहीं दी गई। पिछले सीजन में रायडू 600 रनों के साथ चेन्नई की ओर से सबसे ज्यादा रन बनाने वाले खिलाड़ी थे। लेकिन वर्तमान सीजन में रायडू कुछ खास नहीं कर सके हैं। रायडू ने आईपीएल के 12वें सीजन में चेन्नई की ओर से 12 मैचों में 89 की स्ट्राइक रेट और 21.3 की औसत के साथ मात्र 213 रन ही बनाए हैं। ऐसे में चेन्नई के लिए रायडू ने इस सीजन में सबेस निराशाजनक प्रदर्शन किया है।

पृथ्वी शॉ (दिल्ली कैपिटल्स)

Prithvi Shaw

19 साल के पृथ्वी शॉ ने पिछले साल ही आईपीएल और इंटरनेशनल करियर में डेब्यू किया था और पिछले सीजन में उन्होंने अपने खेल से सभी को प्रभावित किया था। लेकिन इस सीजन में उन्होंने दिल्ली कैपिटल्स की ओर से 12 मैच खेले और इनमें उन्होंने 23 की औसत 280 रन ही बनाए हैं। हालांकि इस सीजन में उन्होंने कोलकाता नाइट राइडर्स के खिलाफ 55 गेंदों में 99 रनों की शानदार पारी भी खेली थी। इसके बावजूद भी वह 12वें सीजन में दिल्ली की उम्मीदों पर खरे नहीं उतर सके।

Edited by निशांत द्रविड़

Comments

Quick Links:

More from Sportskeeda
Fetching more content...