Create
Notifications

आईपीएल 2019 : प्रत्येक टीम के स्टार खिलाड़ी जिन्हें अगले सीजन किया जा सकता है बाहर

IPL Players
akhilesh.tiwari19

आईपीएल के 12वें सीजन में शामिल टीमों के बीच कड़ी प्रतिस्पर्धा देखने को मिली। प्रत्येक टीम ने अपने स्तर पर लाजवाब प्रदर्शन किया है, हालांकि टूर्नामेंट अब अंतिम चरण में पहुंच चुका है और टूर्नामेंट में शामिल मुंबई इंडियंस, चेन्नई सुपरकिंग्स, दिल्ली कैपिटल्स समेत सनराइडर्स हैदराबाद, ये चार टीमें प्लेऑफ में पहुंच चुकी हैं।

जबकि किंग्स इलेवन पंजाब, रॉयल चैलेंजर्स बैंगलोर, राजस्थान रॉयल्स और कोलकाता नाइटराइडर्स ये चार टीमें टूर्नामेंट से बाहर हो चुकी हैं। इन टीमों की हार lका सबसे बड़ा कारण यह रहा कि इनमें शामिल सबसे बेहतरीन खिलाड़ियों ने अपना सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन नहीं किया। यही नहीं, प्लेऑफ में पहुंचने वाली टीमों में भी ऐसे ही खिलाड़ी शामिल थे।

आज हम आपको टूर्नामेंट में शामिल सभी आठ टीमों के ऐसे स्टार खिलाड़ियों के बारे में बताने जा रहे हैं, जिन्हें शायद अगले सीजन में खेलने का मौका न मिले। जानिए कौन हैं प्रत्येक टीम के वो दिग्गज खिलाड़ी, जिन्हें अगले सीजन में किया जा सकता है बाहर-

एंड्रयू टाई (किंग्स इलेवन पंजाब)

Andrew Tye

किंग्स इलेवन पंजाब में शामिल एंड्रयू टाई को टीम अगले सीजन में नहीं खिलाना चाहेगी। क्योंकि 2018 के आईपीएल में सबसे ज्यादा 24 विकेट लेने वाले टाई इस सीजन में कुछ खास कमाल नहीं दिखा सके। टाई ने इस सीजन में 6 मैचों में गेंदबाजी की और उनमें 10.59 की इकॉनमी रेट से बॉलिंग करते हुए 3 विकेट हासिल किए। उनके इस निराशाजनक प्रदर्शन के कारण किंग्स इलेवन पंजाब उन्हें अगले सीजन में नहीं खिलाना चाहेगी।

यूसुफ पठान (सनराइजर्स हैदराबाद)

Yusuf Pathan

बड़े-बड़े हिट्स लगाने के लिए पहचाने जाने वाले यूसुफ पठान का प्रदर्शन लगातार गिरता जा रहा है। उन्होंने केकेआर की टीम में रहते हुए लाजवाब प्रदर्शन किया है। हालांकि सनराइजर्स हैदराबाद में शामिल होते ही उनका प्रदर्शन गिरता चला गया।

पठान ने 2018 के आईपीएल में भी 28.88 के औसत से 260 रन ही बनाए थे। जबकि इस बार के सीजन में भी उन्होंने 10 मैचों में मात्र 40 रन ही बनाए हैं। ऐसे में इस खिलाड़ी को अगले सीजन में यह टीम बाहर कर सकती है।

संदीप लामिचाने (दिल्ली कैपिटल्स)

Sandeep Lamichhane

दिल्ली कैपिटल्स ने इस सीजन में बेहद आसानी से प्लेऑफ के लिए क्वालिफाई कर लिया है। दिल्ली की जीत में हर खिलाड़ी ने लाजवाब प्रदर्शन किया है लेकिन इस बार के सीजन में लेग स्पिनर संदीप लामिचाने ने खासा निराश किया है। संदीप ने इस बार के सीजन में औसत प्रदर्शन करते हुए 6 मैचों में 9.13 के इकॉनमी रेट से 8 विकेट अपने नाम किए। ऐसे में संदीप को दिल्ली कैपिटल्स की टीम अगले सीजन में बाहर बैठा सकती है।

उमेश यादव (रॉयल चैलेंजर्स बैंगलोर)

Umesh yadav

रॉयल चैलेंजर्स बैंगलोर को इस सीजन में सबसे ज्यादा निराश करने का काम उमेश यादव ने किया है। उमेश यादव एक बेहद अनुभवी खिलाड़ी हैं और उन्हें शायद इसी वजह से टीम में शामिल किया गया था और पूर्व में उन्होंने बेहतरीन प्रदर्शन भी किया है। उन्होंने पिछले बार के सीजन में 20 विकेट हासिल किए थे लेकिन इस बार के सीजन में वह कुछ खास कमाल नहीं दिखा सके।

यादव ने 12वें सीजन में 11 मैचों में निराशाजनक प्रदर्शन करते हुए 9.80 की इकॉनमी रेट से गेंदबाजी की और मात्र 8 विकेट ही हासिल किए। ऐसे में यह संभावना लगाई जा रही है कि अगले सीजन में आरसीबी की टीम इस गेंदबाज को अपने साथ नहीं खिलाना चाहेगी।

युवराज सिंह (मुंबई इंडियंस)

Yuvraj Singh

मुंबई इंडियंस ने बड़ी उम्मीदों के साथ युवराज सिंह को नीलामी में खरीदा था। युवराज सिंह एक ऐसे खिलाड़ी हैं, जो ओवर की 6 गेदों में बड़े हिट्स लगाने में सक्षम हैं लेकिन वह मुंबई की उम्मीदों पर खरे नहीं उतर सके और इस बार के सीजन में उनका प्रदर्शन भी निराशाजनक रहा, जिसकी वजह से टीम ने उन्हें पवेलियन में ही बैठाना उचित समझा। ऐसे में यह कयास लगाए जा रहे हैं कि शायद मुंबई इंडियंस अगले सीजन में इस खिलाड़ी को अपने साथ न खिलाना चाहे।

रॉबिन उथप्पा (कोलकाता नाइट राइडर्स)

Robin Uthappa

केकेआर के लिए गौतम गंभीर के बाद रॉबिन उथप्पा ही दूसरे सबसे ज्यादा रन बनाने वाले खिलाड़ी हैं। कर्नाटक के इस बल्लेबाज ने केकेआर की ओर से खेलते हुए कई मौकों पर बेहतरीन बल्लेबाजी की है। हालांकि फिर भी उन्हें इस बार के सीजन में कई मैचों में बाहर बैठाया गया। वहीं केकेआर में शामिल नीतीश राणा और शुभमन गिल ने भी उथप्पा की कमी को पूरा करने का काम किया है।

उनका सबसे निराशाजनक प्रदर्शन रॉयल चैलेंजर्स बैंगलोर के खिलाफ था। जिसकी वजह से केकेआर के फैन्स भी काफी निराश हुए थे। ऐसे में यह कयास लगाए जा रहे हैं कि अगले सीजन में उथप्पा और केकेआर का साथ छूट सकता है।

केदार जाधव (चेन्नई सुपरकिंग्स)

Kedar Jadhav

चेन्नई सुपरकिंग्स इस बार भी प्लेऑफ में जगह बनाने में कामयाब रही है। इस टीम की गेंदबाजी तो काफी बेहतरीन रही लेकिन बल्लेबाजी क्रम ने जरूर निराश करने का काम किया है। अधिकांश मैचों में खुद एमएस धोनी ने पारी को संभालने का काम किया है, जबकि रायडू और केदार जाधव जैसे खिलाड़ियों ने निराश करने का काम किया है।

जाधव ने इस सीजन में 14 मैच खेले और उनमें 20.25 की औसत से 162 रन बनाए हैं। जबकि उनकी गेंदबाजी का इस्तेमाल न के बराबर ही किया गया। ऐसे में जाधव को अगले सीजन से पहले चेन्नई सुपरकिंग्स बाहर का रास्ता दिखा सकती है।

बेन स्टोक्स (राजस्थान रॉयल्स)

Ben Stokes

आईपीएल में विदेशी खिलाड़ियों को काफी उम्मीदों के साथ टीम में शामिल किया जाता है। राजस्थान रॉयल्स में भी इस बार कई विदेशी खिलाड़ियों को शामिल किया गया था। जिनमें कप्तान स्टीव स्मिथ ने तो लाजवाब प्रदर्शन किया लेकिन बेन स्टोक्स एक ऐसे खिलाड़ी रहे, जिन्होंने काफी निराश किया।

बेन स्टोक्स ने इस बार के सीजन में 9 मैच खेले और उनमें 20.50 की औसत से मात्र 123 रन बनाए और 11 रन प्रति ओवर इकॉनमी रेट से मात्र 6 विकेट अपने नाम किए। स्टोक्स के इस निराशाजनक प्रदर्शन को देखते हुए यह कहा जा सकता है कि राजस्थान रॉयल्स इस शानदार खिलाड़ी को अगले सीजन में बाहर कर सकती है।

Edited by सावन गुप्ता

Comments

Quick Links:

More from Sportskeeda
Fetching more content...