आईपीएल 2019: हितों के टकराव वाले मामले में सौरव गांगुली ने भेजा जवाब

Enter caption

भारत के पूर्व कप्तान सौरव गांगुली के खिलाफ बीते दिनों दोहरी भूमिका निभाए जाने की शिकायत के बाद बीसीसीआई लोकपाल ने उन्हें एक हफ्ते के अंदर इसका जवाब देने को कहा था। अब सौरव गांगुली ने बीसीसीआई लोकपाल डीके जैन को जवाब भेजकर स्पष्ट कर दिया कि उनकी दोहरी भूमिकाओं में हितों का टकराव बिल्कुल भी नहीं है। मालूम हो कि गांगुली के खिलाफ बंगाल के तीन क्रिकेट प्रशंसकों अभिजीत मुखर्जी, रंजीत सील और बास्वती शांतुआ ने पत्र लिखकर शिकायत दर्ज करवाई थी। उन्होंने कहा था कि बंगाल क्रिकेट संघ के अध्यक्ष होने के बावजूद गांगुली का दिल्ली टीम में सलाहकार की भूमिका निभाना गलत है।

गांगुली ने कहा कि मैंने न्यायाधीश को अपना जवाब छह अप्रैल को ही भेज दिया है। बीसीसीआई के संविधान के दायरे में दिल्ली कैपिटल्स के साथ मेरी भूमिका के कारण किसी तरह के हितों का या व्यावसायिक टकराव नहीं है। मैं किसी तरह के प्रशासन, प्रबंधन या ऐसी किसी भी समिति का सदस्य नहीं हूं, जो आईपीएल की देखरेख कर रही है। साथ ही मैं न बीसीसीआई की किसी समिति का सदस्य हूं, जो आईपीएल के संबंध में हो।

सौरव गांगुली ने कहा कि मैं ऐसी किसी भी तरह की समिति से इस्तीफा दे चुका हूं। मैं किसी भी समिति का सदस्य नहीं हूं, जिसका आईपीएल के प्रबंधन पर अधिकार हो। मैं केकेआर टीम से भी नहीं जुड़ा हुआ हूं। यह एक फ्रेंचाइजी है, जिसका मालिकाना हक रेड चिली एंटरटेनमेंट के पास है। यह कंपनी, कंपनी एक्ट 1956 के तहत आती है। मैं न तो इस कंपनी का शेयर होल्डर हूं और न ही इसमें मेरा कोई हिस्सा है। न ही रेड चिली और न ही केकेआर का सीएबी से कोई संबंध है। सीएबी का भी कोलकाता नाइट राइडर्स में किसी तरह का अधिकार नहीं है। आईपीएल के दौरान सीएबी सिर्फ अपना स्टेडियम कोलकाता नाइट राइडर्स को देती है, जिसके बदले में वो पैसे लेती है।

Hindi Cricket News, सभी मैच के क्रिकेट स्कोर, लाइव अपडेट, हाइलाइट्स और न्यूज स्पोर्टसकीड़ा पर पाएं

Quick Links

App download animated image Get the free App now