Create
Notifications

3 खिलाड़ी जिन्हें दिल्ली कैपिटल्स को प्लेऑफ से पहले प्लेइंग XI में मौका जरूर देना चाहिए 

दिल्ली कैपिटल्स को यह बदलाव जरूर करने चाहिए (Photo - IPL)
दिल्ली कैपिटल्स को यह बदलाव जरूर करने चाहिए (Photo - IPL)
Narender

आईपीएल (IPL) 2021 में दिल्ली कैपिटल्स (Delhi Capitals) का प्रदर्शन काफी जबरदस्त रहा है। दिल्ली कैपिटल्स ने लगातार तीसरे सीजन में प्लेऑफ तक का सफर तय किया है। पिछले साल दिल्ली की टीम खिताब जीतने के काफी करीब आई थी, जहां उन्हें मुंबई इंडियंस (Mumbai Indians) के खिलाफ एकतरफा हार का सामना करना पड़ा था। इस साल IPL में भी दिल्ली की टीम प्लेऑफ में पहुंच चुकी है।

अभी तक दिल्ली कैपिटल्स ने 12 मैच खेले हैं, जिसमें 9 में टीम को जीत मिली है और 3 में उन्हें हार का सामना करना पड़ा। दिल्ली कैपिटल्स के 12 मैचों के बाद 18 अंक हैं और वो अंक तालिका में दूसरे स्थान पर हैं। पूरी तरह से दिल्ली कैपिटल्स की नजर टॉप 2 में स्थान बनाने पर होगी।

प्लेऑफ मुकाबलों से पहले दिल्ली कैपिटल्स को IPL 2021 में दो मैच खेलने हैं। पहले उनका मुकाबला चेन्नई सुपर किंग्स के खिलाफ होगा, तो उनका आखिरी लीग मुकाबला रॉयल चैलेंजर्स बैंगलोर के खिलाफ होने वाला है। वैसे तो दिल्ली ने बतौर टीम काफी अच्छा किया है, लेकिन नॉकआउट मुकाबलों से पहले ऐसे कुछ खिलाड़ी हैं जिन्हें प्लेइंग XI में मौका जरूर मिलना चाहिए।

इस आर्टिकल में हम ऐसे ही खिलाड़ियों के ऊपर नजर डालेंगे जिन्हें दिल्ली कैपिटल्स को प्लेइंग XI में जरूर मौका देना चाहिए

#) सैम बिलिंग्स

दिल्ली कैपिटल्स के दिग्गज ऑलराउंडर मार्कस स्टोइनिस इस समय चोटिल चल रहे हैं और उनकी कमी दिल्ली को खल रही है। स्टोइनिस की गैरमौजूदगी में दिल्ली की टीम ने स्टीव स्मिथ को प्लेइंग XI में मौका दिया, लेकिन उनका प्रदर्शन कुछ खास नहीं रहा है। स्टीव स्मिथ एक टॉप ऑर्डर बल्लेबाज हैं और उन्हें खिलाने के कारण ऋषभ पंत और श्रेयस अय्यर के बल्लेबाजी क्रम में भी बदलाव हुआ।

इसी वजह से दिल्ली कैपिटल्स को स्टीव स्मिथ की जगह सैम बिलिंग्स को प्लेइंग XI में मौका देना चाहिए। बिलिंग्स एक बेहतरीन फील्डर हैं और साथ ही में वो किसी भी स्थान पर बल्लेबाजी कर सकते हैं। बिलिंग्स फिनिशर की भूमिका अच्छे से निभा सकते हैं और स्टोइनिस प्लेऑफ तक फिट नहीं होते हैं तो बिलिंग्स को मैच प्रैक्टिस मिल जाएगी। वो टीम के लिए महत्वपूर्ण खिलाड़ी साबित हो सकते हैं।

#) अमित मिश्रा

यूएई में जिस तरह की विकेट देखने को मिल रही है, उनमें गेंदबाजों को ज्यादा मदद मिल रही है। इसी के साथ स्पिनर्स काफी अच्छा कर रहे हैं और लेग स्पिनर्स की भूमिका भी काफी ज्यादा अहम हो गई है। युजवेंद्र चहल, रवि बिश्नोई, राशिद खान जैसे लेग स्पिनर्स ने काफी अच्छा किया है।

इसी वजह से दिल्ली कैपिटल्स को भी बचे हुए मुकाबलों में अमित मिश्रा को भी प्लेइंग XI में मौका जरूर देना चाहिए और वो टीम के लिए काफी अहम साबित हो सकते हैं। मिश्रा ने IPL के पहले लेग में 4 मुकाबले खेले थे, जिसमें उन्होंने 18.16 की औसत और 7.78 की इकॉनमी रेट से 6 विकेट चटकाए थे। उन्हें टीम में रविचंद्रन अश्विन की जगह शामिल किया जा सकता है।

#) बेन ड्वारशुइस

दिल्ली कैपिटल्स ने यूएई लेग से पहले अपनी टीम में बेन ड्वारशुइस को अपनी टीम में शामिल किया था। अभी तक ड्वारशुइस को प्लेइंग XI में मौका नहीं मिला है, लेकिन वो काफी अच्छे गेंदबाज हैं। बेन ड्वारशुइस का प्रदर्शन बिग बैश लीग में भी काफी अच्छा रहा है। दिल्ली कैपिटल्स की टीम बचे हुए मुकाबलों में अपने मुख्य तेज गेंदबाज कगिसो रबाडा या फिर एनरिक नॉर्टजे को आराम देते हुए बेन को मौका दे सकती है। दिल्ली की टीम की कोशिश रहेगी कि उनके मुख्य गेंदबाज पूरी तरह से फिट और फ्रेश रहे। इसी वजह से नए खिलाड़ी को मौका जरूर दिया जा सकता है।

Edited by Narender

Comments

Quick Links:

More from Sportskeeda
Fetching more content...