Create

"महेंद्र सिंह धोनी ने दो छक्के जड़ मैच जिताया था," वह मैच मुझे आज भी याद है

धोनी के छक्कों को माइक हसी ने याद किया है
धोनी के छक्कों को माइक हसी ने याद किया है

चेन्नई सुपर किंग्स (CSK) के सहायक कोच माइक हसी ने अपना पसंदीदा आईपीएल पल चुना है। उन्होंने कहा कि आईपीएल 2010 (IPL) के दौरान चेन्नई और किंग्स इलेवन पंजाब (अब पंजाब किंग्स) के बीच करो या मरो का गेम उनके सामने खड़ा था। एमएस धोनी (MS Dhoni) के छक्कों का जिक्र हसी ने किया है।

माइक हसी ने कहा कि मेरी याददाश्त एक गेम की तरफ जाती है जो धर्मशाला में था। गेम में आने के साथ हम पांचवें स्थान पर थे और प्लेऑफ़ के लिए हमें जीतना था। यह ऐसे समय में आया और धोनी क्रीज पर थे। हमें दो गेंदों पर 10 रन चाहिए थे। पंजाब के लिए इरफ़ान पठान गेंदबाजी कर रहे थे। वह अच्छे गेंदबाज थे और मैच जीतना आसान नहीं था। इसमें कैप्टन कूल ने लगातार दो छक्के जड़ते हुए हमें प्लेऑफ़ में पहुँचाया। इसके बाद हम मुंबई इंडियंस के खिलाफ फाइनल भी जीते। यह एक ऐसी याद है जो मेरे साथ है।

उस समाय 193 रनों के विशाल विशाल स्कोर का पीछा करते हुए सुरेश रैना और सुब्रमण्यम बद्रीनाथ ने अच्छी बैटिंग की। ओपनर खास नहीं कर पाए थे। धोनी के आने से पहले रैना ने 27 गेंदों में 46 रनों की शानदार पारी खेली थी।

अंतिम ओवर में 16 रन की दरकार थी और धोनी ने मैच समाप्त कर दिया। कई बार चेन्नई की टीम के लिए ऐसे मौके आए हैं जब माही ने फिनिश किया है। हालांकि इस सीजन चेन्नई सुपरकिंग्स के लिए कुछ भी सही घटित नहीं हो रहा है।

चेन्नई सुपरकिंग्स ने लीग से ठीक पहले कप्तान बदला और धोनी की जगह रविन्द्र जडेजा को कप्तान बनाया। इसके बाद चेन्नई को लगातार चार मैचों में पराजय का सामना करना पड़ा। पांचवें मैच में जीत दर्ज करने के बाद चेन्नई की टीम छठे मैच में फिर से हार का सामना करना पड़ा है।

Quick Links

Edited by निरंजन
Be the first one to comment