Create
Notifications

IPL नीलामी 2017: 5 खिलाड़ी जिन्हें राइजिंग पुणे सुपरजायंट्स की टीम खरीदना चाहेगी

सावन गुप्ता
visit

आईपीएल का 10वां सीजन शुरु होने में महज कुछ ही दिन बचे हैं ऐसे में सभी टीम अपनी-अपनी तैयारियां शुरु करने वाली हैं। सभी टीमें पिछले बार के सीजन से इस बार बेहतर प्रदर्शन करने की कोशिश करेंगी। राइजिंग पुणे सुपरजाएंट्स ने पिछले सीजन में अच्छा प्रदर्शन नहीं किया था इसलिए उनकी कोशिश इस बार बेहतर प्रदर्शन करने की होगी। आईपीएल में ये पहली बार था कि महेंद्र सिंह धोनी अपनी टीम को प्लेऑफ में नहीं पहुंचा सके। लेकिन इस बार पुणे अंतिम 4 में जगह बनाने की पूरी कोशिश करेगी। इसकी तैयारी पुणे को 20 फरवरी को होने वाली नीलामी से ही करनी पड़ेगी। नीलामी से पहले पुणे ने अपने 11 खिलाड़ियों को रिलीज कर दिया है। सबसे ज्यादा खिलाड़ियों को रिलीज पुणे ने ही किया है। इस बार की नीलामी में पुणे के पास 17.5 करोड़ रुपए खर्च करने के लिए हैं और टीम 10 खिलाड़ियों को खरीद सकती है जिसमें 4 विदेशी खिलाड़ी खरीद सकते हैं। पिछले बार के निराशाजनक प्रदर्शन को देखते हुए पुणे को हर एक विभाग में मेहनत करने की जरुरत है। आइए जानते हैं उन 5 खिलाड़ियों के बारे में जिन्हें पुणे की टीम इस बार खरीद सकती है। स्पेशल मेंसन- बेन स्टोक्स इस बार की आईपीएल नीलामी में इंग्लैंड के ऑलराउंडर बेन स्टोक्स सबसे ज्यादा डिमांड वाले खिलाड़ी साबित होने वाले हैं। टूर्नामेंट की लगभग सभी टीमें उन्हें खरीदने की कोशिश करेंगी पुणे सुपरजाएंट्स भी उनमें से एक होगी। पुणे की टीम में इस वक्त मिचेल मार्श ही एकमात्र ऑलराउंडर हैं ऐसे में स्टोक्स के आ जाने से टीम को और मजबूती मिलेगी। स्टोक्स से बढ़िया ऑलराउंडर पुणे के लिए और कोई हो ही नहीं सकता है। स्टोक्स खेल के हर विभाग में अपना योगदान दे सकते हैं ऐसे में राइजिंग पुणे सुपरजाएंट्स की नजर उन पर जरुर होगी। 1.इशांक जग्गी jjjjj मिडिल ऑर्डर में राइजिंग पुणे सुपरजाएंट्स के पास महेंद्र सिंह धोनी, स्टीव स्मिथ, मिचेल मार्श और फॉफ डू प्लेसिस जैसे दिग्गज खिलाड़ी हैं। हालांकि इतने सारे खिलाड़ियों के होने के बावजूद उन्हें मध्यक्रम में एक और बल्लेबाज की जरुरत होगी। इस बार की नीलामी में इस जगह पर बल्लेबाजी के लिए ज्यादा विकल्प नहीं हैं। ऐसे में इशांक जग्गी इसके सबसे मुफीद खिलाड़ी हैं। शुरुआत में इशांक जग्गी को आईपीएल की नीलामी में शामिल नहीं किया गया था लेकिन हाल ही में सैय्यद मुश्ताक अली टूर्नामेंट में उनके शानदार प्रदर्शन के बाद उन्हें नीलामी में शामिल कर लिया गया। घरेलू क्रिकेट में इशांक जग्गी लगातार अच्छा प्रदर्शन करते आ रहे हैं और 2016-17 के सीजन में भी उन्होंने झारखंड की तरफ से अच्छी बल्लेबाजी की। इशांक जग्गी के लिए इस नीलामी में अच्छी बोली लग सकती है और पुणे टीम की नजर भी उन पर होगी। 2.मार्टिन गप्टिल guptilll पिछले सीजन में पुणे की सलामी जोड़ियां ज्यादा सफल नहीं रही थी। अजिंक्य रहाणे और फॉफ डू प्लेसिस की सलामी जोड़ी अच्छी मानी गई इसलिए उन्हें इस बार पुणे ने रिटेन किया है। वहीं उस्मान ख्वाजा और मयंक अग्रवाल को भी टीम ने रिटेन किया है। इस बार के सीजन में डू प्लेसिस और अजिंक्य रहाणे की जोड़ी ही टीम की ओपनिंग जिम्मेदारी संभाल सकती है। लेकिन इन खिलाड़ियों के साथ एक दिक्कत ये है कि इन्हें सेट होने के लिए थोड़ा टाइम चाहिए जबकि टी-20 क्रिकेट में पहले ही ओवर से शुरु हो जाना होता है। हो सकता है इस बार डू प्लेसिस को नंबर 3 पर भेजा जाए साउथ अफ्रीका के लिए वो नंबर 3 पर ही बल्लेबाजी करते हैं। अगर ऐसा हुआ तो मयंक अग्रवाल जो कि काफी अच्छे फॉर्म में हैं वो अजिंक्य रहाणे के साथ ओपनिंग कर सकते हैं। लेकिन पुणे की टीम एक विदेशी सलामी बल्लेबाज को टीम में जरुर लेना चाहेगी जो कि टीम को आतिशी शुरुआत दे सके। इस बार की नीलामी में कई सारे विदेशी ओपनरों की बोली लगेगी। उन सबसे में इंग्लिश बल्लेबाज जेसन रॉय सबके पसंदीदा खिलाड़ी हैं। ऐसे में उनको खरीदने के लिए टीमों को ज्यादा पैसे खर्च करने पड़ेंगे। इस परिस्थिति में मार्टिन गप्टिल सबसे अच्छे विकल्प दिखते हैं। उन्हें खरीदने के लिए पुणे को ज्यादा पैसे भी नहीं खर्च करने पड़ेंगे। गप्टिल के पास टी-20 मैचों का काफी अनुभव है और शुरुआत के ओवरों में वो टीम को काफी तेज शुरुआत देने में सक्षम हैं। वहीं गप्टिल के होने से रहाणे को अपना नेचुरल गेम खेलने का मौका भी मिलेगा। 3. ट्रेंट बोल्ट trenttttt जैसा कि हम बता चुके हैं कि राइजिंग पुणे सुपरजायंट्स की टीम ने सबसे ज्यादा खिलाड़ियों को रिलीज किया है। इसलिए टीम के पास तेज गेंदबाजों की कमी है। टीम के पास केवल ईश्वर पांडे और अशोक डिंडा के रुप में ही मुख्य तेज गेंदबाज बचे हैं। इसके अलावा टीम के पास दीपक चाहर और जसकरन ही तेज गेंदबाज हैं। इससे साफ पता चलता है कि टीम मैनेजमेंट इस बार की नीलामी में कम से कम 2 से 3 तेज गेंदबाजों को खरीदने की कोशिश करेगी। ऐसे में कीवी तेज गेंदबाज ट्रेंट बोल्ट उनके लिए सबसे बेहतरीन गेंदबाज साबित हो सकते हैं। वहीं दूसरी तरफ पुणे के कोच स्टीफन फ्लेमिंग हैं ऐसे में उन्हें ट्रेंट बोल्ट की बारीकियों का अच्छे से पता होगा। वो बोल्ट को अच्छे तरीके से हैंडल कर सकते हैं। बोल्ट को सनराइजर्स हैदराबाद ने रिलीज किया था और इस बार की नीलामी के वो मुख्य आकर्षण रहने वाले हैं। 4. क्रिस जॉर्डन ordan राइजिंग पुणे सुपरजायंट्स का फोकस इस बार की नीलामी में अपनी तेज गेंदबाजी को मजबूत करने पर रहेगा। टीम मैनेजमेंट तो सबसे पहले ट्रेंट बोल्ट को खरीदना चाहेगी अगर वो बोल्ट को खरीदने में नाकाम रहते हैं तो इंग्लिश तेज गेंदबाज क्रिस जोर्डन पुणे की टीम के लिए परफेक्ट प्लेयर साबित हो सकते हैं। 2016 के आईपीएल सीजन के बाद रॉयल चैलेंजर्स बैंगलोर ने क्रिस जोर्डन को रिलीज कर दिया। इस बार की नीलामी में जॉर्डन भी आकर्षण का केंद्र रहने वाले हैं। सही मायने में वो बोल्ट से बेहतर खिलाड़ी साबित हो सकते हैं क्योंकि वो खेल के हर विभाग में योगदान दे सकते हैं। पुणे के पास ऐसा कोई भी तेज गेंदबाज नहीं है जो कि डेथ ओवरों में अच्छी गेंदबाजी कर सके। जॉर्डन डेथ ओवरों के माहिर गेंदबाज माने जाते हैं। वहीं निचले क्रम में आकर वो धुआंधार बल्लेबाजी भी कर सकते हैं जबकि उनकी फील्डिंग भी काफी अच्छी है। कुल मिलाकर जॉर्डन एक कंपलीट पैकेज हैं। 5. मोहम्मद नबी nabiii पुणे की निचले क्रम की बल्लेबाजी भी ज्यादा मजबूत नहीं है। लोअर ऑर्डर में कोई बल्लेबाज ऐसा नहीं जो तेजी से रन बना सके। पुणे को इस बार की नीलामी में ऐसे खिलाड़ी की तलाश होगी जो कि निचले क्रम में तेजी से रन बना सके और गेंदबाजी भी कर सके। ऐसे परिस्थिति में टीम को अफगानिस्तान के पूर्व कप्तान मोहम्मद नबी से बढ़िया प्लेयर नहीं मिल सकता है। नबीं बल्लेबाजी भी कर सकते हैं और गेंदबाजी भी अच्छी करते हैं। इससे टीम का संतुलन बना रहेगा। मोहम्मद नबी को टी-20 मैचों का काफी अनुभव है। टी-20 करियर में वो 17.6 की औसत से 704 रन बना चुके हैं। नंबर 7 या फिर नंबर 8 पर पुणे टीम के लिए वो परफेक्ट खिलाड़ी हो सकते हैं। वहीं गेंदबाजी में वो रविचंद्र अश्विन और एडम जंपा जैसे दिग्गज स्पिनरों के साथ मिलकर एक खतरनाक जोड़ी बना सकते हैं। नबी काफी अच्छी स्पिन गेंदबाजी करते हैं। नबी एक विकेट टेकिंग गेंदबाज हैं और हर 17.8 गेंद के बाद वो विकेट निकालते हैं। वहीं उनका औसत 20 से थोड़ा ज्यादा है जबकि उनकी इकॉनामी महज 6.88 है। टी-20 मैच में किसी स्पिनर के लिए ये इकॉनामी काफी बेहतर इकॉनामी मानी जाती है। नबी इस वक्त आईसीसी रैकिंग में गेंदबाजों की सूची में 13वें नंबर पर हैं। जबकि ऑलराउंडरों की सूची में वो चौथे नंबर पर हैं। इससे पता चलता है कि वो कितने अच्छे खिलाड़ी हैं। लेखक- विग्नेश अनंतसुब्रमण्यम अनुवादक-सावन गुप्ता

Edited by Staff Editor
Article image

Go to article
Fetching more content...
App download animated image Get the free App now