अगर मैं सस्ते में भी बिकता, तो भी अपना बेस्ट देता: क्रिस मॉरिस

साउथ अफ्रीका के इस शानदार ऑलराउंडर क्रिस मॉरिस की किस्मत का सितारा उस वक़्त बुलंद हो गया जब आईपीएल ऑक्शन मे इनकी बोली इनके बेस प्राइस 50 लाख रूपय से लगभग 14 गुणा ज़्यादा बढ़कर 7 करोड़ रूपय पर जा कर खत्म हुई। इस प्रतिभाशाली खिलाड़ी को खरीदने की दौड़ में मुंबई इंडियंस, राइसिंग पुणे सुपरजायंट्स और कोलकाता नाइटराइडर्स जैसी टीमें बोली पर बोली लगाए जा रही थी पर सही मौका देखकर दिल्ली डेयर डेविल्स ने पूरे 7 करोड़ का भारी भरकम दाम लगा कर इस खिलाड़ी को अपनी टीम के लिए खरीद लिया। जिसके फलस्वरूप इस हरफ़नमौला खिलाड़ी ने आईपीएल 2016 में खुद पर लगे हुए दाम को अब तक काफी हद तक वसूल भी किया है, जिससे दिल्ली काफी खुश भी नज़र आरही है। इस 29 वर्षीय खिलाड़ी ने इस साल आईपीएल में अपना शानदार खेल दिखाया है, गेंदबाजी करते हुए उन्होंने जहां 6.79 की शानदार इकॉनमी से 11 विकेट झटके हैं, वहीं बल्ले से भी शानदार प्रदर्शन करते हुए 183.09 की बेहतरीन स्ट्राइक रेट से 130 रन भी बनाए हैं।जिसमें गुजरात लायन्स के खिलाफ खेली गई वो 82 रनो वाली पारी भी शामिल है जिसे शायद हम कभी न भूल पाये। हाल ही में उनसे लिए गए एक इंटरव्यू में जब उनसे यह पूछा गया इस चौंका देने वाली रकम जिसमे वो खरीदे गए हैं उसके बारे में उनका क्या कहना है तो उसके जवाब में उन्होंने बस इतना ही कहा कि ''ये आपको तब एहसास होता है जब आप एक या दो साल बाद खुद इस बारे में सोचते हैं, लोगों ने आपके ऊपर इतना पैसा लगाया जबकि उस वक़्त लोग ज़्यादातर आपको ठीक तरह से जानते भी नहीं और ना ही किसी ने आपको ज़्यादा इंटरनेशनल क्रिकेट खेलते हुए देखा था''। मॉरिस ने ये भी कहा ''अगर मैं कम दाम में भी बिका होता तब भी मैं अपनी टीम को अपना पूरा समर्थन देता और अपना बेस्ट देने कि पूरी कोशिश करता''। मॉरिस जो कि अपना तीसरा आईपीएल खेल रहे हैं, उन्हें आईपीएल में बिके महंगे खिलाड़ियों की सूची से भी जाना जा रहा है। मॉरिस का कहना है ''यह आईपीएल मेरे लिए काफी बहुमूल्य है क्योंकि इसमें मुझे मेरे हीरो और दुनिया के बड़े खिलाड़ियों के साथ खेलना का भी मौका मिला है, जो कि एक नौजवान क्रिकेटर के लिए अधिक बहुमूल्य है, और जिसे मैं ज़िंदगी भर भूल नहीं पाऊँगा''। अगर दिल्ली को आईपीएल के इस सीज़न के प्ले-ऑफ में जगह पक्की करनी है तो क्रिस मॉरिस को इसमें एक अहम भूमिका अदा करनी होगी।

Edited by Staff Editor