वनडे वर्ल्ड कप में सबसे तेज शतक लगाने वाले दिग्गज ऑलराउंडर ने किया संन्यास का ऐलान 

केविन ओ'ब्रायन ने एक यादगार पारी खेली थी
केविन ओ'ब्रायन ने एक यादगार पारी खेली थी

आयरलैंड के दिग्गज ऑलराउंडर और 2011 वर्ल्ड कप में इंग्लैंड खिलाफ मिली जीत के नायक केविन ओ'ब्रायन (Kevin O'Brien) ने अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट से संन्यास का ऐलान कर दिया है। ओ'ब्रायन ने 2021 में आयरलैंड के लिए आखिरी मैच खेला था।

दिग्गज खिलाड़ी ने अपने देश के लिए तीन टेस्ट, 153 वनडे और 120 टी20 खेले। इस दौरान वह अपने देश के लिए एकमात्र टेस्ट शतक लगाने वाले बल्लेबाज हैं। वहीं वनडे में उनके नाम 3619 और 114 विकेट दर्ज हैं। टी20 में ओ'ब्रायन ने 1973 रन और 58 विकेट अपने नाम किये हैं।

अपने संन्यास की घोषणा करते हुए आयरलैंड के खिलाड़ी ने कहा,

आज मैं 16 साल और अपने देश के लिए 389 कैप के बाद अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट से संन्यास की घोषणा करता हूं। मैंने ऑस्ट्रेलिया में टी20 विश्व कप में अपना करियर खत्म करने की उम्मीद की थी, लेकिन पिछले साल विश्व कप के बाद से आयरिश टीम के लिए नहीं चुने जाने के कारण, मुझे लगता है कि चयनकर्ता और प्रबंधन कहीं और देख रहे हैं। मैंने आयरलैंड के लिए खेलते हुए हर मिनट का आनंद लिया है, पिच पर कई दोस्त बनाए हैं और मेरे पास राष्ट्रीय टीम के लिए खेलते हुए अपने समय की बहुत सारी सुखद यादें हैं।
मैं यहां आयरलैंड में अपनी खुद की कोचिंग अकादमी विकसित करना जारी रखना चाहता हूं और मेरे पास निकट भविष्य में कुछ रोमांचक अवसर आने वाले हैं। मैं विदेशों में भी कोचिंग का अनुभव हासिल करना जारी रखना चाहता हूं और उम्मीद है कि निकट भविष्य में कुछ अंतरराष्ट्रीय और पेशेवर टीमों के साथ और अवसर मिलेंगे

2011 वर्ल्ड कप में लगाया था टूर्नामेंट के इतिहास का सबसे तेज शतक

2011 वर्ल्ड कप में टूर्नामेंट का 15वां मैच इंग्लैंड और आयरलैंड के बीच खेला गया था। पहले बल्लेबाजी करते हुए इंग्लैंड ने केविन पीटरसन, जोनाथन ट्रॉट और इयान बेल की अर्धशतकीय पारियों की मदद से आठ विकेट खोकर 327 रन बनाये थे।

स्कोर काफी बड़ा था और आयरलैंड ने 111 के स्कोर तक अपने पांच बल्लेबाजों के विकेट गंवा दिए थे। ऐसे में छठवें नंबर पर बल्लेबाजी करने उतरे केविन ओ'ब्रायन ने शुरुआत से आक्रामक तेवर दिखाए और देखते ही देखते उन्होंने मैच को इंग्लैंड की पकड़ से दूर कर दिया। उन्होंने महज 50 गेंदों में अपना शतक पूरा किया, जो वर्ल्ड कप इतिहास का सबसे तेज शतक भी है। वह 63 गेंदों में 113 रन बनाकर आउट हुए लेकिन उनकी पारी ने मैच में आयरलैंड की पकड़ मजबूत कर दी थी और अंत में टीम ने तीन विकेट से रोमांचक जीत दर्ज करने में कामयाबी पाई थी।

Quick Links

Edited by Prashant Kumar