Create
Notifications
New User posted their first comment
Advertisement

वीडियो : टेस्ट क्रिकेट इतिहास की सबसे खास हैट्रिक इरफान पठान के नाम दर्ज

ANALYST
Modified 11 Oct 2018, 14:25 IST
Advertisement

भारतीय टीम में वापसी के लिए कड़ी मेहनत कर रहे बाएं हाथ के तेज गेंदबाज इरफान पठान का आज जन्मदिन है। 27 अक्टूबर 1984 को गुजरात के बड़ौदा में जन्मे इरफान पठान आज 32 वर्ष के हो गए हैं। जन्मदिन विशेष पर हम आज आपको उनकी जिंदगी का वह महत्वपूर्ण लम्हा याद दिलाने जा रहे हैं जब पठान ने टेस्ट क्रिकेट इतिहास का कीर्तिमान बनाया था। टेस्ट क्रिकेट का यह रिकॉर्ड अब भी इरफान पठान के नाम ही दर्ज हैं। दरअसल, 2006 में सौरव गांगुली के नेतृत्व में भारतीय टीम ने पाकिस्तान का दौरा किया था और इरफान पठान को लेकर चर्चाओं का बाजार काफी गर्म था। बाएं हाथ के तेज गेंदबाज को भारतीय टीम के गेंदबाजी विभाग का प्रमुख हथियार बताया जा रहा था। तब पाकिस्तान के कोच जावेद मियांदाद ने शब्दों के बाण छोड़ते हुए कहा कि इरफान में कोई खास बात नहीं है। ऐसे गेंदबाज तो पाकिस्तान की गली-गली में घूमते हैं। इरफान पठान ने कराची टेस्ट में मियांदाद की इस टिपण्णी का करारा जवाब दिया। उन्होंने सीरीज के तीसरे व अंतिम टेस्ट मैच के पहले ही ओवर में हैट्रिक लेकर इतिहास रच दिया। यह पहला मौका था जब टेस्ट के पहले ओवर में किसी गेंदबाज ने हैट्रिक ली हो। 29 जनवरी से 1 फरवरी 2006 तक खेले गए इस टेस्ट में इरफान ने पहले ओवर की चौथी, पांचवी और छठी गेंद पर विकेट लेकर हैट्रिक पूरी की थी। उन्होंने सलमान बट, यूनिस खान और मोहम्मद यूसुफ को अपना शिकार बनाया था। तीनों बल्लेबाज बिना खाता खोले पवेलियन लौटे थे। बाएं हाथ के तेज गेंदबाज ने गेंद को शानदार स्विंग कराई और पहली तीन गेंदों पर सलमान बट को बीट किया। चौथी गेंद इरफान ने ऑफस्टंप लाइन से आउटस्विंग कराई, जिस पर सलमान बट के बल्ले का बाहरी किनारा लगा और पहली स्लिप में मौजूद राहुल द्रविड़ ने शानदार कैच लपका। इरफान ने अगली ही गेंद ऑफस्टंप लाइन से इनस्विंग कराई। यह गेंद गुडलेंथ स्पॉट पर आई। यूनिस खान फ्रंटफुट पर गए और क्रॉस शॉट खेलने का प्रयास किया, बल्लेबाज काफी लेट हुए चुके थे क्योंकि गेंद तब तक पैड पर लग चुकी थी और अंपायर साइमन टॉफेल को उंगली उठाने में देरी नहीं लगी। इसके बाद पाकिस्तान के सबसे भरोसेमंद बल्लेबाज मोहम्मद यूसुफ़ बल्लेबाजी करने के लिए आए। उन पर इरफान को हैट्रिक से रोकने का अतिरिक्त दबाव भी था। इरफान पठान ने यूसुफ़ को भी आगे की लाइन पर इनस्विंग गेंद डाली, जो उनके डंडे बिखेर कर चली गई। यूसुफ़ के बैट और पैड के बीच काफी गैप रहा और इरफान ने टेस्ट क्रिकेट में इतिहास रच दिया। उन्होंने पहले ही ओवर में तीनों विकेट लेकर रिकॉर्ड बना दिया। इरफान के इस प्रदर्शन के बाद जब मियांदाद ने उनकी राय पूछी गई तो उन्होंने खिसियाते हुए भारतीय गेंदबाज की तारीफ की। जो भी हो, इरफान ने उस समय यह साबित कर दिया कि उनके जैसे गेंदबाज पाकिस्तान की गलियों में तो क्या फिलहाल उसकी राष्ट्रीय टीम में भी नहीं है। बहरहाल, इरफान पठान के लिए यह मैच जितना ख़ास रहा, वहीं भारतीय टीम यह टेस्ट हमेशा भूलना पसंद करेगी। याद हो कि कामरान अकमल (113) ने शतक की मदद से पाकिस्तान ने पहली पारी में 245 रन बनाए थे। मगर शोएब अख्तर (2 विकेट), मोहम्मद आसिफ (4 विकेट) और अब्दुल रज्जाक (3 विकेट) की तिकड़ी ने भारत को पहली पारी में 238 रन पर समेट दिया था। इसके बाद बल्लेबाजों के शानदार प्रदर्शन के बलबूते पाक ने दूसरी पारी 7 विकेट पर 599 रन बनाकर घोषित की और भारत को जीत के लिए 607 रन का लक्ष्य दिया। भारत की तरफ से युवराज सिंह (122) के अलावा कोई बल्लेबाज बड़ी पारी नहीं खेल सका और टीम दूसरी पारी में 265 रन पर ऑलआउट हो गई। पाकिस्तान ने यह टेस्ट 341 रन से और सीरीज 1-0 से अपने नाम की। इससे पहले दोनों टेस्ट मैच ड्रॉ हुए थे। बहरहाल, इरफान पठान एक समय भारतीय गेंदबाजी की जान थे और उन्हें पाकिस्तान के पूर्व तेज गेंदबाज 'स्विंग के सुल्तान' के नाम से मशहूर वसीम अकरम के समान माना जा रहा था। हालांकि, चोट और एक्शन में बदलाव के कारण वह अब भारतीय टीम में वापसी के लिए संघर्षरत हैं। उनके जन्मदिन पर हम यही दुआ करते हैं कि वह जल्द ही भारतीय टीम की जर्सी पहने दिखे। देखिए किस तरह पूरी की इरफान पठान ने अपनी हैट्रिक : 

Published 27 Oct 2016, 12:57 IST
Advertisement
Fetching more content...
App download animated image Get the free App now
❤️ Favorites Edit