Create
Notifications

SAvIND: एडेन मार्कराम से कप्तानी करवाना सही नहीं था-ग्रीम स्मिथ

SENIOR ANALYST
Modified 21 Sep 2018
दक्षिण अफ्रीकी टीम के पूर्व दिग्गज कप्तान ग्रीम स्मिथ ने कहा है कि भारत के खिलाफ एकदिवसीय श्रृंखला में एडेन मार्कराम से कप्तानी करवाने का फैसला सही नहीं था। उन्होंने कहा कि मार्कराम के पास अनुभव की कमी थी, इसलिए उनको टीम की कमान नहीं सौपा जाना चाहिए था। उनकी जगह पर अनुभवी खिलाड़ियों को ये जिम्मा देना चाहिए था जिससे मार्कराम को थोड़ा समय मिलता। ईएसपीएन क्रिकइन्फो से बातचीत में स्मिथ ने कहा कि मुझे नहीं लगता कि ये सही फैसला था। सभी लोग मार्कराम की कप्तानी के बारे में बात कर रहे हैं। शायद जिस तरह मुझे युवा खिलाड़ी के तौर पर कप्तानी दी गई थी वैसा ही सोचकर उन्हे भी कप्तान बना दिया गया लेकिन इसका कोई तुक ही नहीं था। स्मिथ ने कहा कि मार्कराम को पहले टीम में अपनी जगह स्थापित करने का मौका देना चाहिए था, रन बनाने का मौका देना चाहिए था। दक्षिण अफ्रीका को ऐसे खिलाड़ियों की जरुरत है जो कि आगे बढ़कर अच्छा प्रदर्शन कर सकें। स्मिथ ने आगे कहा कि पहले 3 मैचों के बाद जब एबी डीविलियर्स की टीम में वापसी हुई तो उनको कप्तानी सौंपी जा सकती थी और उससे पहले जेपी डुमिनी या हाशिम अमला जैसे अनुभवी खिलाड़ियों को कप्तान बनाया जा सकता था। सीरीज की शुरुआत में वो नंबर 4 पर बल्लेबाजी कर रहे थे लेकिन उसके बाद उन्हें ऊपर आना पड़ा और कप्तानी का भी दबाव पड़ा। मार्कराम को अभी अनुभव प्राप्त करने की जरुरत थी। स्मिथ ने कहा कि मार्कराम ने अंडर-19 टीम में अच्छी कप्तानी की थी लेकिन यहां पर उसको एक बेहतर खिलाड़ी बनना है। गौरतलब है भारत के खिलाफ 6 मैचों की एकदिवसीय श्रृंखला में दक्षिण अफ्रीका को 1-5 से हार का सामना करना पड़ा। 6 में से केवल एक मैच ही दक्षिण अफ्रीका की टीम जीत पाई, बाकी के 5 मैचो में उसे बुरी तरह शिकस्त मिली। टीम का कोई भी खिलाड़ी अच्छा प्रदर्शन नहीं कर पाया, चाहे वो गेंदबाज हो या फिर बल्लेबाज। नियमित कप्तान फाफ डू प्लेसी के चोटिल होने के बाद मार्कराम को कप्तानी सौंपी गई थी, जबकि टीम में अमला और डुमिनी जैसे अनुभवी खिलाड़ी भी थे।  
Published 19 Feb 2018
Fetching more content...
App download animated image Get the free App now