Create
Notifications

सिर्फ एक आईपीएल खिलाड़ी करार दिया जाना दुर्भाग्यपूर्ण है : इरफान पठान

Abhishek Tiwary
visit

भारतीय टीम के ऑलराउंडर इरफान पठान ने कहा है कि भारतीय घरेलू सत्र में तीनों प्रारूपों में अच्छा प्रदर्शन करने के बाद भी लोगों का उन्हें आईपीएल खिलाड़ी मानना दुर्भाग्यपूर्ण है। चोट से उबरने के बाद पठान ने बड़ौदा और वेस्ट जोन दोनों के लिए अच्छा प्रदर्शन किया है। उन्होंने यह भी कहा कि वे पिछले कुछ समय से सक्रिय होकर खेल रहे थे और वापस आने के बाद सफल रहे हैं। कुछ सालों पहले वे एक चोट की वजह से पूरे सीजन से बाहर हो गए थे। उन्होंने लंबे समय बाद मैदान पर वापसी करने को लेकर भी प्रतिक्रिया दी। . बक़ौल पठान, 'अगर आप हाल ही के समय को देखें, मैं घरेलू सत्र में बहुत सक्रिय और सफल रहा था। चार साल पहले मुझे एक चोट से लड़ना पड़ा और मैं पूरे सत्र से बाहर हो गया। ऐसा किसी के साथ भी हो सकता है। जब आप लंबे समय तक खेलते हैं तो चोटिल होना लाज़मी है। बड़ौदा क्रिकेट संघ के साथ मेरा कोई मसला था, लेकिन मैंने उसे हल कर लिया। उसके बाद मैंने पूरा सत्र खेला है। मैंने वन-डे, टी20 और रणजी ट्रॉफी आदि में हिस्सा लिया है। मैंने काफी ओवर की गेंदबाजी भी की है। उसके बाद भी मुझे आईपीएल खिलाड़ी करार दिया जाना दुर्भाग्यपूर्ण है।' मौजूदा सैयद मुश्ताक अली टी20 टूर्नामेंट को टीवी पर दिखाया जा रहा है और लोग उनके प्रदर्शन पर नजरें लगाए हुए हैं। इससे उन्हें विश्वास मिलेगा और अच्छा करने की प्रेरणा भी मिलेगी। एक दशक पहले इरफान पठान भारतीय टीम के अहम खिलाड़ियों में गिने जाते थे। 2007 के टी20 विश्वकप में उनका प्रदर्शन शानदार रहा था। उसके बाद वे टीम में अंदर-बाहर होते रहे हैं और फिटनेस समस्या से भी जूझते रहे हैं। उन्होंने भारतीय टीम के लिए अंतिम बार 2012 में किसी मैच में शिरकत की थी। वर्तमान में भारतीय टीम के घरेलू सत्र में इरफान ने लाजवाब प्रदर्शन किया है तथा सबका ध्यान अपनी ओर आकर्षित किया है। इस दौरान नॉर्थ जोन के खिलाफ उनका 4 ओवर में 10 रन देकर 3 विकेट झटकने वाला स्पैल शानदार रहा, इसमें शिखर धवन, युवराज सिंह और ऋषभ पंत जैसे बड़े नाम शामिल है।


Edited by Staff Editor
Article image

Go to article
Fetching more content...
App download animated image Get the free App now