अंपायर की बेइज्जती करने के कारण जेम्स एंडरसन को लगी डांट

श्रीलंका के खिलाफ तीसरे टेस्ट के दौरान इंग्लैंड के तेज़ गेंदबाज जेम्स एंडरसन को आईसीसी की तरफ से आधिकारिक तौर पर डांट लगी है। उनके ऊपर आईसीसी के कोड ऑफ़ कंडक्ट को तोड़ने का आरोप लगा है। उन्हें लेवल 1 के आर्टिकल 2.1.1 के तहत दोषी पाया गया है। इसके अंतर्गत उनके ऊपर खेल भावना से खिलवाड़ करने का आरोप लगा है। ये डांट उन्हें भारतीय अंपायर एस.रवि से बद्तमीज़ी करने के कारण लगी है। इस आरोप में खिलाड़ी के ऊपर अधिकतम 50% तक मैच फीस का जुर्माना लगाया जाता है लेकिन एंडरसन को सिर्फ डांट कर छोड़ दिया गया। एंडरसन के खिलाफ ये आरोप फील्ड अंपायर एस. रवि, रॉड टकर, तीसरे अंपायर अलीम दार और चौथे अंपायर माइकल गौफ ने लगाया है। एंडरसन ने अपने खिलाफ लगाये गये आरोप को मान लिया है और अब इस मामले में किसी सुनवाई की जरूरत नही है। ये घटना श्रीलंकाई पारी के सातवें विकेट की साझेदारी के दौरान हुई जब रंगना हेराथ, स्टुअर्ट ब्रॉड और जेम्स एंडरसन को काफी आसानी से खेल रहे थे। नई गेंद लेने के बावजूद श्रीलंका के लिए हेराथ ने कुसल परेरा के साथ 71 रन जोड़े। श्रीलंका की पारी के 85वें ओवर में काफी कुछ देखने को मिला। एलिस्टेयर कुक को उस ओवर में चोट लगी और उन्हें एक्सरे के लिए अस्पताल जाना पड़ा। एंडरसन की अगली गेंद को हेराथ ने बैकऑर्ड पॉइंट बाउंड्री के बाहर भेजा। अगले ओवर में हेराथ ने स्टुअर्ट ब्रॉड को भी चौके मारे और इंग्लैंड के लिए ये अच्छी बात नही थी। इसके बाद एंडरसन ने हेराथ को जाकर कुछ कहा। हेराथ ने इसके जवाब में सिर्फ उनके तरफ देखा। इस बात का पता नही चल सका है कि बल्लेबाज और गेंदबाज के बीच में क्या बात हुई, न ही ये पता चल पाया है कि एंडरसन ने एस.रवि को क्या कहा? लेकिन ओवरों के बीच में स्टैंड-इन कप्तान जो रूट से अंपायरों की काफी लम्बी बातचीत हुई। जेम्स एंडरसन इंग्लैंड के काफी सीनियर गेंदबाज हैं और उन्हें ऐसी हरकतों से बचना चाहिए।

Edited by Staff Editor