'सचिन तेंदुलकर का करियर तकनीक के कारण बढ़ा'

पूर्व भारतीय तेज गेंदबाज जवागल श्रीनाथ ने सोमवार को कहा कि महान बल्लेबाज सचिन तेंदुलकर का करियर तकनीक के कारण इतना बढ़ा। बेंगलुरु में माइक्रोसॉफ्ट के मशीन लर्निंग एंड डाटा साइंसेज कांफ्रेंस के पहले संस्करण के दौरान श्रीनाथ ने कहा, 'सचिन तेंदुलकर ने एक बार कहा था कि उनका करियर तकनीक के कारण बढ़ पाया। तकनीक की वजह से उन्हें अपनी गलती सुधारने की तुरंत प्रतिक्रिया मिल जाती थी, जिसकी सबसे अधिक मदद उन्हें बल्लेबाजी के दौरान मिलती थी।' यह पूछने पर कि तकनीक के इतने उपयोग को देखते हुए निकट भविष्य में नियमित कोच की जरुरत गायब होगी तो श्रीनाथ ने कहा, 'ऐसा बिलकुल नहीं होगा, लेकिन कोच की काबिलियत का पता इससे जरुर लगेगा कि वह कितने अच्छे से डिजिटल डाटा का इस्तमाल करते हैं। मुझे अपनी गेंदबाजी में गलती का पता तकनीक के द्वारा लगा, लेकिन उसका उपाय शारीरिक रूप से ही करना होता था। यहां पर कोच ही भूमिका बढ़ जाती है। कोच की जिम्मेदारी कभी कम नहीं होगी। बस यह जरुर निर्भर करेगा कि वह डाटा का उपयोग कितने अच्छे से करते हैं।' पूर्व भारतीय ओपनर आकाश चोपड़ा भी श्रीनाथ के विचारों से सहमत नजर आए। उन्होंने कहा कि कोच की अहमियत इस वजह से कम नहीं हो सकती क्योंकि खिलाड़ी को आखिरकार शारीरिक तौर पर सारे क्रियान्वयन करना होता है।

Edited by Staff Editor